8 Shawwal | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

8 Shawwal | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

हजरत खब्बाब बिन अरत (र.अ), फलों में बरकत, तकबीरे ऊला से नमाज़ पढ़ना, छींक की दुआ, खुशूअ वाली नमाज माफी का जरिया, जुल्म से न रोकने का वबाल, मखलूक का रिज्क अल्लाह के जिम्मे है, जहन्नमी हथोड़े, इस्लाम में कौन सी बात खूबी की है? …

5. जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

5. जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मुहाजिर व अन्सार में भाई चारा, (2). परिन्दों की परवरिश, (3). नेकियों का हुक्म देना और बुराइयों से रोकना , (4). रुकू में हाथों को घुटनों पर रखना, (5). औरत के लिये चंद आमाल, (6). इंसाफ न करने का वबाल, (7). दुनिया मोमिन के लिये कैदख़ाना है, (8). जन्नत के फल और दरख्तों का साया, (9). अजवा खजूर से ज़हर का इलाज, (10). अल्लाह तआला अद्ल व इंसाफ का हुक्म देता है।

19. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

19. रबी उल आखिर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). हज के मौसम में इस्लाम की दावत देना, (2). बहरे मय्यित (Dead Sea), (3). नमाज़ में इमाम की पैरवी करना, (4). सज्दा करने का सुन्नत का तरीका, (5). अज़ान के बाद दुआ पढ़ना, (6). ग़लत हदीस बयान करने की सज़ा, (7). थोड़ी सी रोज़ी पर राज़ी रहना, (8). जहन्नमियों का खाना, (9). निमोनिया का इलाज, (10). अल्लाह और उस के रसूल का हुक्म मानो