1. जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

1. जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). वह मुबारक घर जहाँ आप (ﷺ) ने कयाम फर्माया, (2). इन्सान की पैदाइश तीन अंधेरों में, (3). अल्लाह तआला सबको दोबारा ज़िन्दा करेगा, (4). वुजू में तीन मर्तबा कुल्ली करना, (5). मुसलमान को कपड़ा पहनाने की फ़ज़ीलत, (6). वालिदैन की नाफरमानी और जुल्म करने का गुनाह, (7). दो आदतें, (8). जन्नती का दिल पाक व साफ होगा, (9). इलाज करने वालों के लिये अहम हिदायत, (10). वसिय्यत के लिए दो इंसाफ पसंद लोग गवाह हो। …

19. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

19. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). हज के मौसम में इस्लाम की दावत देना, (2). बहरे मय्यित (Dead Sea), (3). नमाज़ में इमाम की पैरवी करना, (4). सज्दा करने का सुन्नत का तरीका, (5). अज़ान के बाद दुआ पढ़ना, (6). ग़लत हदीस बयान करने की सज़ा, (7). थोड़ी सी रोज़ी पर राज़ी रहना, (8). जहन्नमियों का खाना, (9). निमोनिया का इलाज, (10). अल्लाह और उस के रसूल का हुक्म मानो

15. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

15. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). आमुल हुज़्न (ग़म का साल), (2). समुन्दरी मछली, (3). सच्ची गवाही देना, (4). बैतुल खला जाने का तरीका, (5). अपने घर वालों को खिलाना पिलाना, (6). एक गुनाह : शिर्क और कत्ल करना, (7). दुनिया में उम्मीदों का लम्बा होना, (8). नेक अमल करने वालों का इनाम, (9). हर मामले में इंसाफ करो …

3. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

3. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). हुजूर (ﷺ) गारे हिरा में, (2). इंसान की हड्डियों में अल्लाह की कुदरत, (3). ज़कात अदा करना, (4). छींक आए तो मुंह पर कपड़ा या हाथ रख ले, (5). अपने घरवालों पर खर्च करने की फ़ज़ीलत, (6). तिजारत में झूट बोलने का गुनाह, (7). बद नसीबी की पहचान, (8). , (9). नींद न आने का इलाज, (10). अपनी औलाद को कत्ल न करो।

24. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

  1. इस्लामी तारीख: हज़रत जैनब बिन्ते रसूलुल्लाह (ﷺ)
  2. हुजूर (ﷺ) का मुअजिजा: उंगलियों से पानी का निकलना
  3. एक सुन्नत के बारे में: कयामत की रुसवाई से बचने की दुआ
  4. एक अहेम अमल की फजीलत: खाने के बाद शुक्र अदा करना
  5. एक गुनाह के बारे में: कुफ्र करने वाले नाकाम होंगे
  6. दुनिया के बारे में : लोगों की कन्जूसी
  7. आख़िरत के बारे में: हौज़े कौसर क्या है ?
  8. तिब्बे नबवी से इलाज: खजूर से इलाज
  9. नबी ﷺ की नसीहत: मजलिस में जाये तो सलाम करे

Read More24. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

Rate this post
Ummate Nabi Android Mobile App