Allah Taala Kufr ko Pasand nahi karta Surah Zumar 39-7

अल्लाह ताला कुफ्र को पसंद नहीं करता

अल्लाह ताला कुफ्र को पसंद नहीं करता

۞ बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम ۞

अल्लाह ताला कुरआन में फर्माता है :

“अगर तुम मुन्किर होगे, तो यकीन जानो के अल्लाह तआला तुम से बेनियाज है और अपने बन्दों के लिये कुफ्र को पसन्द नहीं करता और अगर तुम शुक्र करोगे, तो तुम्हारे इस शुक्र को पसन्द करेगा।”

📕 सूरह जुमर: ७

© HindiQuran.in

Rate this post
और (हे मनुष्य!) तेरे पालनहार ने आदेश दिया है कि उसके सिवा किसी की इबादत (वंदना) न करो तथा माता-पिता के साथ उपकार करो।” [कुरआन १७:२३]

और (हे मनुष्य!) तेरे पालनहार ने आदेश दिया है कि उसके सिवा किसी की इबादत (वंदना) न करो तथा माता-पिता के साथ उपकार करो।” [कुरआन १७:२३]

अच्छाई उदारता नहीं है: 

माता-पिता के साथ अच्छा बर्ताव अनिवार्य है उदारता नहीं।

“और (हे मनुष्य!) तेरे पालनहार ने आदेश दिया है कि उसके सिवा किसी की इबादत (वंदना) न करो तथा माता-पिता के साथ उपकार करो।”

(कुरआन १७:२३)

Ref: Wisdom Media School | #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com

Rate this post

ऐ नबी हम ने आप को जन्नत की खुशखबरी देने वाला और जहन्नम से खबरदार कर देने वाला बना कर भेजा है।

ऐ नबी हम ने आप को जन्नत की खुशखबरी देने वाला और जहन्नम से खबरदार कर देने वाला बना कर भेजा है।

पोस्ट 01: आप ﷺ की रिसालत का मकसद “अल्लाह तआ़ला क़ुरआन में फ़रमाता है:” ” …

Read Moreऐ नबी हम ने आप को जन्नत की खुशखबरी देने वाला और जहन्नम से खबरदार कर देने वाला बना कर भेजा है।