Browsing tag

Bismillah

बनी इस्राईल पर अल्लाह का अज़ाब और उम्मते मुस्लिमा के लिए इबरत

आज हम जिस हालात से गुजर रहे है आखिर क्या वजह है के हमारा रब हमसे नाराज़ है और ज़ालिम हुकुमराह हमपर मुसल्लत, आईये इसके ताल्लुक से हमसे पिछली उम्मत यानी बनी इस्राईल की हलाकत की मिसाल पर गौर करते है. बनी इस्राईल पर अल्लाह के अज़ाब का पहला वादा: बनी इस्राईल हमसे पहले अल्लाह […]

ईद मिलाद-उन-नबी – 12 रब्बी-उल-अव्वल की हक़ीक़त

۞ अस्सलामु अलैकुम व रहमतुल्लाही व बरकतुहु ۞ 12 रब्बी-उल-अव्वल को बर्रे सगीर मे की जाने वाला दिन भी हम मुसलमानो मे बड़े इख्तेलाफ़ का मौजू है, आइए हम इस्स दिन के पसेमंजर पर गौर करते है, सहाबा-ए-कीराम के हालत-ए-ज़िंदगी के असर देखते है के उनपर ये दिन कैसे गुजरा । ✦ रसूल-ए-करीम (ﷺ) की वफ़ात […]

धर्म क्या है, और इसकी उत्पति कैसे हुयी ?

• सवाल 1. धर्म क्या है, और इसकी उत्पति कैसे हुयी ? • सवाल 2. आप धर्म को क्यों मानते हो और जीवन मै इसका क्या महतव है ? » जवाब: ● धर्म……… धर्म मौलिक मानवीय मूल्यों (अच्छे गुणों) से आगे की चीज़ है। अच्छे गुण (उदाहरणतः नेकी, अच्छाई, सच बोलना, झूठ से बचना, दूसरों […]

तलाक, हलाला और खुला की हकीकत (Talaq, Halala aur Khula Ki Hakikat)

• तलाक की हकीकत: यूं तो तलाक़ कोई अच्छी चीज़ नहीं है और सभी लोग इसको ना पसंद करते हैं इस्लाम में भी यह एक बुरी बात समझी जाती है लेकिन इसका मतलब यह हरगिज़ नहीं कि तलाक़ का हक ही इंसानों से छीन लिया जाए, पति पत्नी में अगर किसी तरह भी निबाह नहीं […]

शबे क़द्र और इस की रात का महत्वः (हिंदी में)

रमज़ान महीने में एक रात ऐसी भी आती है, जो हज़ार महीने की रात से बेहतर है। जिसे शबे क़द्र कहा जाता है। शबे क़द्र का अर्थ होता हैः “सर्वश्रेष्ट रात”, ऊंचे स्थान वाली रात”, लोगों के नसीब लिखी जानी वाली रात। शबे क़द्र बहुत ही महत्वपूर्ण रात है, जिस के एक रात की इबादत […]

जानिए – रोज़ा क्या और क्यों ?

इंसान के बुनियादी सवाल !!! इस सम्पूर्ण विश्व और इंसान का अल्लाह (ईश्वर) एक है। ईश्वर ने इंसान को बनाया और उसकी सभी आवश्यकताओं को पूरा करने का प्रबंध किया। इंसान को इस ग्रह पर जीवित रहने के लिए लाइफ सपोर्ट सिस्टम दिया। इंसान को उसके मूल प्रश्नों का उत्तर भी बताया। इंसान को क्या […]

इसरा और मेराज एक चमत्कार – Isra aur Meraj ka Safar

मेराज की घटना मुहम्मद (सल्ललाहो अलैहि वसल्लम) का एक महान चमत्कार है, और इस में आप (सल्ललाहो अलैहि वसल्लम) को अल्लाह ने विभिन्न निशानियों का जो अनुभव कराया यह भी अति महत्वपूर्ण है। मेराज के दो भाग हैं, प्रथम भाग को इसरा और दूसरे को मेराज कहा जाता है, लेकिन सार्वजनिक प्रयोग में दोनों ही […]

जानिए: क्या मुसलमान काबे की पूजा करते है ?

# सवाल: नादान लोग कहेते है की मुस्लिम काबे की पूजा करते है,. क्या ये सही है ? » जवाब: ‘काबा’ किबला है अर्थात् वह दिशा जिधर मुसलमान नमाज़ के समय अपने चेहरे का रुख़ करते हैं। यह बात सामने रहनी चाहिए कि यद्यपि मुसलमान अपनी नमाज़ों में काबा की तरफ़ अपना रुख़ करते हैं […]

कत्ल और आतंकवाद को इस्लाम का समर्थन नहीं

वो लोग जो अपने क़त्लो-गारत और दहशतगर्दी के कामों को इस्लाम के आदेशानुसार बतलातें हैं वो कुरान और पैगम्बर (सल्लल्लाहू अलैहि वसल्लम) की तालीमों का अपमान करतें है। क्योंकि कुरान वो ग्रंथ है जिसने एक कत्ल के अपराध को पूरी इंसानियत के कत्ल करने के अपराध के बराबर रखा और कहा: ❝ जिसने कोई जान क़त्ल […]

कुरआन और समुद्र-विज्ञान !! समुद्र की गहराइयों में अंधेरा …

समुद्र-विज्ञान और भू-विज्ञान के जाने माने विशेषज्ञ प्रोफेसर दुर्गा राव जद्दा स्थित शाह अब्दुल अजी़ज़ यूनिवर्सिटी, सऊदी अरब में प्रोफ़ेसर रह चुके हैं। एक बार उन्हें निम्नलिखित पवित्र कुरान की आयत(श्लोक) की समीक्षा के लिये कहा गया जिसमे अल्लाह फरमाता है – ♥ “या फिर उसका उदाहरण ऐसा है जैसे एक गहरे समुद्र में अंधेरे […]