Browsing category

हिंदी हदिस

hadees in hindi, islamic status in hindi, islamic status for whatsapp in hindi, islamic hadees in hindi, hadees e nabvi in hindi, hadees sharif in hindi, hadees ki baatein in hindi, islamic hadees in hindi with images, hadis in hindi, islamic status hindi, small hadees sharif in hindi, nabi ki hadees hindi, islamic whatsapp status in hindi, islamic quotes in hindi

Bulandi par chadte waqt Allahu Akbar kaho aur utarte waqt SubhanAllah

۞ Bismillah-Hirrahman-Nirrahim ۞ ۞ Hadees: Jabir bin Abdullah (RaziAllahu Anhu) se riwayat hai ki ❝ Jab hum (kisi Bulandi par) chadhte tou “Allahu Akbar“ kahte aur jab (neeche ki taraf) utarte to “SubhanAllah“ kahte.❞ 📕 Sahih Bukhari, 2993 ۞ हदीस: जाबिर बिन अब्दुल्लाह (रदी अल्लाहु अन्हु) से रिवायत है की ❝ जब हम (किसी बुलंदी पर) […]

Jo Jaanbujh kar Farz Namaz Chorh de wo Allah ki Panaah se Nikal gaya

۞ Bismillah-Hirrahman-Nirrahim ۞ ۞ Hadees: Abu Darda (RaziAllahu Anhu) se riwayat hai ki Allah ke Rasool (Sallallahu Alaihi Wasallam) ne mujhe waseeyat farmayee ki: ❝ Allah ke saath kisi ko Sharik na karna chahe Tumhare tukde tukde kardiye jaye ya tumhe Aag mein jala diya jaye aur Farz Namaz ko jaan bujh kar kabhi mat […]

Maut ke Waqt Kalma Tayyaba padhne ki Ahmiyat aur Fazilat

۞ Bismillah-Hirrahman-Nirrahim ۞ ✦ Kalma Tayyaba ki Ahmiyat aur Fazilat ✦ ۞ Hadees: Muadh bin Jabal (R.A.) se riwayat hai ki RasoolAllah (ﷺ) ne farmaya: ❝ Jis Nafs ko bhi is haal me Mout aaye ki wo is baat ki gawahi deta ho ki Allah ke siwa koi mabud nahi aur main (Muhammad Sallallahu Alaihi Wasallam) […]

दुआ इबादत है – तो इबादत के उसूल – हदीस की रौशनी में

♥ मह्फुम ऐ हदीस: हजरत अब्दुल्लाह इब्न अब्बास (रज़ि0) का बयान है कि एक दिन मैं अल्लाह के अन्तिम रसूल मुहम्मद (सलाल्लाहो अलैहि वसल्लम) के पीछे सवारी पर बैठा था कि आपने फऱमायाः ऐ बेटे! मैं तुम्हें कुछ बातें सिखाता हूं: अल्लाह को याद रख, अल्लाह तेरी रक्षा करेगा। अल्लाह को याद रख अल्लाह को […]

तलाक, हलाला और खुला की हकीकत (Talaq, Halala aur Khula Ki Hakikat)

• तलाक की हकीकत: यूं तो तलाक़ कोई अच्छी चीज़ नहीं है और सभी लोग इसको ना पसंद करते हैं इस्लाम में भी यह एक बुरी बात समझी जाती है लेकिन इसका मतलब यह हरगिज़ नहीं कि तलाक़ का हक ही इंसानों से छीन लिया जाए, पति पत्नी में अगर किसी तरह भी निबाह नहीं […]

नज़र का फ़ित्ना – अपनी नज़रे नीची रखे और अपनी शर्मगाहो की हिफ़ाज़त करें

नज़र एक ऐसा फ़ित्ना हैं जिस पर कोई रोक नही जब तक कोई इन्सान खुद अपनी नज़र को बुराई से न फ़ेर ले। अमूमन नज़र के फ़ित्ने से आज का इन्सान महफ़ूज़ नही क्योकि टीवी, अखबार, मिडिया के ज़रीये जिस तरह इन्सान के जज़्बात को जिस तरह भड़काने का मौका दिया जा रहा हैं उससे […]