एक बेसहारा बहन और उनके बच्चो को है आपकी मदद की दरकार

चेम्बूर (मुंबई): बात मुंबई में रहने वाली लगभग ३० साल की एक बहन (शहनाज़) की है जिसका शोहर उसे महज इस लिए छोड़कर चला गया क्यूंकि उसे एक के बाद लगातार ४ बेटीया हुई, बेटे की चाह में उसका शोहर उसे छोड़कर दूसरा निकाह कर अपनी अलग ज़िन्दगी बसा रहा है ,..

अब शहनाज़ लोगो के घर बर्तन मांझकर अपनी चारो बेटियों की अकेली परवरिश कर रही है:
बराए मेहरबानी आप तमाम हज़रात से हमारी इल्तेजा है के बहन शहनाज के लिए मदद का हाथ बढाए, कम से कम उनकी रोज़ी रिजक का जरिया अता: करने में उनकी मदद के लिए आगे आये, इंशाअल्लाह ये आपकी दुनिया व आखिरत की कामियाब का बाईस बने ,..
साथ ही आप से बसे दरख्वास्त है के उनके हक़ में दुआ करे ,..

उनकी एक खैरख्वा ने अपनी इस्तेहात के मुताबिक उनके लिए एक मोबाइल का भी इन्तेजाम कर दिया है , लेकिन बाज़ नफसपरस्त हजरात के बेहूदा कॉल की वजह से हम वो नंबर यहाँ से हटा रहे है ,.

अब बड़ी कोशिश के बाद उनके एक खैरख्वा ने शहनाज़ आपा के लिए बैंक अकाउंट का इन्तेजाम कर लिया है,
बराए मेहरबानी आप अपनी इस्तेहात के मुताबीक जो भो हो सके तावून करने की कोशीश करे..

Shahnaz Bano Shaikh Hashmi
Account No. 18478100009182
IFSC Code: BARB0CHEBOM
Branch: Govandi , Mumbai

आप जो भी तावुन करते हो उसकी स्लिप और आपका मोबाइल नंबर हमे जरुर मेसेग करे ,…
*बिलखुसूस हम इस बात पर ज्यादा जोर दे रहे है के पैसो की तावुन से बेहतर आप हजरात अपने वसीले से शहनाज़ आपा के लिए नौकरी का इन्तेजाम करें ,..

*जजाकल्लाहू खैरण कसीरा !

News
Comments (1)
Add Comment
  • Irshad Ahmad

    Hame Contact Kare InshaALLAH Mai Help Karunga


Related Post


Islamic Quiz – 45

#Sawal: Aasman ki Bulandiyo se Girne Wale Ki Misaal
Quraan Me Kiske Talluk Se Bayan Ki Gayi Hai ?…


नज़र का फ़ित्ना ….

नज़र एक ऐसा फ़ित्ना हैं जिस पर कोई रोक नही जब तक कोई इन्सान खुद अपनी नज़र को बुराई से न फ़ेर ले| अमूमन…


अल्लाह वालो की सिफत

एक बार हज़रत उमर रज़ियल्लाहु अनहु बाज़ार में चल रहे थे।
वह एक शख्स के पास से गूज़रे जो दुआ कर रहा था।…