Browsing category

इस्लाम और हमारा घर

Baat me Narmi aur Bepardagi | Post 13 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 1⃣3⃣ “इस्लाम और हमारा घर” बात में नरमी और बेपर्दगी अल्लाह तआ़ला ने फ़रमाया: “ऐ नबी की बीवियों! तुम आम औरतों की तरह नहीं हो, अगर तुम तक़्वा इख़्तियार करना चाहती हो तो बातों में लचक ना पैदा करो वरना जिसके दिल में बीमारी है वो तमऩ्ना करेगा। और तुम सीधी सीधी बात करो, […]

Kuffaro ki Mushabiyat me Shirqat | Post 12 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 1⃣2⃣ “इस्लाम और हमारा घर” कुफ्फारों की मुशाबियत में शिरकत अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: “जो किसी क़ौम से मुशाबहत इख़्तियार करे वो उन्हीं में से है।” ( अबूदाऊद ) रावी: इब्ने उमर (मोजमुल वसीत: हुज़ैफा रज़िअल्लाहु अ़न्हु) ( स़ही़ह़ अल जामे 6149) (स़ही़ह़) सिरीज » इस्लाम और हमारा घर ——J,Salafy✒—— ▪शेयर करें▪ […]

Baaz Halaaq karne waali cheeze | Post 11 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 1⃣1⃣ “इस्लाम और हमारा घर” बाज़ हलाक करने वाली चीज़ें इब्ने अब्बास रज़िअल्लाहु अ़न्हु फ़रमाते हैं: “अल्लाह के रसूल ﷺ ने उन मर्दो पर लानत भेजी है जो औरतों की मुशाबहत करते हैं और उन औरतों पर लानत की है जो मर्दो की मुशाबहत करती हैं।” ( बुखारी: 5885 ) सिरीज » इस्लाम और […]

Gaane aur Mausiqi ki Mumaniat | Post 10 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 1⃣0⃣ “इस्लाम और हमारा घर” गाने और मौसीकी मुमानियत इमरान बिन हुसैन रज़िअल्लाहु अ़न्हु फ़रमाते हैं: अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: “इस उम्मत में ज़मीन का धंसना, लोगों के चेहरों का बदलना और पत्थरों की बारिश होने का अ़ज़ाब होगा । मुसलामानों में से एक आदमी ने कहा: ए अल्लाह के रसूल ! […]

Kutte ko Ghar se Nikalna | Post 9 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 9⃣ “इस्लाम और हमारा घर” कुत्ते को घर से निकालना अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: “फ़रिश्ते ऐसे घर में दाखिल नहीं होते जिसमें कुत्ता हो और ना ऐसे घर में जाते हैं जिसमें तस्वीर हो।” ( अहमद, मुत्तफकुन अलैह, नसाई, तिर्मिज़ी, इब्ने माजा ) रावी: अबू तलहा ( स़ही़ह़ अल जामे 7262 ) […]

Bekaar aur Befayda cheezo ko Ghar se bahar Nikalna | Post 8 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 8⃣ “इस्लाम और हमारा घर” मुन्कर और बे फायदा चीज़ों का घर से निकालना अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: “जिसने किसी चीज़ को लटकाया तो उसके सुपुर्द कर दिया गया “ ( तिर्मिज़ी ) रावी: अब्दुल्लाह बिन उकैम अबी माबद अल जोहनी रज़िअल्लाहु अ़न्हु ( ह़सन लिगैरिही स़ही़ह़ अत्तर्गिब 3456 ) – – […]

Ghar me Surah Baqrah ki Qira’at | Post 7 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 7⃣ “इस्लाम और हमारा घर” घर में सूरह बकराह की किरात अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: “तुम अपने घरों को क़बरस्तान ना बनाओ, बिलाशुबा शैतान उस घर से भागता है जिस घर में सूरह बकराह पढ़ी जाती हो।” (अहमद, तिर्मिज़ी) रावी: अबू हुरैराह (स़ही़ह़ अल जामे 2727) और तिर्मिज़ी में इस तरह हैं: […]

Allah ka Zikr aur Quran ki Tilawat | Post 6 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 6⃣ “इस्लाम और हमारा घर”   अल्लाह का ज़िक्र और कुरआन की तिलावत अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: “उस घर की मिसाल जिस में अल्लाह का ज़िक्र किया जाता हो और जिस में ना किया जाता हो ज़िंदा और मुर्दा की तरह है।” (मुस्लिम 1299) रावी: अबू मूसा रज़िअल्लाहु अ़न्हु सिरीज » इस्लाम […]

Ghar me Ibadat ki Jaye | Post 5 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 5⃣ “इस्लाम और हमारा घर” घर में इबादत की जाए – नमाज़ अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: “जब तुम में से कोई आदमी मस्जिद में अपनी नमाज़ पढले तो अपनी नमाज़ का कुछ हिस्सा अपने घर के लिए भी रख छोड़े इस लिए के अल्लाह तआ़ला उस की नमाज़ों के ज़रिये से उसके […]

Waqt ki Pabandi, Soney aur Jaagne ka Waqt | Post 4 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 4⃣ “इस्लाम और हमारा घर” वक्त की पाबन्दी – सोने और जागने का वक़्त अबूबर्ज़ा रज़िअल्लाहु अ़न्हु फ़रमाते हैं: “अल्लाह के रसूल ﷺ इशा से पहले सोने और उसके बाद बात चीत करने को नापसंद करते थे।” (बुखारी 535, मुस्लिम 1025) अल्फ़ाज़ बुखारी के हैं । सिरीज » इस्लाम और हमारा घर ——J,Salafy✒—— ▪शेयर […]

Gharwalo ki Taalim aur Tarbiyat | Post 3 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 3⃣ “इस्लाम और हमारा घर” घर वालों की तालीम और उनकी तरबियत, घर वालों को दीन सिखाना “अल्लाह तआ़ला ने फ़रमाया:” “ऐ ईमान वालों ! तुम अपने आप को और अपने घर वालों को जहन्ऩम की आग से बचाओ।” (सूरह अल तहरीम 66) अली रज़िअल्लाहु अ़न्हु (قُوۡۤا اَنۡفُسَکُمۡ وَ اَہۡلِیۡکُمۡ نَارًا) की तफ्सीर में […]

Nek Biwi ka Intekhab | Post 2 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 2⃣ इस्लाम और हमारा घर नेक बीवी का इंतिखाब अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: “औरत से चार चीज़ों की बुनियाद पर निकाह किया जाता है । उस के माल, हसब व नसब, खुबसूरती और उस के दीन की बुनियाद पर, तो तुम दीन वाली को चुनो तुम्हारे हाथ खाक आलूद हों । (मुत्तफकुन […]

Ghar Sukun ki Jagah hai | Post 1 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 1⃣ इस्लाम और हमारा घर घर सुकून की जगह है “अल्लाह तआ़ला ने फ़रमाया:” और अल्लाह ने तुम्हारे घरों को तुम्हारे लिए सुकून की जगह बनाया । (सूरह अल नहल 80) सिरीज » इस्लाम और हमारा घर ✒जेपीपुने————-