Browsing tag

Beautiful Hadees in Hindi

जानिए- क्यों मनाई जाती ही क़ुरबानी ईद ? (क़ुरबानी की हिक़मत)

” कह दो कि मेरी नमाज़ मेरी क़ुरबानी ‘यानि’ मेरा जीना मेरा मरना अल्लाह के लिए है जो सब आलमों का रब है ।” [कुरआन 6:162] – बकरा ईद का असल नाम “ईदुल-अज़हा“ है, मुसलमानों में साल में दो ही त्यौहार मजहबी तौर पर मनाए जाते हैं एक “ईदुल फ़ित्र” और दूसरा “ईदुल अज़हा“….। – […]

ईद उल अजहा / क़ुरबानी ईद मुबारक। Eid ul Adha Mubarak 2020

ईद उल अजहा (क़ुरबानी ईद) हर मुसलमान के लिए एक अहम मौका होता है। कुछ लोगो की गलतफहमी है कि इस्लाम की स्थापना मुहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने की, ये बात वो बिना लेखक की फालतु किताब वाले बोलेंगे जिन्हे इस्लाम के नाम से हमेशा डराया जाता रहा हो, जबकि वो लोग असली इतिहास से […]

4. ज़िल कदा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा 5 Minute Ka Madarsa in Hindi इस्लामी तारीख: मिना हुजूर (ﷺ) का मुअजीजा: जख्मी पैर का अच्छा हो जाना एक फर्ज के बारे में: बीवी के साथ अच्छा सुलूक करना एक सुन्नत के बारे में: एहराम बांधे तो इस तरह तल्बिया कहे एक अहेम अमल की फजीलत: हज व उमरह […]

3. ज़िल कदा | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: सफा व मरवाह अल्लाह की कुदरत: अंडे से बच्चे का पैदा होना एक फर्ज के बारे में: मीकात से एहराम बांध कर गुज़रना एक सुन्नत के बारे में: एहराम से पहले खुशबु लगाना एक अहेम अमल की फजीलत: हज के दौरान गुनाहों से बचना एक गुनाह के बारे में: जिना और शराब पर […]

2. ज़िल कदा | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: ज़मज़म का चश्मा हुजूर (ﷺ) का मुअजीजा: आप (ﷺ) की दुआ से सर्दी खत्म हो गई एक फर्ज के बारे में: सफा और मरवाह की सई करना एक सुन्नत के बारे में: एहराम बांधने की दुआ एक अहेम अमल की फजीलत: बैतुल्लाह का तवाफ करना एक गुनाह के बारे में: किसी को तकलीफ […]

1. ज़िल कदा | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: बैतुल्लाह की तामीर अल्लाह की कुदरत: सूरज अल्लाह की निशानी एक फर्ज के बारे में: इस्लाम की बुनियाद एक सुन्नत के बारे में: एहराम के लिये गुस्ल करना एक अहेम अमल की फजीलत: हज व उमरह एक साथ करना एक गुनाह के बारे में: झूटी कसम खा कर माल बेचना दुनिया के बारे […]

30. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: हजरत सुहेल बिन अम्र (र.अ) हुजूर (ﷺ) का मुअजिजा: एक वसक जौ में बरकत एक फर्ज के बारे में: बीवी को उस का महर देना एक सुन्नत के बारे में: औलाद के फर्माबरदार होने के लिए एक अहेम अमल की फजीलत: पहली सफ की फजीलत एक गुनाह के बारे में: कुरआन का मज़ाक […]

29. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: हज़रत अनस बिन मालिक (र.अ) अल्लाह की कुदरत: सितारों में अल्लाह की कुदरत एक फर्ज के बारे में: दीन में पैदा की हुई नई बातों से बचना (बिद्दत से बचना) एक सुन्नत के बारे में: सोने के आदाब एक अहेम अमल की फजीलत: चाश्त की नमाज़ पढ़ना एक गुनाह के बारे में: नाम […]

28. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: रसूलुल्लाह (ﷺ) के बेटे हुजूर (ﷺ) का मुअजिजा: नबी (ﷺ) की दुआ से बारिश का होना एक फर्ज के बारे में: नमाज़ों को सही पढ़ने पर माफी का वादा एक सुन्नत के बारे में: सुबह व शाम पढ़ने की दुआ एक अहेम अमल की फजीलत: रोज़ा जहन्नम से दूर करने का सबब एक […]

27. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: हजरत फ़ातिमा बिन्ते रसूलुल्लाह (ﷺ) अल्लाह की कुदरत: रात और दिन का अदलना बदलना एक फर्ज के बारे में: बीवी की विरासत में शौहर का हिस्सा एक सुन्नत के बारे में: दुआ के खत्म पर चेहरे पर हाथ फेरना एक गुनाह के बारे में: सूद खाने वाले का अंजाम आख़िरत के बारे में: […]

26. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: हजरत उम्मे कुलसूम बिन्ते रसूलुल्लाह (ﷺ) हुजूर (ﷺ) का मुअजिजा: मशकीजे के पानी का खत्म न होना एक फर्ज के बारे में: सूद से बचना एक सुन्नत के बारे में: हलाल रिज्क और इल्मे नाफे की दुआ एक अहेम अमल की फजीलत: वुजू के बावजूद वुजू करना एक गुनाह के बारे में: कुफ्र […]

25. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: हजरत रुकय्या बिन्ते रसूलुल्लाह (र.अ) अल्लाह की कुदरत: अल्लाह का बा बरकत निजाम एक फर्ज के बारे में: सजद-ए-तिलावत अदा करना एक सुन्नत के बारे में: बीमारों की इयादत करना एक गुनाह के बारे में: किसी की बात को छुप कर सुनना दुनिया के बारे में : दुनिया से बेरग़बती का इनाम आख़िरत […]

24. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: हज़रत जैनब बिन्ते रसूलुल्लाह (ﷺ) हुजूर (ﷺ) का मुअजिजा: उंगलियों से पानी का निकलना एक सुन्नत के बारे में: कयामत की रुसवाई से बचने की दुआ एक अहेम अमल की फजीलत: खाने के बाद शुक्र अदा करना एक गुनाह के बारे में: कुफ्र करने वाले नाकाम होंगे दुनिया के बारे में : लोगों […]