कुरआन सुनने से रोकने का गुनाह

कुरआन में अल्लाह तआला फ़र्माता है:

“यह काफिर लोग (एक दूसरे से) कहते हैं के इस कुरआन को मत सुना करो और उस के दौरान शोर मचाया करो, उम्मीद है के इस तरह तुम ग़ालिब आ जाओगे। उन काफिरों को हम सख्त अज़ाब का मज़ा चखाएँगे और यकीनन हम उनको बुरे आमाल का बदला देंगे, जो वह किया करते थे।”

📕 सूरह हामीम सज्दा : २६ ता २७

Share on:

Leave a Comment