Browsing Category

हिंदी हदिस

Ghar me Surah Baqrah ki Qira’at | Post 7 | Islam aur Humara Ghar

घर में सूरह बकराह की किरात » पोस्ट 7⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 7⃣ "इस्लाम और हमारा घर" घर में सूरह बकराह की किरात अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: "तुम अपने घरों को क़बरस्तान ना बनाओ, बिलाशुबा शैतान उस घर से भागता है जिस घर में सूरह बकराह पढ़ी जाती हो।"(अहमद, तिर्मिज़ी) रावी: अबू हुरैराह…
Read More...

Allah ka Zikr aur Quran ki Tilawat | Post 6 | Islam aur Humara Ghar

अल्लाह का ज़िक्र और कुरआन की तिलावत » पोस्ट 6⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 6⃣ "इस्लाम और हमारा घर"   अल्लाह का ज़िक्र और कुरआन की तिलावत अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: "उस घर की मिसाल जिस में अल्लाह का ज़िक्र किया जाता हो और जिस में ना किया जाता हो ज़िंदा और मुर्दा की तरह है।"(मुस्लिम 1299) रावी: अबू…
Read More...

Ghar me Ibadat ki Jaye | Post 5 | Islam aur Humara Ghar

घर में इबादत की जाए » पोस्ट 5⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 5⃣ "इस्लाम और हमारा घर" घर में इबादत की जाए - नमाज़ अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: "जब तुम में से कोई आदमी मस्जिद में अपनी नमाज़ पढले तो अपनी नमाज़ का कुछ हिस्सा अपने घर के लिए भी रख छोड़े इस लिए के अल्लाह तआ़ला उस की नमाज़ों के…
Read More...

Waqt ki Pabandi, Soney aur Jaagne ka Waqt | Post 4 | Islam aur Humara Ghar

वक्त की पाबन्दी, सोने और जागने का वक़्त » पोस्ट 4⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 4⃣ "इस्लाम और हमारा घर" वक्त की पाबन्दी - सोने और जागने का वक़्त अबूबर्ज़ा रज़िअल्लाहु अ़न्हु फ़रमाते हैं: "अल्लाह के रसूल ﷺ इशा से पहले सोने और उसके बाद बात चीत करने को नापसंद करते थे।"(बुखारी 535, मुस्लिम 1025) अल्फ़ाज़…
Read More...

Gharwalo ki Taalim aur Tarbiyat | Post 3 | Islam aur Humara Ghar

घर वालों की तालीम और उनकी तरबियत » पोस्ट 3⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 3⃣ "इस्लाम और हमारा घर" घर वालों की तालीम और उनकी तरबियत, घर वालों को दीन सिखाना "अल्लाह तआ़ला ने फ़रमाया:" "ऐ ईमान वालों ! तुम अपने आप को और अपने घर वालों को जहन्ऩम की आग से बचाओ।" (सूरह अल तहरीम 66)अली रज़िअल्लाहु अ़न्हु…
Read More...

Nek Biwi ka Intekhab | Post 2 | Islam aur Humara Ghar

नेक बीवी का इंतिखाब » पोस्ट 2⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 2⃣ इस्लाम और हमारा घर नेक बीवी का इंतिखाब अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: "औरत से चार चीज़ों की बुनियाद पर निकाह किया जाता है । उस के माल, हसब व नसब, खुबसूरती और उस के दीन की बुनियाद पर, तो तुम दीन वाली को चुनो तुम्हारे हाथ खाक आलूद…
Read More...

Ghar Sukun ki Jagah hai | Post 1 | Islam aur Humara Ghar

घर सुकून की जगह है » पोस्ट 1⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 1⃣इस्लाम और हमारा घर घर सुकून की जगह है "अल्लाह तआ़ला ने फ़रमाया:" और अल्लाह ने तुम्हारे घरों को तुम्हारे लिए सुकून की जगह बनाया ।(सूरह अल नहल 80)सिरीज » इस्लाम और हमारा घर✒जेपीपुने-------------
Read More...

और व्यभिचार (adultery) के निकट भी न जाओ।

कल्याणकारी मधुर संदेशइस्लाम समाज में फैली किसी भी बुराई जैसे (चोरी/बलात्कार/शराब...आदि) से न सिर्फ रोकता है बल्कि उसे मिटाने के तरीके भी बताता है।"और ज़िना (व्यभिचार) के निकट भी न जाओ, नि:सन्देह यह बहुत ही घृणित काम और बुरा रास्ता…
Read More...

ख्वातीन-ए-इस्लाम

मुस्लिम ख़्वातीन से मुताअ़ल्लिक़ मोअ्तबर अह़ादीस़ का एक मुख़्तसर मजूमुआअल्लाह की रह़मत समझाने के लिए मां की रह़मत की त़रफ़ इशारा करना मां बेहतरीन सुलुक की ह़क़दार है… नेक औ़रत बेहतरीन मताअ़् है… बेहतरीन औ़रत और बद्तरीन औ़रत…
Read More...

जऩ्नत में बुढ़ापा नहीं।

पोस्ट 49 : जऩ्नत में बुढ़ापा नहीं।हसन बसरी रहिमहुल्लाह फ़रमाते हैं:❝ एक बूढ़ी औरत नबी ﷺ के पास आई और कहा: ऐ अल्लाह के रसूल, अल्लाह से दुआ़ कीजिए कि वो मुझे जऩ्नत में दाख़िल कर दे । इस पर आप ने फ़रमाया: ओ फुलां, जऩ्नत में बुढ़ी औरत…
Read More...

सब्र दरअस़्ल सदमे की इब्तिदा में होता है।

पोस्ट 48 : सब्र दरअस़्ल सदमे की इब्तिदा में होता है।साबित अल बुनानी रहिमहुल्लाह फ़रमाते हैं कि:❝ मैं ने अनस बिन मालिक रज़िअल्लाहु अ़न्हु को उनके घर की किसी ख़ातून से फ़रमाते सुना: क्या तुम फुलां औ़रत को जानती हो ? उन्होंने कहा:…
Read More...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More