0 86

यतीमों का माल खाने का गुनाह

कुरआन में अल्लाह तआला फर्माता है :

यतीमों के माल उन को देते रहा करो और पाक माल को नापाक माल से न बदलो

और उन का माल अपने मालों के साथ मिला कर मत खाओ

ऐसा करना यकीनन बहुत बड़ा गुनाह है।”

Install App

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More