Browsing Category

Social Impact

Kuch badi Baat thi jo hotey Musaman bhi Ek

सीरिया , बर्मा, पलेस्थिन और दुनीया के किसी भी कोने में कोई मुसलमान क़त्ल कर दिया जाता है तो कोई नहीं पूछता के वो किस फिरके का था , बरेलवी था, अहले हदीस या देओबंदी था ,. मसलक क्या था उसका ? कही फलाह और फलाह का मुरीद तो नहीं था ,. बल्कि सबने रोकर उनकी तकलीफ का इजहार किया इसी तरह कोई मुसलमान साइंस में…

Makkhi ke Parr Me Bimaari Aur Shifa: Islam aur Science

∗ Sawaal: Piney Aur Khane Ki Cheez Me Makhhi Gir Jaye Tou Kya Karna Chahiye ? » Jawaab: Abu Dawood Ne Hazrate Abu Huraira (RaziAllahu Anhu) Se Riwayat Ki Hai Ki, Rasool'Allah (Sallallahu Alaihay Wasallam) Ne Farmaya: "Jab Khaane Me Makhkhi Gir Jaye Tou Uss Ko Gota (Dubana) Do - Kyun Ki Uss Ke Ek…

Kya Kurta Paijama Islami Aur Pant-Shirt Gair-Islami Libas Hai ? …

Aksar Logon Me Is Mouju Ko Bhi Badi Tassub Ki Wajah Paya Jata Hai Ke – “Janab Aap Tou Badi Deen Ki Baate Karte Ho Lekin Pant-Shirt Pehente Ho Jo Ki Sunnat Se Sabit Nahi ..” - Tou Aayiye Dekhte Hai Ke Iski Hakikat Kya Hai ? *Sabse Pehli Baat Ke – "Kurta Paijama Hi Islami Libas Hai Aisa Kisi Bhi…

जानिए – कितने खतरनाक साबित हो सकते है आपके लिए टूटे हुए CFL ,..

( इस पोस्ट के तेहत हमारा मकसद किसी भी प्रोडक्ट का बायकाट करना नहीं है,. बस कोशिश है आपको इसके लापरवाही से होने वाले खतरनाक असरात से अगाह करना ,..) यह तस्वीर कनाडा के रहने वाले स्मिथ की है, इन्हें CFL बल्ब का इस्तेमाल या यूँ कहें कि इस्तेमाल में की गई लापरवाही बहुत भारी पड़ी। *यह तो हम सब जानते हैं…

जानिए – इस्लाम में नारी का महत्व और सम्मान

यदि आप धर्मों का अध्ययन करें तो पाएंगे कि हर युग में महिलाओं के साथ सौतेला व्यवहार किया गया, * हर धर्म में महिलाओं का महत्व पुरुषों की तुलना में कम रहा। बल्कि उनको समाज में तुच्छ समझा गया, उन्हें प्रत्येक बुराइयों की जड़ बताया गया, उन्हें वासना की मशीन बना कर रखा गया। एक तम्बा युग महिलाओं पर ऐसा ही बिता…

इस्लाम में शराब पीने की क्यों मनाही है – Why Alcohol prohibited in Islam ?

• प्रश्नः इस्लाम में शराब पीने की मनाही क्यों है ? » उत्तरः मानव संस्कृति की स्मृति और इतिहास आरंभ होने से पहले से शराब मानव समाज के लिए अभिशाप बनी हुई है। यह असंख्य लोगों के प्राण ले चुकी है। यह क्रम अभी चलता जा रहा है। इसी के कारण विश्व के करोड़ों लोगों का जीवन नष्ट हो रहा है। समाज की अनेकों समस्याओं…

दहेज़ की हक़ीकत और दहेज प्रथा के दुष्प्रभाव (Reality of Dowry)

ये वो विषय है जिस पर अगर तफसील से लिखा जाए तो रुकना मुश्किल है ,.. बहरहाल फिर भी हम इस पर दहेज़ के ताल्लुक से कुछ अहम बात करने की कोशिश करेंगे,.. • सबसे पहली बात अल्लाह रब्बुल इज़्ज़त नें क़ुरआन में फरमाया “मर्द औरतों पर क़व्वाम हैं इसलिए कि अल्लाह तआला नें उनमें से एक को दूसरे पर फज़ीलत दी और इसलिए कि…

इस्लाम में पड़ोसी के अधिकार …

हजरत मुहम्मद (सल्ललाहो अलाही वसल्लम) ने पड़ोसियों की खोज खबर लेने की बड़ी ताकीद की है, और इस बात पर बहुत बल दिया है कि कोई मुसलमान अपने पड़ोसी के कष्ट और दुख से बेखबर ना रहे। एक अवसर पर आपने फरमाया-' वह मोमिन नहीं जो खुद पेट भर खाकर सोए और उसकी बगल में उसका पड़ोसी भृूखा रहे।' इस्लाम में पड़ोसी के साथ…

Tarun Vijay (News Magazine Editor) About Islam ….

