Browsing tag

Padosi Ke Saath Acha Sulook Karo

इस्लाम में पड़ोसी के अधिकार …

हजरत मुहम्मद (सल्ललाहो अलाही वसल्लम) ने पड़ोसियों की खोज खबर लेने की बड़ी ताकीद की है, और इस बात पर बहुत बल दिया है कि कोई मुसलमान अपने पड़ोसी के कष्ट और दुख से बेखबर ना रहे। एक अवसर पर आपने फरमाया-‘ वह मोमिन नहीं जो खुद पेट भर खाकर सोए और उसकी बगल में […]