Browsing Category

नबी की नसीहतें

Waqt ki Pabandi, Soney aur Jaagne ka Waqt | Post 4 | Islam aur Humara Ghar

वक्त की पाबन्दी, सोने और जागने का वक़्त » पोस्ट 4⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 4⃣ "इस्लाम और हमारा घर" वक्त की पाबन्दी - सोने और जागने का वक़्त अबूबर्ज़ा रज़िअल्लाहु अ़न्हु फ़रमाते हैं: "अल्लाह के रसूल ﷺ इशा से पहले सोने और उसके बाद बात चीत करने को नापसंद करते थे।"(बुखारी 535, मुस्लिम 1025) अल्फ़ाज़…
Read More...

Gharwalo ki Taalim aur Tarbiyat | Post 3 | Islam aur Humara Ghar

घर वालों की तालीम और उनकी तरबियत » पोस्ट 3⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 3⃣ "इस्लाम और हमारा घर" घर वालों की तालीम और उनकी तरबियत, घर वालों को दीन सिखाना "अल्लाह तआ़ला ने फ़रमाया:" "ऐ ईमान वालों ! तुम अपने आप को और अपने घर वालों को जहन्ऩम की आग से बचाओ।" (सूरह अल तहरीम 66)अली रज़िअल्लाहु अ़न्हु…
Read More...

Nek Biwi ka Intekhab | Post 2 | Islam aur Humara Ghar

नेक बीवी का इंतिखाब » पोस्ट 2⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 2⃣ इस्लाम और हमारा घर नेक बीवी का इंतिखाब अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: "औरत से चार चीज़ों की बुनियाद पर निकाह किया जाता है । उस के माल, हसब व नसब, खुबसूरती और उस के दीन की बुनियाद पर, तो तुम दीन वाली को चुनो तुम्हारे हाथ खाक आलूद…
Read More...

Ghar Sukun ki Jagah hai | Post 1 | Islam aur Humara Ghar

घर सुकून की जगह है » पोस्ट 1⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 1⃣इस्लाम और हमारा घर घर सुकून की जगह है "अल्लाह तआ़ला ने फ़रमाया:" और अल्लाह ने तुम्हारे घरों को तुम्हारे लिए सुकून की जगह बनाया ।(सूरह अल नहल 80)सिरीज » इस्लाम और हमारा घर✒जेपीपुने-------------
Read More...

जो कोई दिल से ‘अल्हम्दुलिल्लाही रब्बिल आलमीन’ कहेगा उसके लिए 30 नेकियां लिखी जाएगी

अलहम्दुलिल्लाह की फ़ज़ीलत - 30 नेकियां और 30 गुनाह मुआफ

🌟 रसूलअल्लाह (सलअल्लाहू अलैही वसल्लम) ने फरमाया : ❝जो कोई दिल से अल्हम्दुलिल्लाही रब्बिल आलमीन कहेगा (यानी ज़ुबान के साथ दिल से भी इसका यकीन हो की तमाम तारीफें अल्लाह के लिए हैं और वही सारे जहाँ का पालने वाला है) तो उसके लिए 30 नेकियां…
Read More...

Sabse Acche aur Bure Hakim ki Pehchan – About the Best and the Worst Leader

सबसे अच्छे और बुरे नेताओं के बारे में अल्लाह के पैगम्बर (ﷺ) की हदिस

۞ Hadees: Umar bin Khattab (R.A.) se riwayat hai ke Allah ke Rasool (Salallahu Alaihi Wasallam) ne farmaya: ❝ Kya mai tumhe sabse acche aur bure Hakim ke bare na bata du ?"  Sabse Acche Haqim wo hai jinse Tum(Riyaya) Mohabbat kare aur wo…
Read More...

Sharab se bacho kyunki wo har burayi ki chabi hai

शराब से बचो इसलिए क्यूंकि वो हर बुराई की चाबी है।

❝ शराब से बचो इसलिए क्यूंकि वो हर बुराई की चाबी है।❞अल्लाह के अंतिम पैगम्बर (ﷺ) (हदिस: मुस्तदरक: ७३१३)❝ Sharab se bacho isiliye kyunki wo har burayi ki chabi hai.❞Allah ke Rasool (ﷺ) (Hadith: Mustadrak: 7313)…
Read More...

इस्लाम की मूल आस्थाये: तौहिद, रिसालत और आखिरत

इस्लाम की मुल आस्थाये ३ है , जिन्हें मानना सम्पूर्ण मानवजाति के लिए अनिर्वाय (Compulsory) है |तौहिद – एकेश्वरवाद (एक इश्वर में आस्था रखना) रिसालत – प्रेशित्वाद (इशदुत, नबी, Messengers) आखिरत – परलोकवाद (मृत्यु के बाद का जीवन)…
Read More...

Shirk se Jo bacch gaya uske liye Aman aur Salamati hai

۞ Bismillah-Hirrahman-Nirrahim ۞ “Jo Log imaan laye aur apne imaan ko Zulm se mahfuz kiya unke liye Aman hai aur wahi hidayat paney wale log hain." 📕 Quran: Surah Al-An’am 6:82Tafseer: Iss aayat ke Sabab Hazrate Abdullah bin…
Read More...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More