» NonMuslim View About Islam : तरुण विजय सम्पादक, हिन्दी साप्ताहिक ‘पाञ्चजन्य’ (राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पत्रिका): ‘‘...क्या इससे इन्कार मुम्किन है कि पैग़म्बर मुहम्मद (सल्ल॰) एक ऐसी जीवन-पद्धति बनाने और सुनियोजित करने वाली महान विभूति थे जिसे इस संसार ने पहले कभी नहीं देखा? उन्होंने इतिहास की काया…

दहशत और आतंकवाद का कोई मजहब नही होता ,…

*कोई दहशत हिन्दू दहशत नहीं होता... *कोई दहशत बुद्धिसम दहशत नहीं होता.. *कोई दहशत क्रिस्टियन दहशत नहीं होता ... और ना ही कोई - Islamic Terrorism इस्लामी दहशत होता है. - अगर ऐसा होता तो इसका मतलब होता - Islamic यानी "शांतिपूर्वक" और Terrorism मतलब "दहशत" .. जिसका मतलब होता है "शांतिपूर्वक दहशत"…

Hindustan Me Islami Tareekh …..

♥ Mafhoom-e-Hadees: Hazrate Anas (RaziAllahu Anhu) Se Riwayat Hai Ki – Kuffar-e-Makkah Ne Rasool’Allah (Sallallahu Alaihay Wasallam) Se Ye Darkhwast Ki, Ke (Apni Nabuwat Ki) Koi Nishaani Batlaiye ? *Tou Rasool’Allah (Sallallahu Alaihay Wasallam) Ne Chaand Ki Taraf Ungli Se Ishaara Kar ke Chaand Ke…

क्या कयामत का संकेत देती है मछलियों की बारिश ? जानिए इसकी हकीकत …

विश्व के कई देशों में जलीय जीवों की बारिश देखी गई है। इस तरह की घटनाएं लोगों के अंदर भय तो पैदा करती ही हैं, वैज्ञानिकों को नए सिरे से सोचने पर मजबूर भी करती हैं। कुछ जगह तो घड़ियालों को भी बारिश के साथ नीचे गिरते देखा गया है। 2015 में भारत के इस हिस्से में हुई थी ऐसी बारिश... अमेरिका, जापान और भारत के…

रमजान के अवसर पर घरो के बाहर गरीबो के लिए लगाए जा रहे है फ्रिज …

दुबई में घरो के बाहर फ्रिज को इंस्टाल किया जा रहा है जिससे लेबर और गरीब को पानी या खाने की किल्लत रमजान में ना हो ... इस मुहीम की शुरुआत करने वाले लोगो ने इससे पहले एक ग्रुप बना के फेसबुक पे शुरू किया है जिससे कि उन लोगो की मदद की जा सके जो रमजान में अपने घरो के बाहर गरीबो के लियें फ्रिज लगवाना चाहते…

मुसलमानों पर परेशानियो के जिम्मेदार कौन ?

आज हम दुनिया में यही रोना रोते है ना के – हुकूमत ज़ालिम है, वो हम पर बेतहाशा जुल्म करते है , हमारे मस्जिदों को तक ढा देते है, हमारे हुकुक अदा नहीं करते, हमे न नौकरिया देती है और न ही कोई वजीफा ,.. कभी सोचा हमने के ऐसे लोगों को हुकूमत पर किसने फायेज़ किया है ? आईये कुरआन की इस आयत पर गौर करते है –…

हाथ पैरो से है माजूर मगर मोहताज नहीं …

हैद्राबाद: के मोहम्मद हाफिज २ पैर १ हाथ से माजुर लेकिन ये मेहनती शख्स वेल्डिंग का काम करते हुए अपना घर चलाता है ,. ३ साल पहले अपनी ही शादी के दीन एक हादसे का शिकार होकर मोहम्मद हाफिज बुरी तरह जख्मी हो गया था, जिसकी वजह से उसे अपने २ पैर और एक हाथ गवाने पडे,. लेकिन मिल्लत की तड़प रखने वाले कुछ नेक…

