3 Rabi-ul-Awal | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

3 Rabi-ul-Awal | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

इस्लामी तारीख: हज़रत मरयम (अ.स) की आज़माइश, अल्लाह की कुदरत: जिस्म में गुर्दे की अहमियत (Kidney), दरवाज़े पर सलाम करने की सुन्नत, अल्लाह के ज़िक्र की फ़ज़ीलत, मेहर अदा ना करने का गुनाह, मुत्तक़ी और परहेज़गारों का इनाम …

1 Rabbi Ul Awwal

1 Rabi-ul-Awal | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

इस्लामी तारीख: हज़रत ज़करिया (अ.स), अस्र की नमाज़ की फज़ीलत, मेहमान का अच्छे अलफाज़ से इस्तिकबाल करना, पड़ोसी के साथ अच्छा सुलूक करना, रसूलल्लाह (ﷺ) की नाफ़रमानी करने का गुनाह, अल्लाह और उसके बन्दों के हुकूक …

23 Safar

23. सफर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

हज़रत दाऊद (अ.स) की नुबुव्वत व हुकूमत, अल्लाह की कुदरत : इन्सानी अक्ल, एक फ़र्ज़: वालिदैन के साथ अच्छा सुलूक करना, कुरआने करीम की तिलावत करने की फ़ज़ीलत, बीवियों के दर्मियान इन्साफ न करने का गुनाह …

Sadqa dene walo ka Silah Rab ke paas hai

Sadqa dene walo ka Silah Rab ke paas hai

Aaj ki Aayat | Verse of the Day

Sadqa dene walo ka Silah Rab ke paas hai

۞ Bismillah-Hirrahman-Nirrahim ۞

“Jo Log Apna Maal Allah ki Raah me Kharch karte hai, Phir Kharch karne ke baad na tou Ahsaan Jatlaate hai aur Na Takleeef pahunchaate hai, Unka Silah tou unke Rab ke yahan hai hi, aur Qayamat ke din Unko na tou koi khauf hoga aur na woh Ghamgeen honge.”

📕 Surah Baqrah 2:262

Read MoreSadqa dene walo ka Silah Rab ke paas hai

5/5 - (3 votes)
8 Safar | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

8. सफर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

इस्लामी तारीख: हज़रत लुकमान हकीम, मुअजिज़ा: अरब के रास्तों के मुतअल्लिक़ पेशीनगोई, एक फ़र्ज़: जकात की फर्जियत, यतीम पर रहम करने की फ़ज़ीलत, नाफ़रमानों के माल व दौलत को न देखना …

7 Safar | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

7. सफर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

हजरत अय्यूब (अ.स), कुदरत : परिन्दों का फिज़ा में उड़ना, एक फर्ज : अजाने जुमा के बाद दुनियावी काम छोड़ देना, सुन्नत : गुस्ल से पहले वुजू करना, मरीज़ के अयादत की फ़ज़ीलत …

Hadees : Maal kaha se kamaya aur kaha kharch kiya?

Maal kaha se kamaya aur kaha kharch kiya?

Hadees of the Day

Maal kaha se kamaya aur kaha kharch kiya?

Abu Barza (R.A) se riwayat hai ki,
Rasool’Allah (ﷺ) ne irshaad farmaya –

‟Qayamat ke Din insan ke dono qadam uss waqt tak (Hisaab ki Jagah se) nahi hatt sakte, jab tak uss se in paanch cheezon ke baarey me na puch liya jaaye.

(1) Apni Umr kis kaam me Kharch ki ?,
(2) Apne Ilm par kya amal kiya ?,
(3) Maal kaha se kamaya ?,
(4) aur Kahan kharch kiya ?,
(5) Apni Jismani Quwwat kis kaam me lagayi ?

📕 Jami at-Tirmidhi 2417

4/5 - (25 votes)
Kullu Nafsin Zaikatul Mout meaning

Har Nafs ko Mout ka Maza chakhna hai ( Kullu Nafsin Zaikatul Mout )

Verse of the Day | Aaj ki Aayat

Kullu Nafsin Zaikatul Mout

۞ Bismillah-Hirrahman-Nirrahim ۞

Allah Rabbul Izzat Quran-e-Majid me farmata hai:

❝ Har jaandar ko mout ka mazaa chakhna hai (Kullu Nafsin Zaikatul mout)
aur tumhe Qayamat ke din purey purey badley milenge,
phir jo koi Dozakh se door rakha gaya aur Jannat me dakhil hua so wo pura Kamiyab hua, Duniya ki Zindagi tou dhokey ke Maal ke siwa kuch bhi nahi hai.❞

📕 Surah Aal-e-Imran 3:185

Read MoreHar Nafs ko Mout ka Maza chakhna hai ( Kullu Nafsin Zaikatul Mout )

5/5 - (8 votes)
14 Zil Hijjah | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

14 Zil Hijjah | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). अल्लामा अब्दुर्रहमान बिन जौज़ी (रह.), (2). बेहोशी से शिफ़ा पाना, (3). कज़ा नमाज़ों की अदायगी, (4). गुनाहों से बचने की दुआ, (5). मस्जिद की सफाई का इन्आम, (6). कुफ्र की सज़ा जहन्नम है, (7). माल व औलाद दुनिया के लिए ज़ीनत, (8). कब्र की पुकार, (9). बड़ी बीमारियों से हिफ़ाज़त, (10). जन्नत में दाखिल करने वाले आमाल…

Maal ko Kharch kar, Gin Gin kar Na rakh, warna

Hadees of the Day

Maal ko Kharch kar, Gin Gin kar Na rakh, warna

۞ Hadees: Asma (R.A.) se riwayat hai ke,
Allah ke Rasool (ﷺ) ne farmaya:

Maal ko (Jayaz) Kharch kar, gin gin kar na rakh, warna Allah Ta’ala tujhe bhi gin gin kar dega (phir Rozi se Barqat khatm ho jayegi) aur Maal ko rok kar na rakh, Warna Allah Taala tujhse Rizq ko rok lega.”

📕 Bukhari 2591

5/5 - (12 votes)
18 Jamadi-ul-Akhir | Sirf Panch Minute ka Madarsa

18 Jamadi-ul-Akhir | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

इस्लामी तारीख: हज्जतुलवदा में आखरी खुतबा, इल्म हासिल करना फ़र्ज़ है, क़ब्र के जियारत की दुआ, मुसाफा से गुनाहों का झड़ना, यतीमों का माल खाने का गुनाह, माल व औलाद क़ुर्बे खुदावन्दी का जरिया नहीं …

13. जिल हिज्जा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

13 Zil Hijjah | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

  1. इस्लामी तारीख:
  2. अल्लाह की कुदरत
  3. एक फर्ज के बारे में
  4. एक सुन्नत के बारे में
  5. एक अहेम अमल की फजीलत
  6. एक गुनाह के बारे में
  7. दुनिया के बारे में
  8. आख़िरत के बारे में
  9. तिब्बे नबवी से इलाज
  10. क़ुरान की नसीहत
Rate this post
28 Ramzan

28 Ramzan | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

इस्लाम में पहला हज, दरख्त का नबी (ﷺ) की गवाही देना, बगैर किसी उज्र के नमाज़ क़ज़ा न करना, फकीरी और कुफ्र से पनाह मांगने की दुआ, नमाज़ में सुस्ती करना कैसा, माल व दौलत आज़माइश की चीजें हैं, कयामत में तीन किस्म के लोग, हर किस्म के दर्द का इलाज, तीन काम में देर ना करो ( नमाज़, जनाज़ा और निकाह ) …