Browsing Tag

News

कोरोना के डर से घरों में नमाज़ अदा करना कैसा है?

कुछ खाडी देश जिन में सऊदी अरब भी शामिल है, वहां की राज्य सरकार की तरफ से मस्जिदों में पंज वक्ता और नमाज़े जुमा पर पाबन्दी लगाने से मुस्लिम समाज में यह सवाल उठाया जा रहा है कि क्या ऐसा करना सही है?, क्या क़ुरआन व हदीस की रोशनी में मस्जिद…
Read More...

इसरा और मेराज एक चमत्कार | Isra aur Meraj ka Safar

मेराज की घटना मुहम्मद (सल्ललाहो अलैहि वसल्लम) का एक महान चमत्कार है, और इस में आप (सल्ललाहो अलैहि वसल्लम) को अल्लाह ने विभिन्न निशानियों का जो अनुभव कराया यह भी अति महत्वपूर्ण है। मेराज के दो भाग हैं, प्रथम भाग को इसरा और दूसरे को मेराज कहा…
Read More...

इस्लाम में महिलाओं के अधिकार से प्रेरित हो कर डॉ. कमला दास ने अपनाया इस्लाम! रखा कमला सुरैया नाम

"मुझे हर अच्छे मुसलमान की तरह इस्लाम की एक-एक शिक्षा से गहरी मुहब्बत है। मैंने इसे दैनिक जीवन में व्यावहारिक रूप से अपना लिया है और धर्म के मुक़ाबले में दौलत मेरे नज़दीक बेमानी चीज़ है।" - डॉक्टर कमला सुरैया» सम्पादन कमेटी…
Read More...

Kya Asam ki tarah pure desh me bhi lagu hoga NRC ?

क्या असम की तरह पुरे देश में भी लागु होगा NRC ? जानिए : सोशल मीडिया पर वायरल होने वाले मेसेज का सच।
Read More...

जिन्नात कर रहे थे मस्जिद से लोटे गायब। सोशल मीडिया पर हो रही वीडियो वाइरल

सोशल मीडिया पर इन दिनों एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमे दावा है के 'एक मस्जिद से अक्सर वजू खाने के लोटे गायब हो रहे थे, किसी शख्स को ख्वाब में बशारत हुयी के यह काम जिन्नात का है, मस्जिद से लगे पेड़ में सारे लोटे मिल जायेंगे। लिहाजा लोगों ने…
Read More...

रमज़ान का महिना … जानिए: इसमें क्या है हासिल करना ?

हम मुसलमानों ने कुरआन की तरह रमज़ान को भी सिर्फ सवाब की चीज़ बना कर रख छोड़ा है, हम रमज़ान के महीने से सवाब के अलावा कुछ हासिल नहीं करना चाहते इसी लिए हमारी ज़िन्दगी हर रमज़ान के बाद फ़ौरन फिर उसी पटरी पर आ जाती है जिस पर वो रमज़ान से पहले चल रही…
Read More...

बनी इस्राईल पर अल्लाह का अज़ाब और उम्मते मुस्लिमा के लिए इबरत

आज हम जिस हालात से गुजर रहे है आखिर क्या वजह है के हमारा रब हमसे नाराज़ है और ज़ालिम हुकुमराह हमपर मुसल्लत, आईये इसके ताल्लुक से हमसे पिछली उम्मत यानी बनी इस्राईल की हलाकत की मिसाल पर गौर करते है. बनी इस्राईल पर अल्लाह के अज़ाब का पहला वादा:…
Read More...

Kyu Humesha Musalmano ko fasaya jata hai?

दुनिआ में कही भी कोई हादसा हो तो इल्ज़ाम हमेशा मुसलमानो पर ही क्यों लगाया जाता है और कौन ऐसा करते है ? जानिए इसकी सच्चाई Aksar Crimes ke Muamlo me Muslims hi nazar Aatey hai, aur Media bhi musalmaano ko hi nishana banati hai, to aayiye…
Read More...

खाड़ी युद्ध के दौरान तीन हजार अमेरिकी सैनिकों ने अपनाया था इस्लाम

क्या आपने भी सुना था कि खाड़ी युद्ध के दौरान तीन हजार अमेरिकी सैनिकों ने इस्लाम अपना लिया था। यह सच है। बहुत कम लोग जानते हैं कि इस बदलाव के पीछे कौन हैं? जिन लोगों ने इस्लाम की यह दावत इन अमेरिकी सैनिकों तक पहुंचाई उनमें से एक अहम शख्सियत…
Read More...

मस्जिदुल हरम में कीड़ो के तूफ़ान की हकीकत (Reality of Locusts Swarm in Mecca-Saudi Arabia)

मुसलमानो के सबसे मुक़द्दस मक़ाम मस्जिदुल हराम में कीड़ो का तूफ़ान, जो मरकज़ी दरवाज़ों और दीवारों समेत साथ माले की बिल्डिंग्स और स्कूल तक बिखर गए। आईये देखते है इसकी हकीकत के यह सब हिक्मते अमली या फिर अल्लाह तआला का अज़ाब।मस्जिदुल हराम में 7 …
Read More...

भारत का मुसलमान इतना पिछड़ा हुआ क्यों है ?

भारत मे यह पूरी तरह मान लिया गया है कि मुसलमान एक जाहिल ,गंवार, फूहड़ ,गंदी और बुध्दू क़ौम है, जबकि मेरा मानना है कि क़ुदरती सलाहियत यानि नैचुरल टैलेंट जितना मुसलमान मे है उतना दुनिया की किसी दूसरी क़ौम मे नही,हम सिर्फ़ आज के पसमंज़र मे…
Read More...

बदला लेने के बजाये कातिलो को क्यों कर दिया मुआफ ?

" अगर मेरे बेटे की मौत का बदला लेने की कोशिश की, तो मैं मस्जिद छोड़ दूंगा. ये शहर भी छोड़ दूंगा." जी हा ! ये बात उस मौलाना ने कही जिसके १६ साल के बेटे को पश्चिम बंगाल के दंगों में बेरहमी के साथ मार दिया गया ,. # क्या वो मौलाना नासमझ है जो…
Read More...

Bharat ke Musalman itne Pareshan kyu hai by Waman Meshram

मुसलमान भारत में संकट में क्यों है ? इसके पीछे मुसलमान की सबसे बड़ी क्या गलती हुई? पूरी जानकारी के लिए बामसेफ के अध्यक्ष श्री वामन मेश्राम जी के इस विडियो को जरुर देखे और ज्यादा से ज्यादा शेयर करने की कोशिश करे.muslim in trouble, muslim…
Read More...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More