Browsing tag

गाने और मौसीकी

Gaane aur Mausiqi ki Mumaniat | Post 10 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 1⃣0⃣ “इस्लाम और हमारा घर” गाने और मौसीकी मुमानियत इमरान बिन हुसैन रज़िअल्लाहु अ़न्हु फ़रमाते हैं: अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: “इस उम्मत में ज़मीन का धंसना, लोगों के चेहरों का बदलना और पत्थरों की बारिश होने का अ़ज़ाब होगा । मुसलामानों में से एक आदमी ने कहा: ए अल्लाह के रसूल ! […]