Browsing tag

Hadees e Nabvi in Hindi

Islam me Behtar Amal ye hai ke Tum Logo ko Khana Khilao aur Salam ko aam karo

۞ Hadees: Abdullah Bin Amr (R.A.) se riwayat hai ke, Rasool’Allah (Sallallahu Alaihay Wasallam) ne farmaya: “(Islam me Behtareen Cheez yeh hai ke) Tum Logo ko Khana Khilao aur Jaan-Pehchan wale aur Gair Jaan pehchan wale har Ek se Salaam karo.” 📕 Sahih al-Bukhari 6236 ۞ हदिस: अब्दुल्लाह बिन अम्र (र.अ.) से रिवायत है के, […]

Hadees: Chaar baato par Iman Lana Farz hai

 ۞ Hazrat Ali (R.A) se riwayat hai ke, Allah ke Rasool (ﷺ) ne farmaya ke: “jabtak koi banda in 4 baaton par imaan naa laye, to woh Momin nahi ho sakta: (1) is baat ki Gawahi de ke Allah ke alawa koi ibadat ke layaq nahi, (2) (is ki bhi gawahi de ke) Main […]

Juma ki Raat Surah Al-kahf padhne ki Fazilat

Mafhum-e-Hadith: ✦ Roman Urdu: Abu Saeed Khudri RaziAllahu anhu se riwayat hai ki RasoolAllah (ﷺ) ne farmaya “Jisne Juma ki raat surah kahaf padhi uske aur baitullah ke darmiyan noor ki roshni ho jati hai.” (Note: Jumerat ko magrib ke baad se juma ki raat shuru ho jati hai) 📕 Saheeh al–Jaami, 6471, Sunan al-Darimi, […]

Tum kisi Gunehgaar ko Neymato me Dekhkar Rashq na karo

Nabi-e-Kareem (Sallallahu Alaihay Wasallam) farmatey hai: ❝Jab Tu Dekhe ke Allah Ta’ala kisi Gunehgaar ko uske Gunaaho ke Bawajood uski chahat par Duniya ki Cheezein de raha hai, tou ye Allah Ta’ala ki taraf se Dheel hai.❞ 📕 Musnade Ahmad Ek aur Riwayat me Aap (Sallallahu Alaihay Wasallam) ne farmaya: ❝Tum kisi Gunehgaar ko Neymaton […]

जो कोई दिल से ‘अल्हम्दुलिल्लाही रब्बिल आलमीन’ कहेगा उसके लिए 30 नेकियां लिखी जाएगी

🌟 रसूलअल्लाह (सलअल्लाहू अलैही वसल्लम) ने फरमाया : ❝जो कोई दिल से अल्हम्दुलिल्लाही रब्बिल आलमीन कहेगा (यानी ज़ुबान के साथ दिल से भी इसका यकीन हो की तमाम तारीफें अल्लाह के लिए हैं और वही सारे जहाँ का पालने वाला है) तो उसके लिए 30 नेकियां लिखी जाएगी और 30 गुनाह मिटा दिए जाएँगे”❞ 📕 […]

Har Dard se nijat ki Dua (Badan Dard, Pait Dard ki Dua)

۞ Uthman bin Abi Al-‘As (R.A.) se riwayat hai ke Unhone Rasool’Allah (ﷺ) se Dard ki Shikayat ki Jisey wo apne Jism me Islam lane ke waqt mehsus karte they, Aap (ﷺ) ne farmaya: “Tum apna hath dard ki jagah par rakho aur kaho, Bismillah 3 baar uske baad sath 7 baar ye kaho. “A’udhu […]

Eid 2019: Eid ul Fitr Mubarak

Eid ka Asal Paigam | Eid Mubarak ki Dua रमज़ान के पूरे महीने में भूक और प्यास को बर्दाश्त करने के बाद ईद की ख़ुशी इस बाद की मिसाल है कि ज़िन्दगी की मुसीबतों पर सब्र करने के बाद कभी ना कम होने वाली जन्नत की खुशियाँ हैं। हदीसों से पता चलता है कि जन्नत […]

कजाए उमरी नमाज़ की हकीकत: हिंदी में

अक्सर रमजान का आखरी जुमा आने तक कजा नमाज वाली पोस्ट शोशल मिडीया पर वायरल होती रहती है, यह मैसेज किसने अपलोड किया, कोई नहीं जानता! लेकिन ताज्जुब इस बात का है के, यह कुछ मुसलमान भाई बिना सोचे समझे ऐसे मैसेज खूब फोर्वड कर रहे है , अल्लाह रेहम करे नतीजतन लोगों में बेशुमार […]

रमज़ान का महिना … जानिए: इसमें क्या है हासिल करना ?

