Browsing Category

सुन्नत

15. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). आमुल हुज़्न (ग़म का साल), (2). समुन्दरी मछली, (3). सच्ची गवाही देना, (4). बैतुल खला जाने का तरीका, (5). अपने घर वालों को खिलाना पिलाना, (6). एक गुनाह : शिर्क और कत्ल करना, (7). दुनिया में उम्मीदों का लम्बा होना, (8). नेक अमल करने वालों…
Read More...

14. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

1. बनी हाशिम का बायकाट और तीन साल की कैद, 2. कुबा के कुंवें में पानी का भर जाना, 3. क़ज़ा नमाजों की अदायगी, 4. कर्जो और ग़मों से नजात की दुआ, 5. तीन काम करने की कोशिश करना, 6. झूटे खुदाओं की बेबसी, 7. दुनिया की चीज़ों में गौर व फिक्र करना,…
Read More...

13. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

नजाशी के दरबार में कुफ्फारे मक्का की आखरी कोशिश, फिरौन का इबरतनाक अंजाम, वुजू में चमड़े के मोज़े पर मसह करना, मुतअल्लिक़ीन की खबरगीरी करना, इल्म सीखते हुए वफात पा जाना, वारिस को मीरास से महरूम करना, दुनिया के लालची अल्लाह की रहमत से दूर,…
Read More...

12. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

नजाशी के दरबार में कुफ्फार की अपील , आप के बाल मुबारक की बरकत, विरासत में लड़की का हिस्सा, नफ़्स की बुराई से पनाह माँगने की दुआ, इल्म की फजीलत, अल्लाह और रसूल की नाफरमानी करना, सवारी के जानवर, अहले जन्नत की उम्र, अल्लाह से मुहब्बत
Read More...

11. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

मुसलमानों की हिजरते हबशा, आतिश फ़िशाँ (लावा, वालकेनो), नमाज़ी पर जहन्नम की आग हराम है, इत्र लगाना, सुन्नत पर अमल करना, किसी के वालिदैन को बुरा भला कहना, दुनिया में लगे रहने का अंजाम, अहले जन्नत का हाल, गुनाह और जुल्म व ज्यादती की बातें न करो
Read More...

10. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

मुसलमानों पर कुफ्फार का जुल्म व सितम, अमानत का वापस करना, मोहताजगी व जिल्लत से पनाह माँगना, हलाल रोज़ी हासिल करना, शिर्क करने वाले की मिसाल, दुनियावी ज़िन्दगी धोका है, कयामत किस दिन कायम होगी, नज़रे बद का इलाज
Read More...

9. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

कुफ्फार का हुजूर (ﷺ) को तकलीफें पहुंचाना, पत्तों में खुदा की कुदरत, इल्म हासिल करना जरूरी है, जोहर से पहले की चार रकात सुन्नत पढ़ना, तहज्जुद की निय्यत कर के सोना, हराम माल से सदक़ा करना, दुनियावी ख्वाहिशों को पूरा करने का अंजाम, अहले जन्नत…
Read More...

8. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

रसूलुल्लाह (ﷺ) की चचा अबू तालिब से गुफ्तगू , हज़रत सअद (र.अ) के हक में दुआ, नमाज़ छोड़ने पर वईद, नफा न पहुँचाने वाली नमाज़ से पनाह मांगना, जबान और शर्मगाह की हिफाजत करना, बुराई से न रोकने का वबाल, रिज़्क देने वाला अल्लाह है, जहन्नमी हथौड़े,…
Read More...

7. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

सफा पहाड़ पर इस्लाम की दावत, रेडियम, हज किन लोगों पर फर्ज है ?, गुस्ल करने का सुन्नत तरीका, नर्म मिज़ाजी इख्तियार करना, सूद खाने का अजाब, दुनिया के पीछे भागने का वबाल, जहन्नम का जोश ,तहक़ीक़ किया करो
Read More...

6. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

दावत व तबलीग़ का हुक्म, पानी न मिलने पर तयम्मुम करना , किसी मुसलमान को हंसता देखे तो यह दुआ पढ़े , लोगों से अपनी जरूरत छुपाए रखना, हलाल को हराम समझना, नेअमत अता करने में अल्लाह तआला का कानून, कयामत किन लोगों पर आएगी, मुअव्वज़तैन से बीमारी…
Read More...

5. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

पहली वही के बाद हुजूर की हालत, हाथी, तमाम आमाल का दारोमदार, मिस्वाक दाँतों की चौड़ाई में करना, जकात न देने वाला , दुनिया को मक़सद बनाने का अंजाम, कयामत के दिन पहाड़ों का हाल, बुखार व दीगर बीमारियों से नजात
Read More...

4. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

हुजूर को नुबुव्वत मिलना, जख्मी हाथ का अच्छा हो जाना, फराइज़ की अदायगी का सवाब, हिकमत के लिये दुआ, दुआ कराने वाले की दुआ पर आमीन कहेना , फसाद फैलाने की सज़ा, अल्लाह की चाहत दुनिया नहीं, सबसे पहले जिन्दा होने वाले, बिच्छू के जहर का इलाज, कोई…
Read More...

3. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). हुजूर (ﷺ) गारे हिरा में, (2). इंसान की हड्डियाँ, (3). ज़कात अदा करना, (4). छींक आए तो मुंह पर कपड़ा या हाथ रख ले, (5). अपने अहल व अयाल पर खर्च करना, (6) एक गुनाह : तिजारत में झूट बोलना, (७). बद नसीबी की पहचान, (८). जन्नत वालों का इनाम…
Read More...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More