बेवा या तलाकशुदा बेटी की कफालत की फजीलत

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने एक मर्तबा फ़रमाया –

“क्या मैं तुम्हें बेहतरीन सदक़ा न बताऊं?
तेरी वह लड़की जो लौट कर तेरे ही पास आ गई हो और उसके लिये तेरे सिवा कोई कमाने वाला न हो (तो ऐसी लड़की पर जो भी खर्च किया जाएगा वह बेहतरीन सदक़ा है।)”

📕 इब्ने माजा : ३६६७, अन सुराका दिन मालिक रज़ि०

5/5 - (1 vote)

और देखे :

Leave a Reply