हम मुसलमानों ने कुरआन की तरह रमज़ान को भी सिर्फ सवाब की चीज़ बना कर रख छोड़ा है, हम रमज़ान के महीने से सवाब के अलावा कुछ हासिल नहीं करना चाहते इसी लिए हमारी ज़िन्दगी हर रमज़ान के बाद फ़ौरन फिर उसी पटरी पर आ जाती है जिस पर वो रमज़ान से पहले चल रही […]

Jo Shakhs Nikah karey aur Mehar dene ki Niyat na ho usney Zinaa kiya

۞ Hadees: Abu Hurairah (R.A) se riwayat hai ke, Rasool-e-Kareem (ﷺ) ne farmaya: ❝Jo shakhs nikah karey aur Mehar dene ki Niyat na ho usney Zinaa kiya aur jo shakhs Udhaar(Qarz) le aur wapas dene ki niyat na ho usney daka dala.❞ 📕 At-Targib Wat-Tarheeb 1807 ۞ हदिस: अबु हुरेराह (प्रेषित के अनुयाई) कहते है के […]

Shaitan aadmi ke andar khoon ki tarha gardish karta rehta hai

۞ Jabir (RaziAllahu Anhu) se riwayat hai ke Allah Rasool (Sallallahu Alaihay Wasallam) ne farmaya: “Aisi Auratoun ke paas naa jao jin ke Mahram(Shohar) unke saath naa ho kyun ke Shaitan aadmi ke andar khoon ki tarha gardish karta rehta hai.” 📕 Jami` at-Tirmidhi 1172 ✦ हिंदी हदीस: शैतान आदमी के अंदर खून की तरह […]

Tohfa de kar waapas lene wala Uss Kutte ki tarha hai jo Ulti kar ke fir se Chaat leta hai

۞ Hadees: Ibne Abbas (R.A.) se riwayat hai ke, Rasool’Allah (Sallallahu Alaihay Wasallam) ne farmaya: ❝Hadiya (Tohfa) de kar waapas lene wala Uss Kutte ki tarha hai jo Qai (Vomit) kar ke fir se Chaat leta hai.❞ 📕 Sahih al-Bukhari 2589 📕 Sunan Ibn Majah 2476 ۞ हदिस: अब्दुल्लाह इब्ने अब्बास (रज़ि अल्लाहु अन्हु) से […]

Ilm aur Rizq me Barkat ki Dua

۞ Hadees: Umme Salma (R.A.) se riwayat hai ki Rasool’Allah (ﷺ) jab subah ki namaz me salam pherte to uske baad ye dua padhte “Allahumma inni Asaluka ilman Nafiaa, Wa Rizqan Tayyiba Wa Amalan Mutaqabbala” (Aye Allah! main tujhse nafa dene wale Ilm aur pakeeza Rizq aur qubool hone wale amal ka sawal karta hun.) […]

Jab Kapda Pehno Ya Wuzu karo tou apne Daahine se Shuru karo

۞ Hadees: Abu Huraira (Razi’Allahu Anhu) se riwayat hai ki, Unhone kaha ki Rasool’Allah (Sallallahu Alaihay Wasallam) ne farmaya ki “Jab Kapda Pehno Ya Wuzu karo tou apne Daahine se Shuru karo.” 📕 Sunan Abi Dawud 4141 ۞ हदिस: अबू हुरैरह (राज़ी अल्लाहु अन्हु से रिवायत है के, उन्होंने कहा की रसूलअल्लाह (सलल्लाहु अलैहि वसल्लम) […]

इस्लाम सुलह और शांति सिखाता है

♥ मफहूम-ऐ-हदीस ﷺ अल्लाह के नबी (सलल्लाहो अलैहि वसल्लम) ने एक रोज़ सहाबा से फ़रमाया: “क्या मै तुम्हे उस चीज़ के बारे में न बता दू जिसका दर्जा रोज़े , नमाज़ , सदके से भी ज्यादा ?” लोगो ने जवाब दिया: ए अल्लाह के रसूल! हमे जरुर बताये! आप (सलल्लाहो अलैहि वसल्लम) ने फ़रमाया: “उन […]

