26. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

26. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). हुजूर (ﷺ) ग़ारे सौर में, (2). ऊंटों के मुतअल्लिक़ खबर देना, (3). बीवी की विरासत में शौहर का हिस्सा, (4). मौत की सख्ती के वक़्त की दुआ, (5). वुजू कर के इमाम के साथ नमाज अदा करना, (6). कुफ्र की सज़ा जहन्नम है, (7). आखिरत दुनिया से बेहतर है, (8). हौजे कौसर की कैफियत, (9). बीमार को परहेज़ का हुक्म, (10). लोगों के लिये वही चीज पसंद करो जो तुम अपने लिये पसंद करते हो …

25. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

25. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). हुजूर (ﷺ) की हिजरत, (2). गिजा और साँस की नालियाँ, (3). सूद से बचना, (4). इशा के बाद जल्दी सोना, (5). जमात के लिये मस्जिद जाना, (6). इजार या पैन्ट टखने से नीचे पहनना, (7). दुनिया से बेरग़वती का इनाम, (8). जन्नतियों का लिबास, (9). दाढ़ के दर्द का इलाज, (10). अमानत वालों को अमानतें वापस कर दिया करो …

24. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

24. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). नबी (ﷺ) को शहीद करने की नाकाम साजिश, (2). बकरी का दूध देना, (3). सज्द-ए-सहु करना, (4). बारिश के लिए यह दुआ मांगे, (5). घर से वुजू कर के मस्जिद जाना, (6). काफ़िर नाकाम होंगे, (7). लोगों की कंजूसी, (8). हौज़े कौसर क्या है ?, (9). वरम (सूजन) का इलाज, (10). किसी की मुसीबत पर खुशी का इजहार मत करो।

22. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

22. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). दूसरी बैते अक़बा, (2). हज़रत जाबिर (र.अ) के बाग़ की खजूरो में बरकत, (3). दीन-ऐ-इस्लाम में नमाज़ की अहमियत, (4). जन्नत हासिल करने के लिये दुआ करना, (5). हलाल कमाई से मस्जिद बनाना, (6). अच्छे और बुरे बराबर नहीं हो सकते, (7). दुनिया आरजी और आखिरत मुस्तकिल है, (8). हमेशा की जन्नत व जहन्नम, (9). खजूर से इलाज, (10). दीनदार औरत से निकाह करो।

19. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

19. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). हज के मौसम में इस्लाम की दावत देना, (2). बहरे मय्यित (Dead Sea), (3). नमाज़ में इमाम की पैरवी करना, (4). सज्दा करने का सुन्नत का तरीका, (5). अज़ान के बाद दुआ पढ़ना, (6). ग़लत हदीस बयान करने की सज़ा, (7). थोड़ी सी रोज़ी पर राज़ी रहना, (8). जहन्नमियों का खाना, (9). निमोनिया का इलाज, (10). अल्लाह और उस के रसूल का हुक्म मानो

10 Rabi-ul-Akhir | Sirf Panch Minute ka Madarsa

10. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

मुसलमानों पर कुफ्फार का जुल्म व सितम, मोजज़ा: दरख्त का आप (ﷺ) की खिदमत में आना, एक फर्ज: अमानत का वापस करना, एक सुन्नत: मोहताजगी व जिल्लत से पनाह माँगना, एक अहेम अमल: हलाल रोज़ी हासिल करना, किसी के वालिदैन को बुरा भला कहने का गुनाह …

9 Rabi-ul-Akhir | Sirf Panch Minute ka Madarsa

9. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

कुफ्फार का हुजूर (ﷺ) को तकलीफें पहुंचाना, पत्तों में अल्लाह की कुदरत, इल्म हासिल करना जरूरी है, अमल : तहज्जुद की निय्यत कर के सोना, हराम माल से सदक़ा करने का गुनाह, दुनियावी ख्वाहिशों को पूरा करने का अंजाम …

8 Rabi Ul Akhir

8. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

रसूलुल्लाह (ﷺ) की चचा अबू तालिब से गुफ्तगू, नमाज़ छोड़ने पर वईद, नफा न पहुँचाने वाली नमाज़ से पनाह मांगना, अमल : जबान और शर्मगाह की हिफाजत करना, बुराई से न रोकने का वबाल, जख्म वगैरह का इलाज …

5 Rabi-ul-Akhir

5. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

तारीख: पहली वही के बाद हुजूर (ﷺ) की हालत, हाथी में अल्लाह की क़ुदरत, कयामत के दिन सब से पहले नमाज़ का हिसाब, अमल : तीन आदमी अल्लाह की जमानत में है, जकात न देने का गुनाह, दुनिया को मक़सद बनाने का अंजाम …

1 Rabi-ul-Akhir | Sirf Panch Minute ka Madarsa

1. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). हिलफुल फुजूल, (2). बिजली की कड़क, (3). जमात से नमाज़ अदा करना, (4). तीन साँस में पानी पीना, (5). बीवियों के साथ अच्छा सुलूक करना, (6). अजनबी औरत से मिलना, (7). मौत और माल की कमी से घबराना, (8). नामा-ए-आमाल के साथ बुलाया जाएगा, (9). हर बीमारी का इलाज, (10). फिजूलखर्ची मत किया करो।

7 Rabi-ul-Akhir | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

7 Rabi-ul-Akhir | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

सफा पहाड़ पर इस्लाम की दावत, रेडियम में अल्लाह की कुदरत, हज किन लोगों पर फर्ज है ?, गुस्ल करने का सुन्नत तरीका, नर्म मिज़ाजी इख्तियार करना, सूद खाने का अजाब, दुनिया के पीछे भागने का वबाल, जहन्नम का जोश, अगर कोई फासिक खबर लाये तो तहक़ीक़ किया करो …

15. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

15. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). आमुल हुज़्न (ग़म का साल), (2). समुन्दरी मछली, (3). सच्ची गवाही देना, (4). बैतुल खला जाने का तरीका, (5). अपने घर वालों को खिलाना पिलाना, (6). एक गुनाह : शिर्क और कत्ल करना, (7). दुनिया में उम्मीदों का लम्बा होना, (8). नेक अमल करने वालों का इनाम, (9). हर मामले में इंसाफ करो …

3. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

3. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). हुजूर (ﷺ) गारे हिरा में, (2). इंसान की हड्डियों में अल्लाह की कुदरत, (3). ज़कात अदा करना, (4). छींक आए तो मुंह पर कपड़ा या हाथ रख ले, (5). अपने घरवालों पर खर्च करने की फ़ज़ीलत, (6). तिजारत में झूट बोलने का गुनाह, (7). बद नसीबी की पहचान, (8). , (9). नींद न आने का इलाज, (10). अपनी औलाद को कत्ल न करो।