Bewaon (Widow) aur Miskeeno (Poor) ke kaam aane wale ki Fazilat

✦ Mafhum-e-Hadees: Abu Hurairah (RaziAllahu Anhu) se riwayat hai ki, Rasool'Allah (Sallallahu Alaihay Wasallam) ne farmaya "Bewaon (Widow) aur Miskeenon (Gareeb) ke kaam aane wala Allah ki Raah me Jihaad karne wale ke barabar hai, ya Raat…
Read More...

वसीयत जरूर लिखे

रसूलल्लाह (सलाल्लाहू अलैही वसल्लम) ने इरशाद फ़रमाया: "किसी मुसलमान के पास कोई भी चीज़ हो(यानीकिसी का लेना-देना या उस के ज़िम्मे माली हुकूकहों) जिस की वसीयत करना हो तो उसके लिए यहबात ठीक नहीं है कि दो रातें गुज़र जाएं और उसकीवसीयत…
Read More...

Har Accha kaam Sadqa hai. [Sahih Muslim; Hadees: 1005]

۞ Hadees: Allah ke Rasool (ﷺ) ne farmaya: "Har Accha kaam Sadqah hai." Ek aur Riwayat me Aap (ﷺ) ne faramaya: "Har Neki Sadqa Hai ! Tum Apne Musalman Bhai se Pyar se Galey milo, yeh bhi Neki hai."
Read More...

ज़िक्रे इलाही (अल्लाह के ज़िक्र) की फ़ज़ीलत : हदीस

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फ़रमाया: “जो किसी जगह बैठे और उसमें वो अल्लाह का जिक्र ना करे, तो यह बैठक अल्लाह की तरफ से उसके लिए बाइसे हसरत व नुकसान होगी और जो किसी जगह लेटे और उसमें अल्लाह को याद ना करे तो लेटना उसके लिए अल्लाह की तरफ से बाइसे…
Read More...

Apne Musalman Bhai se 3 Din se Zyada Naraz naa rahey

3 din se Zyada Narazgi Hadees in Roman Urdu | Hadees: "Kisi Musalman ke liye ye Jayez Nahi ki Apne Bhai se 3 Din se Zyada Narazgi ki Wazah se Baat Chit Karna Chhor de."
Read More...

Safar me Gaane Sunna Kaisa ?

SAFAR MEIN GAANE SUNNA ۞ Hadees: Nabi e Kareem ﷺ ne farmaya: "Jo Shakhs Safar Ki haalat mein ALLAH ki Yaad aur ZIKR mein Lagaa Rehta hai tou FARISHTA Uska HUMSAFAR ho Jata hai. Aur Agar (GAANE WA MUSIC) Mein MASHGUL Rehta hai tou…
Read More...

Jab bhi koi Mard kisi Aurat ke sath tanhayi me hota hai to tisra Shaitan hota hai

Allah ke Rasool (Salallahu Alaihi Wasallam) ka farman hai ke: "Khabardar! Jab bhi koi Mard kisi Aurat ke sath Khilwat (tanhayi) me hota hai to unke sath teesra Shaitaan hota hai." Related Post Shaitani Qadmo ki pairwi karne wala…
Read More...

Meri Ummat me Aise Burey log Paida ho jayenge jo

Allah ke Rasool (ﷺ) ne farmaya: "Meri Ummat me Aise Burey log Paida ho jayenge jo Zinakari, Resham ka Pahenna, Sharab Pina aur Gaane bajane ko halal bana lenge..." Related Post Sharab se bacho kyunki wo har burayi ki chabi hai…
Read More...

तीन कार्य जिसमें है, वह सुनिश्चित कपटी है। झूठी बोली, वादा न निभाना और धोखेबाज होना।

कपट त्याग दें :   “तीन कार्य जिसमें है, वह सुनिश्चित कपटी है। झूठी बोली, वादा न निभाना और धोखेबाज होना” स्रोत: सहीह अल बुखारी ३३, सहीह अल मुस्लिम ५९ Ref: Wisdom Media School #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com
Read More...

