Browsing category

हिंदी कोट्स

islamic status in hindi, islamic status for whatsapp in hindi, slamic status hindi, small hadees sharif in hindi, nabi ki hadees hindi, islamic whatsapp status in hindi, islamic quotes in hindi

Allah ka Zikr aur Quran ki Tilawat | Post 6 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 6⃣ “इस्लाम और हमारा घर”   अल्लाह का ज़िक्र और कुरआन की तिलावत अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: “उस घर की मिसाल जिस में अल्लाह का ज़िक्र किया जाता हो और जिस में ना किया जाता हो ज़िंदा और मुर्दा की तरह है।” (मुस्लिम 1299) रावी: अबू मूसा रज़िअल्लाहु अ़न्हु सिरीज » इस्लाम […]

Ghar me Ibadat ki Jaye | Post 5 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 5⃣ “इस्लाम और हमारा घर” घर में इबादत की जाए – नमाज़ अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: “जब तुम में से कोई आदमी मस्जिद में अपनी नमाज़ पढले तो अपनी नमाज़ का कुछ हिस्सा अपने घर के लिए भी रख छोड़े इस लिए के अल्लाह तआ़ला उस की नमाज़ों के ज़रिये से उसके […]

Waqt ki Pabandi, Soney aur Jaagne ka Waqt | Post 4 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 4⃣ “इस्लाम और हमारा घर” वक्त की पाबन्दी – सोने और जागने का वक़्त अबूबर्ज़ा रज़िअल्लाहु अ़न्हु फ़रमाते हैं: “अल्लाह के रसूल ﷺ इशा से पहले सोने और उसके बाद बात चीत करने को नापसंद करते थे।” (बुखारी 535, मुस्लिम 1025) अल्फ़ाज़ बुखारी के हैं । सिरीज » इस्लाम और हमारा घर ——J,Salafy✒—— ▪शेयर […]

Gharwalo ki Taalim aur Tarbiyat | Post 3 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 3⃣ “इस्लाम और हमारा घर” घर वालों की तालीम और उनकी तरबियत, घर वालों को दीन सिखाना “अल्लाह तआ़ला ने फ़रमाया:” “ऐ ईमान वालों ! तुम अपने आप को और अपने घर वालों को जहन्ऩम की आग से बचाओ।” (सूरह अल तहरीम 66) अली रज़िअल्लाहु अ़न्हु (قُوۡۤا اَنۡفُسَکُمۡ وَ اَہۡلِیۡکُمۡ نَارًا) की तफ्सीर में […]

Nek Biwi ka Intekhab | Post 2 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 2⃣ इस्लाम और हमारा घर नेक बीवी का इंतिखाब अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: “औरत से चार चीज़ों की बुनियाद पर निकाह किया जाता है । उस के माल, हसब व नसब, खुबसूरती और उस के दीन की बुनियाद पर, तो तुम दीन वाली को चुनो तुम्हारे हाथ खाक आलूद हों । (मुत्तफकुन […]

Ghar Sukun ki Jagah hai | Post 1 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 1⃣ इस्लाम और हमारा घर घर सुकून की जगह है “अल्लाह तआ़ला ने फ़रमाया:” और अल्लाह ने तुम्हारे घरों को तुम्हारे लिए सुकून की जगह बनाया । (सूरह अल नहल 80) सिरीज » इस्लाम और हमारा घर ✒जेपीपुने————-

और व्यभिचार (adultery) के निकट भी न जाओ।

कल्याणकारी मधुर संदेश इस्लाम समाज में फैली किसी भी बुराई जैसे (चोरी/बलात्कार/शराब…आदि) से न सिर्फ रोकता है बल्कि उसे मिटाने के तरीके भी बताता है। “और ज़िना (व्यभिचार) के निकट भी न जाओ, नि:सन्देह यह बहुत ही घृणित काम और बुरा रास्ता है।” पवित्र कुरआन (17:32) सबसे पहले तो इस्लाम लोगों को आध्यात्मिक स्तर पर […]

तुम में सबसे अच्छा वह है जो अपनी क़ौम के लोगों के अत्याचार का विरोध करे और स्वयं वह पाप न करे।

पैग़म्बर मुहम्मद(ﷺ) ने फ़रमाया: “तुम में सबसे अच्छा वह है जो अपनी क़ौम के लोगों के अत्याचार का विरोध करे और स्वयं वह पाप न करे।” 📕 अबू दाऊद Source: islamshantihai.com

सताए हुए की ‘आह’ से बचो क्यूंकि उसके और अल्लाह के मध्य कोई रुकावट नहीं होती।

पैग़म्बर मुहम्मद (ﷺ) ने फरमाया कि: “सताए हुए की ‘आह’ से बचो क्यूंकि उसके और अल्लाह के मध्य कोई रुकावट नहीं होती।” (बुख़ारी) Source: islamshantihai.com

जो शख्स रिश्तेदारों का हक अदा करने के लिए सदके का दरवाज़ा खोलता है तो अल्लाह तआला उस की दौलत को बढ़ा देता है

♥ हदीसे नबवी (ﷺ) : रसूलअल्लाह (सलल्लाहू अलैहि वसल्लम) फरमाते है, “जो शख्स रिश्तेदारों का हक अदा करने के लिए सदके का दरवाज़ा खोलता है तो अल्लाह तआला उस की दौलत को बढ़ा देता है” – (मुस्नदे अहमद: 9624) Source: islamshantihai.com

किसी मोमिन (आस्तिक) के लिए ये उचित नहीं कि उसमें लानत करते रहने की आदत हो।

पैग़म्बर मुहम्मद ने फरमाया: “किसी मोमिन (आस्तिक) के लिए ये उचित नहीं कि उसमें लानत करते रहने की आदत हो।“ 📕 तिरमिज़ी Source: islamshantihai.com