Browsing Category

एक अहम् अमल के बारे में

6. जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). असहाबे सुफ्फा, (2). हुजूर (ﷺ) के हाथों की बरकत, (3). हज की फरज़ियत, (4). दीनी भाई की जियारत की फ़ज़ीलत, (5). बुरी तदबीरें करने का गुनाह, (6). दुनिया का सामान चंद रोज़ा हैं, (7). हर नबी का हौज होगा, (8). सना के फायदे, (9). दावत कबूल करे।
Read More...

5. जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मुहाजिर व अन्सार में भाई चारा, (2). परिन्दों की परवरिश, (3). नेकियों का हुक्म देना और बुराइयों से रोकना , (4). रुकू में हाथों को घुटनों पर रखना, (5). औरत के लिये चंद आमाल, (6). इंसाफ न करने का वबाल, (7). दुनिया मोमिन के लिये कैदख़ाना…
Read More...

4. जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). अज़ान की इब्तेदा, (2). हज़रत उमर (र.अ) के हक में दुआ, (3). नमाज़ के छोड़ने पर वईद, (4). बिजली कड़कने और बादल गरजने के वक़्त की दुआ, (5). मोमिन का ऐब छुपाना, (6). बुरे आमाल की नहूसत, (7). दुनियावी ज़िन्दगी धोका है, (8). जन्नत के दरख्तों…
Read More...

3. जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मस्जिदे नबवी की तामीर, (2). गूलर के फल में अल्लाह की कुदरत, (3). शौहर के भाइयों से परदा, (4). इशा के बाद दो रकात नमाज पढना, (5). इंसाफ करने की फ़ज़ीलत, (6). चाँदी के बरतन में पीना, (7). दो चीज़ों की ख्वाहिश, (8). दोज़खियों का खाना, (9).…
Read More...

2. जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मदीना मुनव्वरा, (2). आँखों की बीनाई का लौट आना, (3). नमाज़ छोड़ने का नुकसान, (4). बुरे लोगों की सोहबत से बचने की दुआ, (5). अल्लाह की राह में अपनी जवानी लगाने की फ़ज़ीलत, (6). रसूल (ﷺ) के हुक्म को न मानने का गुनाह, (7). हलाक करने वाली…
Read More...

1. जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). वह मुबारक घर जहाँ आप (ﷺ) ने कयाम फर्माया, (2). इन्सान की पैदाइश तीन अंधेरों में, (3). अल्लाह तआला सबको दोबारा ज़िन्दा करेगा, (4). वुजू में तीन मर्तबा कुल्ली करना, (5). मुसलमान को कपड़ा पहनाने की फ़ज़ीलत, (6). वालिदैन की नाफरमानी और जुल्म…
Read More...

30. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मदीना में हुजूर (ﷺ) का इस्तिकबाल, (2). किला फतह होना, (3). वालिदैन के साथ एहसान का मामला करो, (4). घरवालों पर सवाब की नियत से खर्च करना भी सदक़ा है, (5). कुरआन का मजाक उड़ाना, (6). माल की मुहब्बत खुदा की नाशुक्री का सबब है, (7). हर शख्स…
Read More...

29. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मस्जिदे कुबा की तामीर और पहला जुमा, (2). ज़बान दिल की तर्जमान है, (3). रुकूव सज्दा अच्छी तरह न करने पर वईद, (4). सोने के आदाब, (5). तीन आदमी अल्लाह की जमानत में है, (6). मर्द व औरत का एक दूसरे की नकल करना, (7). दुनिया की मुहय्यत बीमारी…
Read More...

28. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मदीना में हुजूर (ﷺ) का इन्तेज़ार, (2). हुजूर (ﷺ) की दुआ की बरकत, (3). बीवी को उस का महर देना, (4). अल्लाह से रेहम तलब करने की दुआ, (5). नमाज के लिये मस्जिद जाना, (6). इस्लाम की दावत को ठुकराना एक बड़ा जुल्म, (7). इन्सान की ख़सलत व…
Read More...

27. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). ग़ारे सौर से हुजूर (ﷺ) की रवानगी, (2). साँस लेने का निज़ाम, बलग़म के फायदे, (3). नमाजों को सही पढ़ने पर मगफिरत का वादा, (4). बीमारों की इयादत करना, (5). नमाज़ के लिये पैदल आना, (6). मस्जिद में दुनिया की बातें करने का गुनाह, (7). कयामत…
Read More...

26. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). हुजूर (ﷺ) ग़ारे सौर में, (2). ऊंटों के मुतअल्लिक़ खबर देना, (3). बीवी की विरासत में शौहर का हिस्सा, (4). मौत की सख्ती के वक़्त की दुआ, (5). वुजू कर के इमाम के साथ नमाज अदा करना, (6). कुफ्र की सज़ा जहन्नम है, (7). आखिरत दुनिया से बेहतर…
Read More...

25. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). हुजूर (ﷺ) की हिजरत, (2). गिजा और साँस की नालियाँ, (3). सूद से बचना, (4). इशा के बाद जल्दी सोना, (5). जमात के लिये मस्जिद जाना, (6). इजार या पैन्ट टखने से नीचे पहनना, (7). दुनिया से बेरग़वती का इनाम, (8). जन्नतियों का लिबास, (9). दाढ़…
Read More...

24. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). नबी (ﷺ) को शहीद करने की नाकाम साजिश, (2). बकरी का दूध देना, (3). सज्द-ए-सहु करना, (4). बारिश के लिए यह दुआ मांगे, (5). घर से वुजू कर के मस्जिद जाना, (6). काफ़िर नाकाम होंगे, (7). लोगों की कंजूसी, (8). हौज़े कौसर क्या है ?, (9). वरम…
Read More...

23. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मुसलमानों का मदीना हिजरत करना, (2). नींद का आना, (3). माँगी हुई चीज़ का लौटाना, (4). तीन उंगलियों से खाना, (5). दिखावे के लिए कपड़ा पहनना, (6). दुनिया खोल दी जाएगी, (7). अल्लाह के हुक्म पर चलो ताकि तुम टेढ़े रास्ते से बच सको।
Read More...

22. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). दूसरी बैते अक़बा, (2). हज़रत जाबिर (र.अ) के बाग़ की खजूरो में बरकत, (3). दीन-ऐ-इस्लाम में नमाज़ की अहमियत, (4). जन्नत हासिल करने के लिये दुआ करना, (5). हलाल कमाई से मस्जिद बनाना, (6). अच्छे और बुरे बराबर नहीं हो सकते, (7). दुनिया आरजी…
Read More...

21. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). पहली बैते अक़बा, (2). आँखों की हिफाजत, (3). नमाज़ में खामोश रहना, (4). रुकू व सज्दे में उंगलियों को रखने का तरीका, (5). कुंवां खुदवाने का सवाब, (6). हँसाने के लिये झूट बोलना, (7). ज़रूरत से ज़ाइद सामान शैतान के लिये, (8). कयामत का…
Read More...

20. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मदीना मुनव्वरा में इस्लाम का फैलना, (2). उमैर और सफवान की साजिश की खबर देना, (3). जन्नत में दाखले के लिये ईमान शर्त है, (4). सफर में आसानी की दुआ, (5). अज़ान का जवाब देना, (6). बातिल परस्तों के लिये सख्त अज़ाब है, (7). दुनिया की…
Read More...

19. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). हज के मौसम में इस्लाम की दावत देना, (2). बहरे मय्यित (Dead Sea), (3). नमाज़ में इमाम की पैरवी करना, (4). सज्दा करने का सुन्नत का तरीका, (5). अज़ान के बाद दुआ पढ़ना, (6). ग़लत हदीस बयान करने की सज़ा, (7). थोड़ी सी रोज़ी पर राज़ी रहना,…
Read More...

18. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मेअराज का सफर, (2). मय्यित का कर्ज अदा करना, (3). क़यामत की रुसवाई से बचने की दुआ, (4). अज़ान देने की फ़ज़ीलत, (5). कुरआन सुनने से रोकना, (6). दुनिया के मुकाबले में आखिरत बेहतर है, (7). काफिर की बदहाली, (8). खाना खिलाया करो और सलाम को आम…
Read More...

17. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). रसूलुल्लाह (ﷺ) की ताइफ से वापसी, (2). नाक के बाल, (3). शौहर के भाइयों से परदा करना, (4). इस्तिन्जे के बाद वुजू करना, (5). अगली सफ में नमाज़ अदा करना, (6). नमाज़ छोड़ना, (7). दुनिया से बचो, (8). पागलपन का इलाज, (9). शराब, जुवा, बूत और…
Read More...

6. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). दावत व तबलीग़ का हुक्म, (2). पानी न मिलने पर तयम्मुम करना, (3). किसी मुसलमान को हंसता देखे तो यह दुआ पढ़े , (4). लोगों से अपनी जरूरत छुपाए रखने की फ़ज़ीलत, (5). हलाल को हराम समझने का गुनाह, (6). नेअमत अता करने में अल्लाह तआला का कानून,…
Read More...

4. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). हुजूर (ﷺ) को नुबुव्वत मिलना, (2). जख्मी हाथ का अच्छा हो जाना, (3). फराइज़ की अदायगी का सवाब, (4). हिकमत के लिये दुआ, (5). दुआ कराने वाले की दुआ पर आमीन कहेना, (6). फसाद फैलाने की सज़ा, (7). अल्लाह की चाहत दुनिया नहीं, (8). सबसे पहले…
Read More...

3. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). हुजूर (ﷺ) गारे हिरा में, (2). इंसान की हड्डियों में अल्लाह की कुदरत, (3). ज़कात अदा करना, (4). छींक आए तो मुंह पर कपड़ा या हाथ रख ले, (5). अपने घरवालों पर खर्च करने की फ़ज़ीलत, (6). तिजारत में झूट बोलने का गुनाह, (7). बद नसीबी की पहचान,…
Read More...

2. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(१). हुजूर (ﷺ) का एक तारीख़ी फैसला, (2). सौ साल की उम्र में भी बाल सफेद न होना, (3). फज़्र और अस्त्र पाबन्दी से अदा करना, (4). दुनिया व आखिरत में आफियत की दुआ, (5). औरतों का चंद बातों पर अमल करना, (6). एक गुनाह : अहेद और कस्मों को तोड़ना,…
Read More...

1. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). हिलफुल फुजूल, (2). बिजली की कड़क, (3). जमात से नमाज़ अदा करना, (4). तीन साँस में पानी पीना, (5). बीवियों के साथ अच्छा सुलूक करना, (6). अजनबी औरत से मिलना, (7). मौत और माल की कमी से घबराना, (8). नामा-ए-आमाल के साथ बुलाया जाएगा, (9). हर…
Read More...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More