Browsing Category

हिंदी कोट्स

तुम में सबसे अच्छा वह है जो अपनी क़ौम के लोगों के अत्याचार का विरोध करे और स्वयं वह पाप न करे।

पैग़म्बर मुहम्मद(ﷺ) ने फ़रमाया: "तुम में सबसे अच्छा वह है जो अपनी क़ौम के लोगों के अत्याचार का विरोध करे और स्वयं वह पाप न करे।" 📕 अबू दाऊद Source: islamshantihai.com
Read More...

सताए हुए की ‘आह’ से बचो क्यूंकि उसके और अल्लाह के मध्य कोई रुकावट नहीं होती।

पैग़म्बर मुहम्मद (ﷺ) ने फरमाया कि: "सताए हुए की 'आह' से बचो क्यूंकि उसके और अल्लाह के मध्य कोई रुकावट नहीं होती।" (बुख़ारी) Source: islamshantihai.com
Read More...

जो शख्स रिश्तेदारों का हक अदा करने के लिए सदके का दरवाज़ा खोलता है तो अल्लाह तआला उस की दौलत को बढ़ा…

♥ हदीसे नबवी (ﷺ) : रसूलअल्लाह (सलल्लाहू अलैहि वसल्लम) फरमाते है, “जो शख्स रिश्तेदारों का हक अदा करने के लिए सदके का दरवाज़ा खोलता है तो अल्लाह तआला उस की दौलत को बढ़ा देता है” – (मुस्नदे अहमद: 9624) Source: islamshantihai.com
Read More...

किसी मोमिन (आस्तिक) के लिए ये उचित नहीं कि उसमें लानत करते रहने की आदत हो।

पैग़म्बर मुहम्मद ने फरमाया: "किसी मोमिन (आस्तिक) के लिए ये उचित नहीं कि उसमें लानत करते रहने की आदत हो।" 📕 तिरमिज़ी Source: islamshantihai.com
Read More...

अल्लाह रफ़ीक (नरम) है, नरमी को पसंद करता है तथा नरमी बरतने पर वह जो …

इस्लाम की एक विशेषता यह भी है कि यह लोगों के ऊपर दया था कृपा करने वाला धर्म है पैग़म्बर मुहम्मद ने फ़रमाया किः “अल्लाह रफ़ीक (नरम) है, नरमी को पसंद करता है तथा नरमी बरतने पर वह जो कुछ देता है सख़्ती बरतने पर नहीं देता। Source:…
Read More...

27 Aug | Hadees: Bagair Majboori Qarz lene se bacho

۞ Hadees: Anas (R.A.) se riwayat hai ke, RasoolAllah (ﷺ) ne farmate hai ke "(Bagair majboori) Qarz lene se bacho; is liye ke qarz raat mein ranj wa gam aur din mein zillat wa ruswaayi ka sabab hai." 📕 Shoaib Ul Iman 5554 ۞ हदिस:…
Read More...