तुम खुले और छिपे गुनाहों से भी बचो

तुम खुले और छिपे गुनाहों से भी बचो

۞ बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम ۞

आज का सबक

तुम खुले गुनाहों से भी बचो और छिपे गुनाहों से भी, जो लोग गुनाह कमाते हैं वे अपनी इस कमाई का बदला पाकर रहेंगे।

📕 क़ुरआन 6:120

Leave a Comment