यतीमों का माल खाने का गुनाह

कुरआन में अल्लाह तआला फर्माता है :

“यतीमों के माल उन को देते रहा करो और पाक माल को नापाक माल से न बदलो और उन का माल अपने मालों के साथ मिला कर मत खाओ ऐसा करना यकीनन बहुत बड़ा गुनाह है।”

📕 सूरह निसा : २

4.5/5 - (14 votes)

और देखे :

Leave a Reply