नशा थोड़ा भी खतरनाक है, ज़्यादा लेने पर मदहोशी देने वाले का थोड़ा भी निषिद्ध है।

नशा खतरनाक है :   “थोड़ा भी खतरनाक है! ज़्यादा लेने पर मदहोशी देने वाले का थोड़ा भी निषिद्ध है।” Ref: Wisdom Media School #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com
Read More...

Banda Apne Rab ke Sabse Ziyada Nazdeek Sajdey ki Haalat me Hota hai

۞ Hadees: Nabi-e-Kareem (ﷺ) farmatey hai: "Banda Apne RAB ke Sabse Ziyada Nazdeek Sajdey ki Haalat me hota hai, Lehaza Uss Waqt Ziyada Dua Maanga karo."
Read More...

Jo Shakhs Juma ke din (apni biwi) ko Gusal karwaye aur khud bhi Gusal kare

✦ Roman Urdu Hadith ✦ ۞ Hadees: Aws bin Aws (RaziAllahu Anhu) se riwayat hai ki RasoolAllah (ﷺ) ne farmaya: "jo shakhs juma ke din (apni biwi) ko gusal karwaye aur khud bhi gusal kare phir namaz ke liye jaldi jaye , paidal jaye aur sawar…
Read More...

Subah aur Sham 3 baar Surah lkhlas, Falaq aur Naas padh liya karo

Allah ke Rasool (Salallahu Alaihi Wasallam) ne farmaya: "Subah aur Sham 3 baar Surah Al-lkhlas, Surah Falaq aur Surah Naas padh liya karo, ye tumhe har cheez ke liye kaafi ho jayegi."
Read More...

विरोध समस्यावों के हल के लिए होना चाहिए, नई समस्याएं पैदा करने के लिए नहीं। [कुरआन २:२५६]

समझ भावना को संयम में लता है:  “विरोध समस्यावों के हल के लिए होना चाहिए, नई समस्याएं पैदा करने के लिए नहीं।”  Ref: Wisdom Media School #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com
Read More...

हर आने वाला ज़माना पहले ज़माने से बुरा होगा

हजरत अनस (र.अ) से रिवायत है के, अल्लाह के रसूल (ﷺ) ने फ़रमाया: “हर आने वाला ज़माना पहले ज़माने से बुरा होगा। “
Read More...

अजान और इक़ामत के बिच में दुआ रद्द नहीं की जाती

۞ हदीस : अल्लाह के नबी (ﷺ) ने फ़रमाया : “अजान और इक़ामत के बिच में दुआ रद्द नहीं की जाती, इसीलिए तुम दुआ करो।” 📕 मुसनदे अहमद 13357
Read More...

Dua e Qunoot | Witr ki Namaz mein padhne ki Dua

۞ Hadees: Hasan bin Ali (R.A.) ne farmaya ki RasoolAllah (ﷺ) ne hum ko kuch kalimat Sikhaye Jinhe hum Witr ke Qunoot me padhte hain wo ye hain: ✦ Dua e Qunoot ✦ اللَّهُمَّ اهْدِنِي فِيمَنْ هَدَيْتَ Allahumma ahdini fiman hadayat…
Read More...

हिजामा के फायदे: मुफीद तरीन इलाज

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फरमाया : "मुझे जिब्रईल (र.अ) ने यह बात बताई के हजामत ( पछना लगाना ) सब से जियादा नफा बख्श इलाज है।" फायदा : हजामत से फासिद खून निकल जाता है जिसकी वजह से बदन का दर्द और बहुत सारी  बीमारियां दूर हो जाती हैं।
Read More...

हलाल रोज़ी कमाओ

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फरमाया : "रोज़ी को दूर न समझो, क्योंकि कोई आदमी उस वक्त तक नहीं मर सकता जब तक के जो रोजी उस के मुक़द्दर में लिख दी गई है, वह उस को न मिल जाए। लिहाजा रोजी हासिल करने में बेहतर तरीका इख्तियार करो, हलाल रोजी कमाओ और हराम…
Read More...

बोहतान – झूठा इलज़ाम लगाने का अज़ाब

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फरमाया : "जिस ने किसी मोमिन के बारे में ऐसी बात कही जो उस में नहीं है, तो अल्लाह तआला उस को दोज़खियों के पीप में डाल देगा, यहाँ तक के उस की सजा पा कर उस से निकल जाए।"
Read More...

