बालों में नक़्ली बाल जोड़ने की मुमानअ़्त।

पोस्ट 30 :
बालों में नक़्ली बाल जोड़ने की मुमानअ़्त।

आ़ईशा रज़िअल्लाहु अ़न्हा फ़रमाती हैं:

❝ एक अन्सा़री औ़रत ने अपनी बेटी का निकाह किया। (किसी मर्ज़ की वज़ह से) उसके बाल झड़ गए तो वो अल्लाह के रसूल ﷺ के पास आई और आप से ये बात बयान की और कहा कि उनके शोहर ने मुझसे कहा कि मैं उसके बालों में (और बाल) जोड़ दूं।

इस पर अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: नहीं, क्यूंकि (बाल) जोड़ने वालियों पर लानत की गई है 

 📕 बुख़ारी: अऩ्निकाह 5205,
📕 मुस्लिम: अल्लिबास वज़्ज़िना 3964

————-J,Salafy————
इल्म हासिल करना हर एक मुसलमान मर्द-और-औरत पर फर्ज़ हैं
(सुनन्ऩ इब्ने माजा ज़िल्द 1, हदीस 224)

Series : ख़्वातीन ए इस्लाम

J.Salafyबुख़ारीमुस्लिमसुनन इब्ने माजाहदीस की बातें हिंदी में
Comments (1)
Add Comment
  • Abbas

    Hame namaj padana hai


Recent Posts