सत्य शांति है और असत्य शंका

सत्य शांति है और असत्य शंका

सत्य शांति है और असत्य शंका

“संदेह पैदा करनेवाले को छोड़कर निःसंदेह वाले को स्वीकार करें। सत्य शांति है और असत्य शंका।”

📕 हजरत मुहम्मद ﷺ