Jo Aazmayish Me Allah Ko Naa Bhuley Wo Hi Deendar Hai …

♥ Al-Quraan : Bismillah-Hirrahman-Nirrahim !!!
» (Aye Imaanwalo!) Yakin Jaano Ki Tumhare Maal
Aur Aulaad Tumhari Aazmayish Ki Cheeze Hai,
Ki Jo Unki Mohabbat Me Bhi Allah Ko Na Bhuley Wo Hi Deendar Hai.
[Surah (8) Al-Anfal: Aayat-28 : @[156344474474186:])

∗ जो आज़माइश में ख़ुदा को न भूले वो ही दीनदार है …
» (ऐ इमानवालो!) यक़ीन जानों कि तुम्हारे माल
और तुम्हारी औलाद तुम्हारी आज़माइश (इम्तेहान) की चीज़े हैं
कि जो उनकी मोहब्बत में भी ख़ुदा को न भूले वो ही दीनदार है.
(सुरह ८ अल-अन्फल: आयत-२८)

AazmayishAulaadBismillahDeendarMaalMohabbat
Comments (0)
Add Comment