Browsing category

Islamic Golden Age

रसायनशास्त्र के सबसे पहले जनक थे जाबिर बिन हियान

जाबिर बिन हियान जिन्हें इतिहास का पहला रसायनशास्त्री कहा जाता है उसे पश्चिमी देश में गेबर (geber) के नाम से जाना जाता है। इन्हें रसायन विज्ञान का संस्थापक माना जाता है , इनका जन्म 733 ईस्वी में तूस में हुई थी , जाबिर बिन हियान ने ही एसिड की खोज की इन्होने एक ऐसा एसिड […]

Top scientist in Islamic Golden Age [Abbas ibn Firnas , Al Jazari]

the Muslim Scientific Achievements during the Muslim Golden Age (c. 800-1400 AD) and had an inkling that most of the scientific achievements happened in the periphery rather than the center of the Muslim Empire(s). That is the idea of an Arabic Science is relatively weak or, at the very least, most of the Arabic-Muslim Science […]

Science and Technology hai Islam ki Daiyn ! Afsos khud Musalman hai is se Gafil

मोजुदा दौर में मुसलमानों के इल्म से दुरी ने उन्हें अपने आबा-ओ-अजदाद के कारनामो से महरूम कर दिया. जबकी इस्लाम ही ने दुनिया को मशाले राह दिखाई , साइंस और टेक्नोलॉजी भी मुसलमानो ने वजदू में लायी. तफ्सीली जानकारी के लिए इस स्पीच का मुताला करे और ज्यादा से ज्यादा शेयर करने में हमारी मदद […]

Technology Industries aaj wajud me nahi hoti ! agar Musalman Scientist Na Hotey – Mrs Carlton Fiorina

“ट्विन टावर के हादसे के २ हफ्ते बाद ही जब इस्लाम पर सारी दुनिया दहशतगर्दी के इलज़ामात लगा रही थी तब एक ईसाई खातून जो की HP की CEO थी वो अपने स्पीच में “इस्लामी सिविलाइज़ेशन” के जो एहसानात है इंसानियत के लिए वो याद दिलाते हुए सबको हैरान कर देती है। आईये उर्दू तर्जुमे […]

मुसलमानों के साइंसी कारनामे

मुसलमानों के लिए ज्ञान के क्या मायने हैं उसे कुरआन ने अपनी पहली ही आयत में स्पष्ट कर दिया था अतीत में मुसलमानों ने इसी आयत करीमा का पालन करते हुए वह स्थान प्राप्त कर लिया था जिस के बारे में आज कोई विचार नही कर सकता। मुसलमान ज्ञान के हर क्षेत्र में आगे थे […]

Makkhi ke Parr Me Bimaari Aur Shifa: Islam aur Science

∗ Sawaal: Piney Aur Khane Ki Cheez Me Makhhi Gir Jaye Tou Kya Karna Chahiye ? » Jawaab: Abu Dawood Ne Hazrate Abu Huraira (RaziAllahu Anhu) Se Riwayat Ki Hai Ki, Rasool’Allah (Sallallahu Alaihay Wasallam) Ne Farmaya: “Jab Khaane Me Makhkhi Gir Jaye Tou Uss Ko Gota (Dubana) Do – Kyun Ki Uss Ke Ek […]

मॉडर्न सर्जरी है “इब्न ज़ुहर” की देन

अवेन्ज़ोअर (Avenzoar) (1094–1162): जो लोग मेडिसिन से ताल्लुक रखते है वो ज़रूर इस नाम को जानते होंगे। इनका असल नाम “इब्न ज़ुहर” था। यह वो थे जिन्होंने बहुत सारे ऐसे आलात(इक्यूपमेंट) ईजाद किये जिसके ज़रिये सर्जरी की जाती है,.. मॉडर्न सर्जरी !!! बहुत सारे आलात फिर चाहे वो ब्लेड की शक्लें हो , मुख़तलिफ़ किस्म […]

औद्योगिककरन के बानी कहलाते है – अल-जज़री

दुनिया में इंडस्ट्रियल ऐज जो आया उसके लिए सबसे पहले बुनियादी चीज़ थी वो मशीनरी, और मशीनरी के लिए सबसे अहम् चीज़ थी वो था “क्रैनशाफ़्ट”। क्रैनशाफ़्ट के बगैर मशीनरी का कोई तसव्वुर नहीं, क्यूकी क्रैनशाफ़्ट के जरये गोल घुमने वाली चीजों से सीधी ताकत पैदा की जाती है. जिसे इंग्लिश में कहते है रोटरी […]