Khana khane ke Baad ki Dua | खाना खाने के बाद की दुआ

Khana khane ke Baad ki Dua | खाना खाने के बाद की दुआ

खाने के शुरू में बिस्मिल्लाह कहना चाहिए और फिर खाना खाने के बाद यह दुआ करनी चाहिए।

الحمد لله

1. अल्हम्दुलिल्लाह 1

तर्जुमा : सब तारीफ अल्लाह के लिए है।

वज़ाहत : खाने पीने के बाद की मश्हूर दुआ अल्हम्दु लिल्लाहिल्लजी अत्-मनाव सकाना व ज-अ-लना मुस्लिमीन को अल्लामा अल्बानी ने ज़ईफ कहा है। ज़ईफ सुननुत्तिर्मिज़ी : किताबुददअवात (3457)

फजीलत : रसूलुल्लाह ﷺ ने फरमाया : अल्लाह उस बन्दे से खुश होता है जो खाना खाता है या पानी पीता है तो उस पर अल्लाह की तअरीफ करता है।


الْحَمْدُ لِلَّهِ الَّذِي أَطْعَمَنِي هَذَا وَرَزَقَنِيهِ مِنْ غَيْرِ حَوْلٍ مِنِّي وَلاَ قُوَّةٍ ‏‏

2. अल्हाम्दुलिल्लाहिल्लज़ी अतअमनी हाज़ा व रज़कनिही मीन गैरि हौलिन मिन्नी वा ला कुव्वातिन

तर्जुमा : तमाम तारीफें उस अल्लाह के लिए है जिसने मुझे ये खाना खिलाया और मेरी कुदरत और ताक़त ना होने के बावजूद ये अता फरमाया।

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने कहा कि अगर कोई व्यक्ति इस दुआ को खाने के बाद पढ़ता है, तो उसके सभी पिछले गुनाह हो जाएंगे। 2

सोर्स : दुआ इन हिंदी

  1. सहीह सुननुत्तिर्मिज़ी लिल्अल्बानी : किताबुल अइमह (2/1816) ↩︎
  2. जामिआ अत तिरमिज़ी 1383-हसन ↩︎

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *