औरत के लिए घर से खुश्बू लगा कर निकलने की हुर्मत

पोस्ट 31 :
औरत के लिए घर से खुश्बू लगा कर निकलने की हुर्मत।

अबू मूसा अश्अ़री रज़िअल्लाहु अ़न्हु से रिवायत है कि,
अल्लाह के नबी ﷺ ने फ़रमाया:

जो भी औ़रत इत़्र लगा कर लोगों के करीब से गुज़रती है ताकि वो उसकी खुश्बू मह़सूस करें तो ऐसी औ़रत ज़िनाकार औ़रत है और (उसकी ज़ीनत का मुशाहदा करने वाली) हर आंख ज़िनाकार है। 

 📕 मुस्नद अहमद, नसाई, हाकिम, इब्ने खुजैमा) रावी: अबू मूसा
 📕 स़ही़ह़ अल जामे 2701) (ह़सन) स़ही़ह़ इब्ने खुज़ैमा 1681
(इस की सनद ह़सन है) अल्फ़ाज़ इब्ने खुज़ैमा के हैं ।

————-J,Salafy————
इल्म हासिल करना हर एक मुसलमान मर्द-और-औरत पर फर्ज़ हैं
(सुनन्ऩ इब्ने माजा ज़िल्द 1, हदीस 224)

Series : ख़्वातीन ए इस्लाम

Share

Related Posts:

Website Design & Developed by:
Mohammad Salim