मुतअल्लिक़ीन की खबरगीरी करना एक बेहतरीन सुन्नत

मुतअल्लिक़ीन की खबरगीरी करना एक बेहतरीन सुन्नत

हजरत अनस बिन मालिक (र.अ) बयान करते हैं के :

“अहले ताल्लुक में से कोई शख्स अगर तीन दिन तक न आता (या उस से मुलाक़ात न होती) तो आप (ﷺ) उसके मुतअल्लिक़ मालूमात फरमाते, अगर वह बाहर (सफर में) होता तो उस के लिये दुआ करते, अगर यह मौजूद होता तो आप उससे मुलाकात फ़रमाते, अगर बीमार होता तो उसकी इयादत फरमाते।

📕 मुस्नदे अबी याला : ३३३५

Leave a Comment