MashaAllah! Milad ke Julus me DJ ka Ahtmam

बहरहाल! ईद की नमाज़ में २ रकात होती या ४ इसपर किसी का इख्तेलाफ़ नहीं , क्यूंकि अलाह्म्दुलिल्लाह शरियत में इसके अहकाम मौजूद है ,.. लेकिन मिलाद के नाम पर DJ बजाना , केक काटना , तवायफो को नचवाना बहरहाल इस पर खुद हमारे सुन्नी भाइयो में कसीर इख्तेलाफ़ है,. इसीलिए क्यूंकि जब इन्सान किताबो सुन्नत के इस पाकीज़ा…

उंगलियों के पोरों पर कीटनाशक प्रोटीन: जानिये १४०० सालो से क्या कहता है इस्लाम

♥ हदीस: हज़रत अब्दुल्लाह बिन अब्बास (रज़ियल्लाहु अनहुमा) से रिवायत है कि, अल्लाह के नबी (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) ने फरमाया: "जब तुम में से कोई खाना खाए तो वह अपना हाथ न पोछें यहां तक कि उसे (उंगलियां) चाट ले या चटाले।" (सही मुस्लिम, अल-अश्रिबःबाब इस्तिह्बाब लअक़िल असाबिअ, हदीस न0 2031) •…

खतना इन्सान को कई बड़ी बीमारियों से बचाता है जानिए

!! दुनियाभर में हुए शोधों ने यह साबित किया है कि खतना इंसान की कई बड़ी बीमारियों से हिफाजत करता है। इस समय खतना (सुन्नत) यूरोपीय देशों में बहस का विषय बना हुआ है। खतने को लेकर पूरी दुनिया में एक जबरदस्त बहस छिड़ी हुई है। इस पर विवाद तब शुरू हुआ जब जर्मनी के कोलोन शहर की जिला अदालत ने अपने एक फैसले में…

झूठी हदीसो से बचा करे ! (Beware Fake Hadith) …

“जो रमजान की मुबारकबाद सबसे पहले दुसरे को दे उसपर जन्नत वाजिब और जहन्नुम की आग हराम” सुभान'अल्लाह ! कहा से लाये ये हदीस,. इतने आसानी से जन्नत मिलती तो सहाबा(रज़ीअल्लाहु अन्हु) इतनी तकलीफे क्यों उठाते ? बल्कि रमजान का इंतज़ार करते, रमजान की खुशखबरी देते और माशा'अल्लाह जन्नत के मुस्तहिक हो जाते| कोई भी…

समाज में अमीरी और गरीबी क्यों ?

अल्लाह ने रोज़ी का वितरण अपने (मर्जी) से रखा है, कुछ लोगों को अधिक से अधिक दिया तो कुछ लोगों को कम से कम, हर युग में और हर समाज में मालदार और गरीब दोनों का वजूद रहा है, सवाल यह है कि आखिर अल्लाह ने अमीरी और गरीबी की कल्पना क्यों रखी ? - इसका उत्तर यह है कि ऐसा अल्लाह ने बहुत बड़ी तत्वदर्शिता के अंतर्गत…

इस्लाम आतंक या आदर्श – स्वामी लक्ष्मीशंकराचार्य

#_इस्लाम_आतंक_या_आदर्श - यह पुस्तक कानपुर के स्वामी लक्ष्मीशंकराचार्य जी ने लिखी है। - इस पुस्तक में स्वामी लक्ष्मी शंकराचार्य ने इस्लाम के अपने अध्ययन को बखूबी पेश किया है। स्वामी लक्ष्मी शंकराचार्य के साथ दिलचस्प वाकिया जुड़ा हुआ है। * वे अपनी इस पुस्तक की भूमिका में लिखते हैं- मेरे मन में यह गलत…

पेड़ पौंधो में जीवन होने के प्रमाण – १४०० साल से केहता है कुरान

ईश्वर(अल्लाह) द्वारा रची गई इस अद्भुत सृष्टि मे एक अद्भुत रचना है, वनस्पति जगत .... - पेड़ पौधों को हम अपनी आंखो से जीवित प्राणियों की तरह छोटे से बड़ा होते, बढ़ते बनते देखते हैं .... - पेड़ों को खुद हम अपने हाथ से भोजन खिलाते और पानी पिलाते हैं यानी उन्हें खाद और पानी देते हैं .... *एक और लक्षण…