Behtareen Akhlaaq wala sab se Kamil Momin hai

❝ Behtareen Akhlaaq wala sab se Kamil Momin hai aur Tum me behtar woh hai Jo apni Aurto ke Haq me Acchey hai.❞ Roman Urdu: Hadis-e-Nabwi ﷺ Tirmizi, Jild: 1, Page: 595 ❝ बेहतरीन अखलाख वाला सबसे कामिल मोमिन है और तुम में बेहतर वो है जो अपनी औरतों के हक़ में अच्छे है।❞ हिंदी: हदीस-ऐ-नबवी […]

♫ Safar ki Dua – सफर की दुआ

(Allahu akbar, Allahu akbar, Allahu akbar, subhanal-lathee sakhkhara lana hatha wama kunna lahu muqrineen, wa-inna ila rabbina lamunqaliboon, Allahumma inna nas-aluka fee safarina hatha albirra wattaqwa, waminal-AAamali ma tarda, allahumma hawwin AAalayna safarana hatha, watwi AAanna buAAdah, allahumma antas-sahibu fis-safar, walkhaleefatu fil-ahl, allahumma innee aAAoothu bika min waAAtha-is-safar, waka-abatil-manthar, wasoo-il-munqalabi fil-mali wal-ahl.) (upon returning the […]

Ghar me dakhil hone ki dua

(Bismil-lahi walajna, wabismil-lahi kharajna, waAAala rabbina tawakkalna.) (अल्लाह के नाम से हम दाखिल हुए, अल्लाह के नाम के साथ निकले और अपने रब अल्लाह ही पर हमने भरोसा किया। फिर वह अपने घर वालों को सलाम करे।) (In the name of Allah we enter and in the name of Allah we leave, and […]

दज्जाल की हकीकत (फितना ऐ दज्जाल) पार्ट 6

दज्जाल के मुतालिक जो तीन कौल मशहूर है के ये दज्जाल है उनमे पहला सामरी जादूगर, दुसरा हैरम आबीफ तीसरा है अमेरिका। आईये इस पार्ट में अमेरिका पर एक नजर  डालते है। ३. अमेरिका ” बाज हजरात का कहना है कि अमेरिका दज्जाल है, क्योंकि दज्जाल की भी एक आंख होगी और अमेरिका की भी एक […]

दज्जाल की हकीकत (फितना ऐ दज्जाल) पार्ट 5

दज्जाल कौन है? कहा है? और कब निकलेगा? दज्जाल कौन है इस हवाले से बाज़ हज़रात का दुसरा कौल है के वो “हैरम आबीफ” है। २.हैरम आबीफ : बाज अहले इल्म की राय है कि इससे हैरम आबीफ (या सखरा आसफ) मुराद है, ये हजरत सुलेमान (अलैहि सलाम) के दौर मे हैकल सुलेमानी के नो बडे मास्टर […]

दज्जाल की हकीकत (फितना ऐ दज्जाल) पार्ट 4

दज्जाल कौन है? कहा है? और कब निकलेगा? ✦ दज्जाल कौन है? दज्जाल कौन है इस हवाले से मुख्तलिफ बाते की जाती रही है, बाज तो इतनी मजाहका खेज है कि बे अख्तियार हंसी आती है, हम इनसे सिर्फ नजर करते हुए यहा तीन मशहूर कौल जिक्र करके इन पर तबसीरा करते हुए चलेगे। १. सामरी […]

दज्जाल की हकीकत (फितना ऐ दज्जाल) पार्ट 3

✦ दज्जाल का इरान से ताल्लुक: ❝ दज्जाल के साथ अश्फहान के सत्तर हजार यहुदी होगे जो इरानी चादरे ओढे हुए होगे। (सही मुस्लिम किताब अल फितन हदीस न. 2944) ❝ दज्जाल कौम यहुद से होगा। (सही मुस्लिम किताब अल फितन हदीस न. 2937) अश्फहान इरान आबाद का तीसरा बडा शहर है और शोबा अश्फहान […]

