लोहे का स्रोत !! पवीत्र कुरआन में ….

आधुनिक युग में खगोलशास्त्रियों ने यह खोज की है कि पृथ्वी पर जितना भी लोहा पाया जाता है, उसका उत्पादन पृथ्वी पर नहीं, बल्कि अंतरिक्ष में फैले हुए बड़े-बड़े सितारों पर हुआ था और उल्कापिंड के पृथ्वी से टकराने से यहां तक पहुंचा है। क़ुरआन ने लोहे के पृथ्वी के बाहर से यहां आने की बात 1400 वर्ष पूर्व ही बता दी थी।
» अल-कुरान: ‘‘और हमने लोहा उतारा जिसमें बड़ा ज़ोर है और लोगों के लिए लाभ है…।’’ – (सुरह ५७ अल-हदीद : आयत-25) : @[156344474474186:]
यहां ‘‘उतारा’’ शब्द इस ओर संकेत कर रहा है कि लोहा पृथ्वी पर उत्पन्न नहीं हुआ बल्कि बाहर से आया है।
अल्लाह (ईश्वर) सुब्हान व तआला की कोन कोन सी नेमतो को जुठलाओगे….?
Loha

LohaScience and Islamscience aur islam
Comments (0)
Add Comment


Recent Posts