Tag Archives: इस्लामिक स्टेटस हिन्दी में

दुनिया की रगबत का खौफ

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फरमाया : “मैं तुम से पहले जाने वाला हूँ और मैं तुम... [Read More]

Tum me se Behtareen Shakhs woh hai jisne Quraan sikhe aur dusro ko sikhaye

۞ Bismillah-Hirrahman-Nirrahim ۞  ❖ Roman Urdu ❖ Farmane Rasool’Allah (Sallallahu Alaihay Wasallam) hai ke –... [Read More]

1 Comment

नशा थोड़ा भी खतरनाक है

नशा खतरनाक है :   “थोड़ा भी खतरनाक है! ज़्यादा लेने पर मदहोशी देने वाले का... [Read More]

Agar Tum Sabr karo aur Allah se darte raho tou [ Al-Quran; 3:120 ]

۞ Bismillah-Hirrahman-Nirrahim ۞ Allah Ta’ala Quran-e-Kareem me farmata hai: “Agar Tum Sabr karo aur Allah... [Read More]

जो भी अपने से छोटों पर रहम नहीं करता वो हम में से नहीं

अल्लाह के रसूल (ﷺ) ने फ़रमायाः “जो भी अपने छोटे (युवाओं-बच्चों) पर रहम नहीं करता... [Read More]

दूसरों के बारे में बुरे विचार मत रखो क्योंकि यह अधिकतर झूठे होते है

अल्लाह के अन्तिम ईशदूत मुहम्मद (ﷺ) ने कहा कि : “दूसरों के बारे में बुरे... [Read More]

तुम्हारा माल और औलादे बस आज़माइश है

अल्लाह तआला कुरान ए करीम में फरमाता है: “तुम्हारे माल (दौलत) और तुम्हारी औलादे (संतान)... [Read More]

अरबी एक जीवित भाषा: “३६ देशों में ४२ करोड़ जनता, संयुक्त राष्ट्र की एक आधिकारिक भाषा

अरबी; एक जीवित भाषा:  “३६ देशों में ४२ करोड़ जनता, संयुक्त राष्ट्र की एक आधिकारिक... [Read More]

धर्म स्वैच्छिक है, धर्म में बल प्रयोग नहीं। सुपथ कुपथ से साफ-साफ अलग हो चुका है।

धर्म स्वैच्छिक है:  “धर्म में बल प्रयोग नहीं। सुपथ कुपथ से साफ-साफ अलग हो चुका... [Read More]

हर आने वाला ज़माना पहले ज़माने से बुरा होगा

हजरत अनस (र.अ) से रिवायत है के, अल्लाह के रसूल (ﷺ) ने फ़रमाया: “हर आने... [Read More]

और व्यभिचार (adultery) के निकट भी न जाओ।

कल्याणकारी मधुर संदेश इस्लाम समाज में फैली किसी भी बुराई जैसे (चोरी/बलात्कार/शराब…आदि) से न सिर्फ... [Read More]

Zinaa ke qareeb mat jao kyunki yah behayayi ka rasta hai

۞ Quran-e-Kareem me Allah Ta'ala farmata hai : Zinaa ke qareeb mat jao kyunki yah... [Read More]

किसी भी नेकी को मामूली न समझो : हदीस

अल्लाह के रसूल (ﷺ) ने फ़रमाया: “नेकी के किसी काम को हक़ीर मत समझो।” 📕... [Read More]

Tum Par Jo Museebat aati hai Wo Tumhare Hi Haatho Kamayi se Aati hai

♥ Bismillah-Hirrahman-Nirrahim ♥ “Aur Tum Par Jo Museebat Aati hai Wo Tumhare Hi Haatho ke... [Read More]