Browsing category

इस्लाम सब के लिए

बलात्कार रोकने के कुछ उपाय (Rape Ke Khilaf Ek Jung) ….

हमारे देश भारत में जो क्राइम इस समय सबसे ज़्यादा हो रहा है वह है बलात्कार व सामूहिक बलात्कार। वर्तमान में इसका ग्राफ चिंताजनक स्तर पर पहुंच गया है। इसे रोकने के लिये तरह तरह के उपाय सुझाये जा रहे हैं। लेकिन विडंबना ये है कि जिनके ऊपर इस तरह के जुर्म रोकने की जिम्मेदारी […]

भूत, प्रेत, बदरूह की हकीकत

भूत, प्रेत, बदरूह: ये नाम अकसर इन्सानी ज़हन मे आते ही एक डरावनी और खबायिसी शख्सियत ज़ेहन मे आती हैं क्योकि मौजूदा मिडिया ने इन्सान को इस कदर गुमराह कर रखा हैं के जो नही हैं उसको इतनी खूबसूरती के साथ ये मिडिया वाले पेश करते हैं के इन्सान जिसकी ताक मे शैतान हमेशा हर […]

अल्लाह ने सभी को अपने मज़हब का क्यों नहीं बनाया…?

» प्रश्न: अल्लाह ने सभी को अपने मज़हब का क्यों नहीं बनाया…? » उत्तर: इसका उत्तर क़ुरआन ने विभिन्न स्थानों पर दिया है क़ुरआन में कहा गयाः ∗ अल-कुरान : “[ऐ मुहम्मद(सलल्लाहो अलैहि वसल्लम)] यदि आपका रब चाहता तो सब लोगों को एक रास्ते पर एक उम्मत कर देता, वे तो सदैव मुखालफ़त करने वाले […]

इस्लाम कैसा इन्सान बनाता हैं? …..

इन्सान को अच्छा इन्सान बनाने की इस्लाम से बेहतर दूसरी कोर्इ व्यवस्था नही। इस्लाम मनुष्य को उसका सही स्थान बताता हैं, उसकी महानता का रहस्य उस पर खोलता हैं उसका दायित्व उसे याद दिलाता हैं और उसकी चेतना को जगाता हैं उसे याद दिलाता हैं कि उसे एक उद्देश्य के साथ पैदा किया गया हैं, […]

ईसा (अलैहिस्सलाम) के जीवन की कुछ झलकियां ….

Isa (Alaihay Salam) (ईसा : उन पर अल्लाह की शान्ती हो) को अल्लाह ने कुरआन मजीद में जो स्थान दिया है जो आदर-सम्मान दिया है, बिल्कुल वह इसके अधिकार तथा ह़कदार हैं और इस बात की पुष्टि बाइबल भी करता है परन्तु सेकड़ो बाइबल का वजूद बाइबल (Bible) के असुरक्षित होने पर प्रमाणित करता है। […]

नॉन-मुस्लिम भाइयो द्वारा इस्तेमाल किये जाने वाले कुछ सुनहरे जुमले ….

अक्सर देखा जाता है की कई गैर-मुस्लिम मुस्लिमो द्वारा इस्तेमाल किये जाने वाले आम शब्द जैसे माशाअल्लाह, सुभानल्लाह, इंशाल्लाह इत्यादि का मतलब नहीं पता होता. नीचे इनका मतलब और इन्हें कहाँ इस्तेमाल किया जाता है इसकी जानकारी दी गयी है. अगर कोई शब्द ऐसा है जो यहाँ न लिखा हो लेकिन आप उसका मतलब जानना […]

तौहीद की अमानत सीनों में हैं हमारे ….

इस्लाम के खिलाफ़ हज़ारों किताबें लिखी जा चुकी हैं, सैकड़ों वेबसाइट चल रही हैं, न जाने कितने फेसबुक पेज हैं जो दिन रात इस्लाम के खिलाफ़ पोस्ट करते रहते हैं| हजारों लोगों को इस्लाम के खिलाफ़ लिखने के पैसे दिए जाते हैं, लाखों डॉलर इस्लाम के दुष्प्रचार में खर्च किए जाते हैं| ये सब जो […]

इस्लाम के बारे में भारतीय ग़ैर-मुस्लिम विद्वानों के विचार …

इस्लाम के बारे में दुनिया के बेशुमार विद्वानों, विचारकों, साहित्यकारों, बुद्धिजीवियों और इतिहासकारों आदि ने अपने विचार व्यक्त किए हैं। इनमें हर धर्म, जाति, क़ौम और देश के लोग रहे हैं। यहाँ उनमें से सिर्फ़ भारतवर्ष के कुछ विद्वानों के विचार उद्धृत किए जा रहे हैं: » स्वामी विवेकानंद (विश्व-विख्यात धर्मविद्): मुहम्मद साहब (इन्सानी) बराबरी, […]

पवित्र कुरान – हिंदी अनुवाद

1. सूरह फातेहा 2. सूरह बकराह 3. सूरह आले इमरान 4. सूरह अन-निसा 5. सूरह अल-माइदा 6. सूरह अल-अनाम 7. सूरह अल-आराफ़ 8. सूरह अल-अन्फाल 9. सूरह अत-तौबा 10. सूरह युनुस 11. सूरह हूद 12. सूरह युसूफ 13. सूरह र’आद 14. सूरह इब्राहीम 15. सूरह अल हिज्र 16. सूरह अन नहल 17. सूरह अल इस्रा […]