7 साल की उम्र में इस बच्ची ने कर लिया पूरा कुरान हिफ्ज़

इंग्लैंड। लुटान की रहने वाली मारिया ने सिर्फ सात साल की छोटी सी उम्र में पुरे कुरान को हिफ्ज़ कर लिया है| 5 साल की उम्र में सुरह यासीन को याद करने के बाद दो सालो में मारिया ने पुरे कुरान को हिफ्ज़ कर लिया है | *मारिया के हिफ्ज़ में उनकी वालिदा का बहुत योगदान है उन्होंने 5 घंटे रोजाना मारिया के हिफ्ज़ करने…

Azan ki Awaz se upar aayi dubi hui lash

कभी कभी "अल्लाह" अपनी "कुदरत" को खोल-खोल कर दिखा देता है ताकि इंसान उससे "इब्रत" हासिल कर सके, और सही राह पर आ जाये"। "इसकी सबसे ताज़ा और ज़िंदा मिसाल बुधवार 3, फरवरी 2016 की है...। हुआ यूँ कि "मुरुंड" जोकि मुम्बई के पास एक "समुंद्री बीच" है, वहाँ उस बीच पर मुम्बई के कुछ स्टूडेंट घूमने के लियें गए थे,…

मुस्लिम महिला ने क़ायम की थी दुनिया की पहली यूनिवर्सिटी

फ़ातिमा अल फ़िहरी, ये नाम शायद आपने नहीं सुना होगा लेकिन ये नाम उतनी ही एहमियत रखता है जितना कि गाँधी, लूथर जूनियर, मंडेला, एडिसन या टेस्ला या फिर न्यूटन का नाम. # “लेडी ऑफ़ फ़ेज़” के नाम से मशहूर फ़ातिमा वो पहली इंसान हैं जिन्होनें इस दुनिया को यूनिवर्सिटी दी. मोरक्को के शहर फ़ेज़ में क़ायम की गयी ये…

हवा में उड़ान भरनेवाला दुनिया का सबसे पहला इन्सान (अब्बास इब्न फिरनास)

विमान से उड़ने का सपना कौन नहीं देखता लेकिन एक शख्स ऐसा भी हुआ जिसने चिड़ियों की तरह उड़ने की कोशिश की। यह वाकया किसी परीकथा का नहीं है। अगर आप से कोई यह कहे कि मैंने आज एक इन्सान हवा में उड़ते हुए देखा है तो शायद आप उस पर टूट भी पड़े लेकिन एक ऐसा शख्स जिसने यह कर दिखाया| आपको यकीन नहीं होगा लेकिन यह…

आतंकवाद के खिलाफ एक मंच पर आए सभी मुस्लिम धर्मगुरु, फतवा जारी

नई दिल्ली: आतंकवादी संगठन अलकायदा के बाद अब ISIS अपनी आतंकवादी हरकतों से पूरी दुनिया में हैवानियत का खूनी खेल खेल रहा है। फ्रांस की राजधानी पेरिस में ISIS ने पिछले दिनों लगातार आतंकवादी हमले किए, जिनमें 129 से अधिक लोग मारे गए और 300 से ज्यादा लोग घायल हो गए। - दुनियाभर के मुसलमानों को आतंकवाद से सीधे…

काश ये इत्तेहाद हम’में पहले से होता ?

"काश ये इत्तेहाद हम'में पहले से होता ,.. तो शाने-नबी में गुस्ताखी, किसी मरदूद की जुर्रत ना होती .. *ना करता अहानते रसूल की हिम्मत कोई ,.. गर मेरे नबी के अहसानों का इन्हें इल्म होता .. " * * * * * *मेरे अज़ीज़ भाइयो ,. - ये वक्त की जरुरत है - " जहालत का जवाब इल्म से देने की " - तो हमे बताइए -…

जानिए : क्या इस्लाम तलवार की जोर से फैला – Was Islam spread by the Sword ?

*कुछ गै़र-मुस्लिम भाइयों की यह आम शिकायत है कि संसार भर में इस्लाम के मानने वालों की संख्या लाखों में भी नहीं होती यदि इस धर्म को बलपूर्वक नहीं फैलाया गया होता। निम्न बिन्दु इस तथ्य को स्पष्ट कर देंगे कि इस्लाम की सत्यता, दर्शन और तर्क ही है जिसके कारण वह पूरे विश्व में तीव्र गति से फैला है , न कि तलवार…