यतीम की परवरिश करना

यतीम की परवरिश करना

रसुलुल्लाह (ﷺ) ने फ़र्माया :

“मुसलमानों में बेहतरीन घर वह है, जिसमें कोई यतीम हो और उससे अच्छा सुलूक किया जाए और मुसलमानों में बदतरीन घर वह है जिस में कोई यतीम हो और उस के साथ बुरा सुलूक किया जाए।”

📕 इब्ने माजा: ३६७९

Leave a Comment