Gharwalo ki Taalim aur Tarbiyat | Post 3 | Islam aur Humara Ghar

घर वालों की तालीम और उनकी तरबियत » पोस्ट 3⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 3⃣

“इस्लाम और हमारा घर”

घर वालों की तालीम और उनकी तरबियत, घर वालों को दीन सिखाना

“अल्लाह तआ़ला ने फ़रमाया:”
“ऐ ईमान वालों ! तुम अपने आप को और अपने घर वालों को जहन्ऩम की आग से बचाओ।”
(सूरह अल तहरीम 66)

अली रज़िअल्लाहु अ़न्हु (قُوۡۤا اَنۡفُسَکُمۡ وَ اَہۡلِیۡکُمۡ نَارًا) की तफ्सीर में फ़रमाते हैं:
“अपने आप को और अपने घर वालों को भलाई की तालीम दो।”

(इमाम ज़हबी ने तलखीस में बुखारी व मुस्लिम की शर्त पर कहा है ।)
(हाकिम 3826)

सिरीज » इस्लाम और हमारा घर

——J,Salafy✒——
▪शेयर करें▪

जिस शख़्स ने किसी नेकी का पता बताया, उसके लिए (भी) नेकी करने वाले के जैसा अजर हैं।
(स़ही़ह़ मुस्लिम: ज़ी. 3, हदीस 4665)

Ahadees in HindiBeautiful Hadees in HindiBest Hadees in HindiBest Islamic Hadees in Hindi LanguageBest Islamic Quotes in HindiJ.Salafyइस्लाम और हमारा घरजहन्ऩम की आगभलाई की तालीमहदीस की बातें हिंदी में
Comments (0)
Add Comment


Recent Posts