Browsing Category

हिंदी हदिस

सताए हुए की ‘आह’ से बचो क्यूंकि उसके और अल्लाह के मध्य कोई रुकावट नहीं होती।

पैग़म्बर मुहम्मद (ﷺ) ने फरमाया कि: "सताए हुए की 'आह' से बचो क्यूंकि उसके और अल्लाह के मध्य कोई रुकावट नहीं होती।" (बुख़ारी)
Read More...

जो शख्स रिश्तेदारों का हक अदा करने के लिए सदके का दरवाज़ा खोलता है तो अल्लाह तआला उस की दौलत को बढ़ा…

♥ हदीसे नबवी (ﷺ) : रसूलअल्लाह (सलल्लाहू अलैहि वसल्लम) फरमाते है, “जो शख्स रिश्तेदारों का हक अदा करने के लिए सदके का दरवाज़ा खोलता है तो अल्लाह तआला उस की दौलत को बढ़ा देता है” – (मुस्नदे अहमद: 9624)
Read More...

किसी मोमिन (आस्तिक) के लिए ये उचित नहीं कि उसमें लानत करते रहने की आदत हो।

पैग़म्बर मुहम्मद ने फरमाया: "किसी मोमिन (आस्तिक) के लिए ये उचित नहीं कि उसमें लानत करते रहने की आदत हो।" (तिरमिज़ी)
Read More...

अल्लाह रफ़ीक (नरम) है, नरमी को पसंद करता है तथा नरमी बरतने पर वह जो …

इस्लाम की एक विशेषता यह भी है कि यह लोगों के ऊपर दया था कृपा करने वाला धर्म है पैग़म्बर मुहम्मद ने फ़रमाया किः “अल्लाह रफ़ीक (नरम) है, नरमी को पसंद करता है तथा नरमी बरतने पर वह जो कुछ देता है सख़्ती बरतने पर नहीं देता।
Read More...

Momin aur Badkaar ki Misaal

मोमिन की मिसाल पौधे की पहली निकली हुई हरी शाख जैसी है | The example of a believer is that of a fresh…

۞ Hadees: Ka'ab (RaziAllahu Anhu) se riwayat hai ke Rasool'Allah (ﷺ) ne farmaya:❝ Momin ki Misaal paudhey (Plant) ki pehli nikli hui hari Shaakh jaisi hai ke jab bhi hawaa chalti hai usey jhukaa deti hai phir wo seedha ho kar Musibat…
Read More...

27 Aug | Hadees: Bagair Majboori Qarz lene se bacho

۞ Hadees: Anas (R.A.) se riwayat hai ke, RasoolAllah (ﷺ) ne farmate hai ke "(Bagair majboori) Qarz lene se bacho; is liye ke qarz raat mein ranj wa gam aur din mein zillat wa ruswaayi ka sabab hai." 📕 Shoaib Ul Iman 5554۞ हदिस:…
Read More...

Islam me Behtar Amal ye hai ke Tum Logo ko Khana Khilao aur Salam ko aam karo

۞ हदिस: इस्लाम में बेहतरीन अमल यह है के तुम लोगो को खाना ख़िलाओ और सलाम को आम करो।

۞ Hadees: Abdullah Bin Amr (R.A.) se riwayat hai ke, Rasool'Allah (Sallallahu Alaihay Wasallam) ne farmaya: "(Islam me Behtareen Cheez yeh hai ke) Tum Logo ko Khana Khilao aur Jaan-Pehchan wale aur Gair Jaan pehchan wale har Ek se Salaam…
Read More...