अल्लाह के रास्ते में रोज़ा रखना

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फर्माया : "जिसने अल्लाह के रास्ते में एक रोज़ा रखा, तो अल्लाह तआला उस के और जहन्नम के दर्मियान आसमान व ज़मीन के फासले के बराबर खन्दक़ कायम कर देगा।"
Read More...

घर वालों से नेक बरताव करना

हजरत आयशा (र.अ) फर्माती हैं के - आप (ﷺ) ने ग़ज़वे के अलावा कभी भी किसी को अपने हाथ से नहीं मारा और न कभी किसी खादिम को मारा और न ही कभी किसी औरत को मारा।
Read More...

तक़दीर पर ईमान लाना

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फरमाया : "हर चीज़ तकदीर से है, यहाँ तक के आदमी का नाकारा और ना काबिल और काबिल व होशियार होना ( भी तकदीर ही से है )।" वजाहत: तकदीर कहते है के दुनिया में जो कुछ भी हो रहा है, अच्छा हो या बुरा वह सब अल्लाह तआला के हुक्म…
Read More...

अपने घरवालों पर खर्च करने की फ़ज़ीलत

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फर्माया : "एक वह दीनार जिसे तुमने अल्लाह के रास्ते में खर्च किया और एक वह दीनार जिसे तुमने किसी गुलाम के आज़ाद करने में खर्च किया और एक वह दीनार जो तुमने किसी ग़रीब को सदका किया और एक वह दीनार जो तुम ने अपने घर वालों…
Read More...

मेहमान की दावत व मेहमान नवाजी तीन दिन है

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फरमाया : "जो आदमी अल्लाह और यौमे आखिरत पर ईमान रखता हो, उसे अपने मेहमान का इकराम करना चाहिये, एक दिन व रात की खिदमत उस का जाइज हक़ है और उस की दावत व मेहमान नवाजी तीन दिन है, उस के बाद की मेजबानी उस के लिये सदक़ा है…
Read More...

तबीअत के मुवाफिक ग़िज़ा से इलाज

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फरमाया : "जब मरीज़ कोई चीज खाना चाहे, तो उसे खिलाओ।" फायदा: जो गिजा चाहत और तबी अत के तकाजे से खाई जाती है, वह बदन में जल्द असर करती है, लिहाजा मरीज़ किसी चीज़ के खाने का तकाज़ा करे, तो उसे खिलाना चाहिये। हाँ अगर गिजा…
Read More...

जहन्नम की आग की सख्ती

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फरमाया : "दोजख को एक हजार साल तक दहकाया गया, तो वह लाल हो गई, फिर एक हजार साल तक दहकाया गया तो वह सफेद हो गई, फिर एक हजार साल तक दहकाया गया तो अब वह बहुत जियादा काली हो गई।"
Read More...

आटे की छान से इलाज

۞ हदीस: हजरत उम्मे ऐमन (र.अ) आटे को छान कर रसूलुल्लाह (ﷺ) के लिये रोटी तय्यार कर रही थीं के आप (ﷺ) ने दरयाफ्त फ़रमाया: यह क्या है ? उन्होंने अर्ज किया: यह हमारे मुल्क का खाना है, जो आप के लिये तय्यार कर रही हूँ। तो रसूलुल्लाह (ﷺ) ने…
Read More...

मूंछों को तराशना

रसूलुल्लाह (ﷺ) मूंछों को तराश्ते थे और फ़रमाया करते थे के हजरत इब्राहीम (र.अ) भी ऐसा ही किया करते थे।
Read More...

कद्दू (दूधी) से इलाज

۞ हदीस: हज़रत अनस (र.अ) फर्माते हैं के, "मैंने खाने के दौरान रसूलुल्लाह (ﷺ) को देखा के प्याले के चारों तरफ से कद्दू तलाश कर के खा रहे थे, उसी रोज़ से मेरे दिल में कद्दु की राबत पैदा हो गई ।" फायदा : अतिब्बा ने इस के बे शुमार फवायद…
Read More...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More