दज्जाल की हकीकत (फितना ऐ दज्जाल) पार्ट 2

✦ दज्जाल का नाम और इसका मतलब: यहुदी अपने इस नजात दहिन्दा का आखिरी नाम यबुल, युबील, या हुबल बताते है, जो हमारी इस्लामी इस्तलाह मे तागुत और बुतो का नाम है और इसका लकब इनके यहा مسیحا या مسیا है। दज्जाल का असल नाम मालूम नही, क्योंकि हदीस मे नही आया, ये अपने लकब […]

Qayamat me Paanch Aham Cheezon ka Sawal

✦ Hadith: Roman Urdu: Abu Barza (Razi’Allahu Anhu) se riwayat hai ki, Rasool’Allah (Sallallahu Alaihay Wasallam) ne irshaad farmaya – ‟Qayamat ke Din insan ke dono qadam uss waqt tak (Hisaab ki Jagah se) nahi hatt sakte, jab tak uss se in paanch cheezon ke baarey me na puch liya jaaye. (1) Apni Umr kis […]

Nabi ﷺ ke Aakhri Alfaz – Namaz aur Gulamo ka Khayal rakhna

Ali Ibne Abu Talib (R.A.) se riwayat hai ke, Allah ke Rasool (ﷺ) ke Zubane Mubarak ke Aakhri Alfaz they: “Namaz, Namaz; aur un logo ke baare me Allah se daro jo tumhare dahine hath me hai. (Namaz aur Gulaamo ka khayal karo)” – (Sunan Abi Dawud 5156 / Book 43, Hadith 384-Sahih © www.Ummat-e-Nabi.com) अली […]

जिसकी बुनियाद शरीयत मे नही ऐसा काम दीन मे ईजाद करना मरदूद है

Roman Urduहिंदी हजरते आयेशा (रज़ीअल्लाहु अन्हा) से रिवायत है की, रसूलअल्लाह (ﷺ) ने फरमाया: “जिसने दीन मे कोई ऐसा काम किया जिसकी बुनियाद शरीअत में नहीं वो काम मरदूद है।” – (सुनन इब्न माजाह, हदीस 14) ✦ वजाहत: मसलन वो तमाम आमाल जिन्हे हम नेकी और सवाब की उम्मीद से करते है लेकिन जो सुन्नत से […]

इस्लाम से पहले क्या था – What was the before Islam ?

✦ प्रायः यह पूछा जाता है कि इस्लाम से पहले कौन सा धर्म था ? ✦ अगर इस्लाम ही सच्चा धर्म है तो क्या उससे पहले के व्यक्ति की मुक्ति कैसे होगी ?. यह अक्सर प्रश्न नॉन-मुस्लिम भाई पूछते रहते हैं। वैसे इसका एक मुख्य कारण है क्यूं कि वे समझते हैं कि इस्लाम मुहम्मद (सलल्लाहो […]

Padosiyon ke Hukuk Qurano Hadees ki Roshni me – पडोसी के हुकूक क़ुरानो हदीस की रौशनी में

♥ Al Qur’an: Bismillah-Hirrahman-Nirrahim ✦ ✦ Aur Ahsan karo padosiyo aur ajanabi padosiyo aur pahlu me baithne walo ke sath. – (Surah An-Nisa 4:36 © www.Ummat-e-Nabi.com) ✦ और अच्छा व्यवहार करते रहो निकटतम और दूर के पड़ोसियों के साथ भी। – (सूरह अन निसा 4:36 © www.Ummat-e-Nabi.com) ✦ And (Show) kindness the neighbour who is of kin […]

Bure Padosi, Buri Biwi aur Bure Bachcho se bachne ki Dua

✦ Hadith : Allah ki Panah talab karne ki Dua ✦ Abu Hurairah (R.A) se riwayat hai ki RasoolAllah (Sallallahu Alaihi Wasallam) ye Dua farmaya karte they اللَّهُمَّ إِنِّي أَعُوذُ بِكَ مِنْ جَارِ السُّوءِ ، وَمِنْ زَوْجٍ تُشَيِّبُنِي قَبْلَ الْمَشِيبِ ، وَمِنْ وَلَدٍ يَكُونُ عَلَيَّ رِبًا ” Allaahumma innee Awuzubika Min Jaar As-Soo Wa min […]