Browsing Tag

Hadees ki baatein in hindi

Bukhari, Muslim, Tirmizi, Sunan Abu-Dawud, Sunan Nasai, Ibne Majah, Muwatta Malik, Musande Ahmad jaise Ahlus Sunnah Wal Jama Aqeede ki Motabar Sahih kitabo se Saabit Hadees ki Baatein

KhudKhushi ki Wajah, Azab aur Iska Ilaaj

KhudKhushi (Suicide) in Islam KhudKhushi (Suicide) ka Matlab hai Insan ka Apne Aap ko kisi bhi Zariye se Amdan Qatal karna. Khudkushi Karna Haraam hai aur Kabeerah Gunaah hai. Allah Taala Quraan-e-Kareem me Irshad farmata hai : ۞ Bismillah-Hirrahman-Nirrahim ۞ ✦ Al-Quran: "Aur jo koi kisi Momeen ko Qasdan (Danista) Qatal kar Daale tou iss ki…
Read More...

Nijat ka Matlab | Jo Khamosh Raha Usne Nijat Paai

Nijat / Najat / Najaat ka Matlab ۞ Hadees: Uqba Bin Aamir (R.A.) farmate hai, Maine Arz kiya "Ya Rasool'Allah (ﷺ) ! Najaat kya hai?" Aap (ﷺ) ne farmaya : "Apni Zubaan ko Boori Baato se Roke Rahna Nijat hain." Tirmizi Sharif ۞ Hadees: Nabi-e-Kareem (ﷺ) ka farman hain: “Jo (boori baaton se) Khamosh Raha Usne Nijat Paai.” Jame…
Read More...

Allah Ta’ala ko Lagne waali Sabse Boori baat

♥ Mahum-e-Hadees: Abdullah bin Masood (R.A.) se riwayat hai ki, RasoolAllah (Sallallahu Alaihi Wasallam) ne farmaya: "Allah Subhanhu Ta'ala ko sabse Napasandeeda (Buri) baat ye lagti hai ki koi shakhs kisi se kahe ki Allah se Daro aur wo kahne lage ke Tu apni fikar kar." - Al SilSila As Sahiha, 2809 - Al Baihiqi,601-Sahih ♥ मफहूम-ऐ-हदीस ﷺ :…
Read More...

Jo Shakhs Juma ke din (apni biwi) ko Gusal karwaye aur khud bhi Gusal kare

✦ Roman Urdu Hadith ✦ ۞ Hadees: Aws bin Aws (RaziAllahu Anhu) se riwayat hai ki RasoolAllah (ﷺ) ne farmaya: "jo shakhs juma ke din (apni biwi) ko gusal karwaye aur khud bhi gusal kare phir namaz ke liye jaldi jaye , paidal jaye aur sawar hokar na jaye aur imam ke nazdeek hokar khutba suney aur behuda baat na kare to uske har qadam par usko ek saal…
Read More...

Dua e Qunoot | Witr ki Namaz mein padhne ki Dua

۞ Hadees: Hasan bin Ali (R.A.) ne farmaya ki RasoolAllah (ﷺ) ne hum ko kuch kalimat Sikhaye Jinhe hum Witr ke Qunoot me padhte hain wo ye hain: ✦ Dua e Qunoot ✦ اللَّهُمَّ اهْدِنِي فِيمَنْ هَدَيْتَ Allahumma ahdini fiman hadayat وَعَافِنِي فِيمَنْ عَافَيْتَ Wa Aafini fiman Aafayat وَتَوَلَّنِي فِيمَنْ تَوَلَّيْتَ Wa tawallani fiman…
Read More...

किसी बुराई को देखे तो उसे रोकने की कोशिश करे

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फरमाया : "तुम में से जो शख्स किसी बुराई को देखे तो उसे अपने हाथ से रोके अगर इस की ताकत न हो तो अपनी ज़बान से रोके.फिर अगर इस की भी ताकत न हो तो दिल से उस जाने और यह ईमान का सब से कमजोर दर्जा है।"
Read More...

आखिरत की कामयाबी दुनिया से बेहतर है

कुरआन में अल्लाह तआला फरमाता है : "तुम लोगों को जो कुछ दिया गया है वह सिर्फ दुनियावी जिन्दगी में (इस्तेमाल की) चीजें हैं और जो कुछ (अज्र व सवाब) अल्लाह के पास है, वह इस (दुनिया) से कहीं बेहतर और बाकी रहने वाला है और वह उन लोगों के लिये है जो ईमान लाए और अपने रब पर भरोसा रखते हैं।”
Read More...

ईमान को झुटलाने का गुनाह

कुरआन में अल्लाह तआला फरमाता है : "जिस शख्स ने बुखल किया और लापरवाही करता रहा और भली बात (ईमान) को झुटलाया, तो हम उसके लिये तकलीफ व मुसीबत का रास्ता आसान कर देंगे (यानी जहन्नम में पहुँचा देंगे)।"
Read More...

सबसे अच्छा मुसलमान कौन है ?

