Khurooj e Dajjal (Arrival of the Antichrist)

Content Dajjal ka khurooz Qayamat ki 10 badi nishaniyon me se hoga Maseeh Dajjal tamaam Dajjalon aur kazabon ka sardar hoga Dajjal badey Ghusse se khurooj karega Dajjal ki Shakal o Soorat Kya Dajjal Aadmi hoga? Kya Dajjal Zinda hai? Kya Nabi Kareem (ﷺ) ne dajjal ko dekha tha? Dajjal ki Shobde Baazian Dajjal Duniya […]

14 जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). ग़ज़व-ए-उहुद, (2). हराम लुकमे का गले से नीचे न उतरना, (3). क़ज़ा नमाजों की अदायगी, (4). इशा के बाद जल्दी सोने की सुन्नत, (5). सबसे अच्छा मुसलमान कौन है ?, (6). ईमान को झुटलाने का गुनाह, (7). आखिरत की कामयाबी दुनिया से बेहतर है, (8). ईमान की बरकत से जहन्नम से छुटकारा, (9). बीमारियों […]

13 जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). रमज़ान की फरज़ियत और ईद की खुशी, (2). काइनात की सबसे बड़ी मशीनरी, (3). हज़रत मुहम्मद (ﷺ) को आखरी नबी मानना, (4). इस्मिद सुरमा लगाना, (5). इज्जत की हिफाज़त करना, (6). मोमिन को नाहक़ क़त्ल करने की सज़ा, (7). दुनिया मोमिनों के लिये कैदखाना है, (8). बुरे लोगों का अंजाम, (9). कै (उल्टी) के […]

धोकेबाजी से सावधान रहें।

धोकेबाजी से सावधान रहें। “झूठे वादे और चमक-धमक वाले उपहारों के द्वारा अनुचित कर्म करवाने का आह्वान करने वाले, दोस्त नहीं धोखेबाज हैं।” नकली संबंधों में अपनी गरिमा और जीवन का बलिदान न करें। Ref: Wisdom Media School

धर्म आत्मज्ञान के लिए है तथा आस्था, कर्म और संस्कृति का संगम जब होता है

धर्म आत्मज्ञान के लिए है। “आस्था, कर्म और संस्कृति का संगम जब होता है तब धर्म प्रबुद्ध होता है। इन में से एक की भी कमी धर्म की आत्मा को नष्ट कर देती है।”

12 जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). कैदियों के साथ हुस्ने सुलूक, (2). जमात के मुतअल्लिक़ ख़बर देना, (3). कर्ज़ अदा करना, (4). खाने में बरकत, (5). मुसाफा मगफिरत का जरिया है, (6). गुमराही इख्तियार करने का गुनाह, (7). दुनिया चाहने वालों के लिये नुकसान, (8). कब्र के बारे में, (9). ककड़ी के फवाइद, (10). अपने मातहत लोगो का ख्याल करो।

11 जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). गजवा-ऐ-बद्र, (2). हवा में निज़ामे कुदरत, (3). अपने घर वालों को नमाज़ का हुक्म देना, (4). खुश्बू को रद्द नहीं करना चाहिये, (5). सलाम करने पर नेकियाँ, (6). शराब, मुरदार और खिन्ज़ीर हराम है, (7). दुनिया की चीज़ों में गौर व फिक्र करना, (8). अहले जन्नत की नेअमतें, (9). आबे जमजम के फवाइद, (10). […]

Gunah ko Muaf karne wale 25 Aamal

Janiye wo 25 Aise Aamal jiske karne se Allah se Gunah ki Maafi milti hai by Adv Faiz Syed. People also Search as: Gunaho ko dho dalne wale aamaal, Gunahon ko mita denewale amal, Good deeds which wipe out sins, Nek aamaal jin se gunah maaf hojate hai. Wo amal jin ke karne se gunah […]

Insan ke Marne ke baad uske sath kya hota hai ?

Aam taur pe yeh sawal humesha insani zehniyat ko zinjod dete hai ke Marne ke baad humare sath kya hoga? dharm iske baare me kya kehta hai? Islam iske baare me kya kehta hai? Tou aayiye is mukhtasar se bayan me jante hai ke Marne ke baad insan ke sath kya hota hai. People also […]

10 जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मदीना की चरागाह पर हमला, (2). काफिर का मरऊब हो जाना, (3). दाढ़ी रखने की अहमियत, (4). मगफिरत की दुआ, (5). अच्छे और बुरे अख़्लाक़ की मिसाल, (6). गैरुल्लाह को माबूद बनाने का गुनाह, (7). दुनिया की जाहिरी हालत धोका है, (8). ज़ियादा अमल की तमन्ना, (9). बीमारियों से बचने की तदबीर, (10). सुबह […]

9 जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). औस और खजरज में मुहब्बत और यहूद की दुश्मनी, (2). जमीन का अजीब फर्श, (3). अच्छी तरह मुकम्मल वुजू कर के नमाज़ के लिये मस्जिद जाना, (4). दुआ के कलिमात को तीन बार कहना, (5). शर्म व हया ईमान का जुज़ है, (6). गुनाह से न रोकने का वबाल, (7). सब से बड़ा तक़वे […]

8 जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मदीना के कबाइल से हुजूर (ﷺ) का मुआहदा, (2). ख़ुशहाली आम होने की खबर देना, (3). गुस्ल में पूरे बदन पर पानी बहाना, (4). बच्चों को यह दुआ पढ़ कर दम करें, (5). पसंद के मुताबिक हदिया देना, (6). यतीमों का माल खाने का गुनाह , (7). दुनिया से बेहतर आख़िरत का घर है, […]

इंशाअल्लाह का मतलब हिंदी में

इन्शा’अल्लाह (InshaAllah)  जब कोई शख्स भविष्य में कोई कार्य करना चाहता है, या उसका इरादा करता है या भविष्य में कुछ होने की आशंका व्यक्त करता है या कोई वादा करता है या कोई शपथ लेता है तो इस शब्द का उपयोग करता है. ऐसा करने का हुक्म कुरान में है. इंशाल्लाह का मतलब होता […]

शादी के बाद दूसरी औरतें खूबसूरत क्यों लगती है ?

एक शख्स एक तजुर्बा कार आलिमे दीन से अपना मसला दरयाफ़्त करते हुए कहने लगा : शुरू शुरू में जब मेरी बीवी मुझे पसंद आई थी तो उस वक्त वह मेरी निगाह में ऐसी थी जिसे अल्लाह तआला ने इस दुनिया के अंदर उस जैसा किसी को बनाया ही नहीं। और जब मैंने उससे शादी […]