Browsing Tag

Al Quran and Modern Science

Al Quran and Modern Science in light of Quran & Sunnah

Medical benefits of fasting

1. BOOSTS IMMUNITY OF THE BODY शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा देता है।2. CORRECTS HIGH BLOOD PRESSURE उच्च रक्त दबाव को नियंत्रित करता है।3. HELPS CREATE MORE T-CELLS अधिक टी-सेल बनाने में मदद करता है।

Insani Jism me 360 Joints ka Saboot ! 1400 saalo se hai Sunnat me Moujud

✦ Hadith : Ummahatul Momineen Ayesha (R.A.) se riwayat hai ke, Rasool'Allah (ﷺ) ne farmaya: ❝Har Insan ki takhleeq me 360 Jod (Joints of Bones) banaye gaye hain, so jis ne Allahu Akbar kaha, Alhamdulillah kaha, La’ilaha Illa’llah kaha, SubhanAllah kaha, Astagfirullah kaha, Raaste se Patthar ya Kanta ya…

Big Bang theory and Astronomy in Quran by Advocate Faiz Sayed

Qaynat ke Wajud ke aane ke talluk se se Aaj Science kehti hai ke Ek Bohot bada dhamaka hua jis se sitare sayyare sab wajud me aaye,. jisey Big bang phenomena ke naam se jana jata hai, Alahmdulillah ! Allah Ta'ala ne 1400 saal pehle hi apni kitab me iska Zikr kiya,. tafseeli jankari ke liye jauru is…

Zameen ki Shakl ke bare me Janiye kya kehta hai Quran (Shape of the earth in…

अक्सर गैरमुस्लिम हज़रात कुरान की सुरह ७९ की आयत ३० के सबब ये ग़लतफहमी रखते है के कुरआन के तहत ज़मीन की शक्ल फ्लैट है, तो आईये उनकी इस ग़लतफहमी का इजाला करने इस मुख़्तसर सी विडिओ का मुताला करते है .. - बराए मेहरबानी इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करने में हमारा तावून करे!Geospherical Shape of the earth in…

कुरआन में खारे और मीठे पानी का रहस्य – Quran about oceanology (कुरान और…

आधुनिक विज्ञान ने यह खोज कर ली है कि जहां-जहां दो भिन्न समुद्र Oceans आपस में मिलते है वहीं वहीं उनके बीच 'दीवार' भी होती है। दो समुद्रों को विभाजित करने वाली अनदेखी दीवार यह है कि उनमें से एक समुद्र की लवणता:Salinity जल यानि तापमान और रसायनिक अस्तित्व एक दूसरे से भिन्न होते हैं । *जबकी ईश्वरीय ग्रन्थ…

कुरआन और विज्ञान (Quran aur Science)

(हिंदी अनुवाद) क़ुरान एक सत्य इश्वर अल्लाह द्वारा अवतरित सम्पूर्ण मानवजाति के लिए एक मार्गदर्शन ग्रन्थ है, कुरान की ६००० आयतों में से १००० से ज्यादा आयतो का सम्बन्ध विज्ञानं से है.. तो आईये इस विडियो के माध्यम से हम इसका अनुसरण करने की कोशिश करते है ! के क्यों इश्वर(अल्लाह) ने कुरान में विज्ञानं की आयते…

About Ant life in Quran and Modern Science by Adv. Faiz Syed

अतीत में लोगों ने पवित्र क़ुरआन में चींटियों की वार्ता देख कर उस पर टिप्पणी की और कहा कि चींटियां तो केवल कहानियों की किताबों में ही बातें करती हैं। लेकिन आधुनिक विज्ञान से आज हमे चींटियों की जीवन शैली उनके परस्पर सम्बंध और अन्य जटिल अवस्थाओं का ज्ञान होता है जिसका जिक्र १४०० साल पहले ही कुरान में किया…

Science and Technology hai Islam ki Daiyn ! Afsos khud Musalman hai is se Gafil

मोजुदा दौर में मुसलमानों के इल्म से दुरी ने उन्हें अपने आबा-ओ-अजदाद के कारनामो से महरूम कर दिया. जबकी इस्लाम ही ने दुनिया को मशाले राह दिखाई , साइंस और टेक्नोलॉजी भी मुसलमानो ने वजदू में लायी. तफ्सीली जानकारी के लिए इस स्पीच का मुताला करे और ज्यादा से ज्यादा शेयर करने में हमारी मदद करे. - जजाकल्लाहू…

मुसलमानों के साइंसी कारनामे

मुसलमानों के लिए ज्ञान के क्या मायने हैं उसे कुरआन ने अपनी पहली ही आयत में स्पष्ट कर दिया था अतीत में मुसलमानों ने इसी आयत करीमा का पालन करते हुए वह स्थान प्राप्त कर लिया था जिस के बारे में आज कोई विचार नही कर सकता।मुसलमान ज्ञान के हर क्षेत्र में आगे थे चाहे उसका सम्बन्ध धार्मिक ज्ञान से हो या आधुनिक…