अबू मूसा (र.अ) से रिवायत है के, कुछ सहाबा ने पूछा, या रसूल अल्लाह ﷺ ! कौन सा इस्लाम अफज़ल है (यानि सबसे अच्छा मुसलमान कौन है) तो नबी-ऐ-करीम ﷺ ने फ़रमाया: "वह शख्स जिस की जबान और हाथ से दूसरे मुसलमान महफूज रहें ।"
Read More...

इज्जत की हिफाज़त करना

रसूलल्लाह (ﷺ) ने फरमाया : "जिस ने पीठ पीछे अपने भाई की इज्जत की हिफाजत की। अल्लाह तआला अपनी जिम्मेदारी से उस को (जहन्नम की) आग से आज़ाद कर देगा।"
Read More...

बुरे लोगों का अंजाम

कुरआन में अल्लाह तआला फरमाता है : "जो शख्स झुटलाने वाले गुमराहों में से होगा, तो खौलते हुए गरम पानी से उसकी मेहमानवाजी होगी और उसे दोजख में दाखिल किया जाएगा।"
Read More...

मोमिन को नाहक़ क़त्ल करने की सज़ा

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फरमाया : "हर गुनाह के बारे में अल्लाह से उम्मीद है के वह माफ कर देगा, सिवाए उस आदमी के जो अल्लाह तआला के साथ किसी को शरीक करने की हालत में मरा हो या उस ने किसी मोमिन को जान बूझ कर क़त्ल किया हो।"
Read More...

इस्मिद सुरमा लगाना

हज़रत इब्ने अब्बास (र.अ) फरमाते हैं के रसूलुल्लाह (ﷺ) से हर रात सोने से पहले तीन मर्तबा इस्मिद सुरमा लगाया करते थे।
Read More...

हज़रत मुहम्मद (ﷺ) को आखरी नबी मानना

कुरआन में अल्लाह तआला फरमाता है : "(हज़रत मुहम्मद (ﷺ) ) अल्लाह के रसूल और खातमुन नबिय्यीन हैं।" वजाहत: रसूलुल्लाह (ﷺ) अल्लाह के आखरी नबी और रसूल हैं, लिहाजा आप (ﷺ) को आख़री नबी और रसूल मानना और अब क़यामत तक किसी दूसरे नए नबी के न आने का यकीन रखना फर्ज है।
Read More...

काइनात की सबसे बड़ी मशीनरी

इन्सान इस कायनात की सबसे बड़ी मशीनरी है, अल्लाह तआला ने इस को किस अजीब साँचे में ढाला है, एक नुत्फे से तदरीजी तौर पर जमा हुआ खून बनाया, जमे हुए खून से गोश्त का लोथड़ा बनाया फिर हड्डियाँ बनाई फिर एक ढाँचा तय्यार किया फिर उस में सारे आजा नाक, कान, आँखें, दिल, दिमाग, हाथ, पैर, बेहतरीन तरतीब से फिट किए यह सारा निजामे कुदरत एक छोटी सी अंधेरी कोठरी में…
Read More...

गुमराही इख्तियार करने का गुनाह

कुरआन में अल्लाह तआला फरमाता है : "जो लोग अल्लाह तआला के रास्ते से भटकते हैं, उनके लिये सख्त अज़ाब है, इस लिये के वह हिसाब के दिन को भूले हुए हैं।"
Read More...

कब्र के बारे में

रसूलल्लाह (ﷺ) ने फरमाया: "कब्र या तो जन्नत के बागों में से एक बाग़ है या जहन्नुम के गढ़ों में से एक गढ़ा है।"
Read More...

दुनिया चाहने वालों के लिये नुकसान

कुरआन में अल्लाह तआला फरमाता है : "जो शख्स आखिरत की खेती का तालिब हो, हम उसकी खेती में तरक्की देंगे और जो दुनिया की खेती का तालिब हो, (के सारी कोशिश उसी पर खर्च कर दे)। तो हम उस को दुनिया में से कुछ दे देंगे और ऐसे शख्स का आख़िरत में कोई हिस्सा नहीं।"
Read More...

मुसाफा मगफिरत का जरिया है

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फ़रमाया: "जब दो मुसलमान आपस में मिलते हैं और मुसाफा करते हैं, तो जुदा होने से पहले उन दोनों की मगफिरत कर दी जाती है।"
Read More...

कर्ज़ अदा करना

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फ़रमाया : "क़र्ज़ की अदायगी पर ताकत रखने के बावजूद टाल मटोल करना जुल्म है।"
Read More...

ज़ियादा अमल की तमन्ना

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फर्माया : "अगर कोई बन्दा पैदाइश के दिन से मौत आने तक अल्लाह की इताअत में चेहरे के बल गिरा पड़ा रहे तो वह भी क़यामत के दिन अपने सारे अमल को हक़ीर समझेगा और यह तमन्ना करेगा के उस को दुनिया की तरफ वापस कर दिया जाए ताके और ज़ियादा नेक अमल कर ले।”
Read More...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More