दाढ़ी रखने की अहमियत

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फर्माया :

“मूंछों को कतरवाओ और दाढ़ी को बढ़ाओ।”

वजाहत: दाढी रखना शरीअते इस्लाम में वाजिब और इस्लामी शिआर में से है इस लिये तमाम मुसलमानों के लिये उस पर अमल करना इन्तेहाई जरूरी है।

📕 बुखारी: ५८९३

और देखे :

Share on:

Trending Post

Leave a Reply