Parda Sharafat Ki Pehchan Ke Waste Bahoot Munasib Hai ….

!!! Bismillah-Hirrahman-Nirrahim !!!
♥ Al-Quraan: Aye Nabi! Apni Biwiyon Aur Ladkiyon Aur Momineen Ki Aurato Se Keh Do Ki (Bahar Nikalte Waqt) Apne (Cheharo Aur Gardano) Par Apni Chadron Ka Ghunghat Latka Liya Karey Yeh Unki (Sharafat Ki) Pehchan Ke Waste Bahoot Munasib Hai Tou Unhe Koi Chedega Nahi Aur Allah Tou Bada Bakhshne Wala Meharban Hai.
(Surah 33 Al-Ahzab : Ayat 59 : @[156344474474186:])

!!! बिस्मिल्लाही रहमानीर्रहीम !!!
♥ अल-कुरान: ऐ नबी अपनी बीवियों और अपनी लड़कियों और मोमिनीन की औरतों से कह दो कि (बाहर निकलते वक्त) अपने (चेहरों और गर्दनों) पर अपनी चादरों का घूंघट लटका लिया करें ये उनकी (शराफ़त की) पहचान के वास्ते बहुत मुनासिब है तो उन्हें कोई छेड़ेगा नहीं और अल्लाह तो बड़ा बख्शने वाला मेहरबान है
(सुरह 33 अल-अहज़ाब : आयात 59)

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More