हर मर्ज़ का इलाज मौजूद है

हज़रत उसामा (र.अ) बयान करते है के, मैं हुज़ूर (ﷺ) की ख़िदमत में मौजूद था के,

कुछ देहात के रहने वाले आए और आप (ﷺ) से अर्ज़ किया : या रसूलल्लाह ! क्या हम दवा करें? तो रसूलुल्लाह ने फ़रमाया: ”अल्लाह के बन्दो! ज़रूर दवा किया करो: इसलिये के कोई बीमारी ऐसी नहीं है जिसकी दवा अल्लाह ने न पैदा की हो, सिवाए एक बीमारी के और वह बुढ़ापा है।

📕 मुस्नदे अहमद: 17986 

Rate this quotes

और देखे :

Leave a Reply