भ्रूणशास्त्र की आयते देखकर डॉ किथ मूर को विश्वास हो गया के “कुरान ईश्वरीय…

प्रो. डॉ. कीथ मूर जो कि वर्तमान समय मे विश्व मे एम्ब्रियोलॉजी अर्थात् भ्रूण शास्त्र के सबसे बड़े ज्ञाता माने जाते हैं, और टोरंटो विश्वविद्यालय (कनाडा) के डिपार्टमेण्ट आफ एनाटॉमी एण्ड सेल बॉयोलॉजी मे विभागाध्यक्ष रह चुके हैं, इन्होंने जब शोध कार्य के लिए कुरान की कुछ पवित्र आयतों का अध्ययन किया तो कुरान…

इब्न-अल-हेथम थे कैमेरा के सबसे पहले अविष्कारक

* इब्न अल हैथम इराक के रहने वाले यह वो शख्स है जिन्हे हम कह सकते है “फादर ऑफ़ मॉडर्न ऑप्टिक्स” … - ऑप्टिक्स यानी चश्मे जो हम लगा रहे है, कैमरे जो चल रहे है, तमाम चीज़ों के ये बानी (फाउंडर) कहलाते है! - इसलिए के यह पहले थे जिन्होंने सबसे पहला कैमरा बनाया था “पिन-होल कैमरा” *इन्होने यह इजाद किया के…

Muslim Scientist ke Inventions aur Karname by Adv. Faiz Syed

*साइंस और टेक्नोलॉजी है इस्लाम की देन | अफ़सोस ! खुद मुसलमान है इस से गाफिल. मोजुदा दौर में मुसलमानों के इल्म से दुरी ने उन्हें अपने आबा-ओ-अजदाद के कारनामो से महरूम कर दिया. जबकी इस्लाम ही ने दुनिया को मशाले राह दिखाई , साइंस और टेक्नोलॉजी भी मुसलमानो ने वजदू में लायी .. तफ्सीली जानकारी के लिए इस स्पीच…

पेड़ पौंधो में जीवन होने के प्रमाण – १४०० साल से केहता है कुरान

ईश्वर(अल्लाह) द्वारा रची गई इस अद्भुत सृष्टि मे एक अद्भुत रचना है, वनस्पति जगत .... - पेड़ पौधों को हम अपनी आंखो से जीवित प्राणियों की तरह छोटे से बड़ा होते, बढ़ते बनते देखते हैं .... - पेड़ों को खुद हम अपने हाथ से भोजन खिलाते और पानी पिलाते हैं यानी उन्हें खाद और पानी देते हैं ....*एक और लक्षण…

कुरान और समुद्र विज्ञान – मीठे और खारे पानी के बीच ‘आड़‘

" शुरु अल्लाह (ईश्वर) के नाम से ...." ♥ अल कुरान: ये अल्लाह ही है जिसने पानी के दो धारे आज़ाद छोड़ रखे है ! वो आपस में मिलते है लेकिन घुलते नहीं. इनके दरमियान एक हद्दे फासिल (बरज़ख) है जिसे वो तजाउज़ (Contravention) नहीं कर सकते. - (सुरा 55: आयात 19 & 20)विडियो देखे :आप देख सकते हैं कि इन…

कुरआन और समुद्र-विज्ञान !! समुद्र की गहराइयों में अंधेरा …

समुद्र-विज्ञान और भू-विज्ञान के जाने माने विशेषज्ञ प्रोफेसर दुर्गा राव जद्दा स्थित शाह अब्दुल अजी़ज़ यूनिवर्सिटी, सऊदी अरब में प्रोफ़ेसर रह चुके हैं। एक बार उन्हें निम्नलिखित पवित्र कुरान की आयत(श्लोक) की समीक्षा के लिये कहा गया जिसमे अल्लाह फरमाता है - ♥ "या फिर उसका उदाहरण ऐसा है जैसे एक गहरे समुद्र…

Bachcha Maa Ke Pait Mein Kis Tarah Banta Hai

♥ Al-Quraan: Bismillah-Hirrahman-Nirrahim !!!"Aye logon! agar tumhey phir se zinda honey me shaq hai tou humney tumhey (pahli baar bhi toh) mitti se paida kiya tha, phir uss se nutfa (mixed drops of male and female) bana kar phir uss se khoon ka lothda (clot) bana kar phir uss se boti (little lump of…

Quraan Me Por (Finger Prints) Ki Kyun Baat Ki ? ….

Allah Rabbul Izzat Quraan Me Farmata Hai - ♥ Al-Quraan : Bismillah-Hirrahman-Nirrahim !!! "Kya Insan Yeh Khayal Karta Hai Ki Hum Uski Haddiyon Ko Hargiz Ikhat'ta Nahi Karenge' Kiyon Nahi ! Ham Tou Uss Baat Par Bhi Qaadir Hain Ke Uski Ungliyon Ke Poron(Finger Print) Tak Ko Durust Kar Denge" - (Surah:…