Recent Post

8. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: हज़रत खब्बाब बिन अरत (र.अ) हुजूर (ﷺ) का मोजिज़ा: फलों में बरकतएक फर्ज के बारे में: तकबीरे ऊला से नमाज़ पढ़ना एक सुन्नत के बारे में: छींक की दुआ एक अहेम अमल की फजीलत: खुशूअ वाली नमाज माफी का जरिया एक…
Read More...

6. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: हजरत जमीला बिन्ते सअद बिन रबी (र.अ.) हुजूर का मुअजिजा: हुजूर (ﷺ) की दुआ का असर एक फर्ज के बारे में: इल्म हासिल करना जरूरी है एक सुन्नत के बारे में: हर तरह की परेशानी से छुटकारा एक अहेम अमल की फजीलत: शहादत की…
Read More...

5. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: हजरत खौला बिन्ते सअलबा (र.अ.)अल्लाह की कुदरत: बदन के जोड़ एक फर्ज के बारे में: नमाज़ छोड़ने पर वईद एक सुन्नत के बारे में: बैतुलखला जाने का तरीका एक अहेम अमल की फजीलत: रास्ते से तकलीफ देह चीज़ को हटाना एक…
Read More...

4. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: हज़रत आयशा (र.अ) का इल्मी मर्तबा हुजूर का मुअजिजा: आंधी आने की खबर देना एक फर्ज के बारे में: हज किन लोगों पर फ़र्ज़ है एक सुन्नत के बारे में: मुशकिल कामों की आसानी की दुआ एक अहेम अमल की फजीलत: सूर-ए-इख्लास…
Read More...

3. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: उम्मुल मोमिनीन हजरत आयशा (र.अ)अल्लाह की कुदरत: एक ही पानी से फल और फूल की पैदाइश एक फर्ज के बारे में: पानी न मिलने पर तयम्मुम करना एक सुन्नत के बारे में: इस्तिंजा के वक्त कपड़ा हटाने का तरीका एक अहेम अमल की…
Read More...

2. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: हज़रत खदीजा (र.अ) की फजीलत व खिदमात एक फर्ज के बारे में: नमाज़ों का सही होना एक सुन्नत के बारे में: मुसीबत के वक्त की दुआ एक अहेम अमल की फजीलत: इल्म हासिल करने के लिये सफर करना एक गुनाह के बारे में: अहेद और…
Read More...

1. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: उम्मुल मोमिनीन हज़रत खदीजा (र.अ)अल्लाह की कुदरत: समुन्दर का उतरना चढ़ना एक फर्ज के बारे में: अल्लाह तआला पूरी कायनात का रब है एक सुन्नत के बारे में: माफ़ करना एक अहेम अमल की फजीलत: शव्वाल में छ: (६) रोजे…
Read More...

Shab e Barat ki Ibadat : Qurano Sunnat ki Roshmi me

Shaban Maheene me 15th Shab ko "Shab e Barat" ke naam se yaad kiya jata hai. kuch log is Raat ke liye Shab-e-Qadr jaisi fazilate bayan karte hain. yeh Aqeeda rakha jata hai ke is Raat poore Saal me hone wale Waqkhyat ka faisla kiya jata…
Read More...

Corona Virus ke darr se Ghar ki Chat pe Azan dena kaisa?

Related Corona Virusकोरोना वायरस: संक्रामक रोग एवं इस्लाम कोरोना वाइरस से बचने की दुआ कोरोना वाइरस के डर से घरों में नमाज़ अदा करना कैसा है ? कोरोना  वायरस ने इंसानो को क्या सिखाया ? कोरोना वायरस - आज़माइश या अज़ाब ?…
Read More...

Kunde ke Niyaz ki Haqeeqat (Rajab ke Kundey)

कुंडे के नियाज़ की हकीकत

22 Rajjab ko Barre Sageer (Hindustan, Pakistan aur Bangladesh) me ek tyohaar manaya jaata hai, Jisey hum "Kunde ki Niyaj" ya "Kunde ki Eid" ke naam se jante hai. to beharhaal aayiye iski sharayi hakikat kya hai jan'ne ki koshish karte hai.…
Read More...

सताए हुए की आह से बचो, क्यूंकि उसके और अल्लाह के मध्य कोई रुकावट नहीं होती। #Hadith #DailyHadith…

पैग़म्बर मुहम्मद (ﷺ) ने फ़रमाया: ❝ सताए हुए की आह से बचो, क्यूंकि उसके और अल्लाह के मध्य कोई रुकावट नहीं होती। ❞ 📕 बुख़ारी | #IslamicQuotes by Quotes.Ummat-e-Nabi.com
Read More...

अल्लाह के साथ शिर्क न करना अगरचे तुम टुकड़े टुकड़े कर दिए जाओ और जला दिए जाओ। [हदीस: इब्ने माजाह 4034]…

۞ हदीस : अल्लाह के पैगम्बर (ﷺ) ने फ़रमाया : “अल्लाह के साथ शिर्क न करना अगरचे तुम टुकड़े टुकड़े कर दिए जाओ और जला दिए जाओ।” 📕 सुनन इब्ने माजाह; 4034 – सहीह
Read More...

Adab e Mubashrat Download Hindi Pdf [मुबाशरत / हमबिस्तरी के आदाब]

हमबिस्तरी का तरीका और गलतफहमियों के बारे में मुकम्मल जानकारी डाउनलोड करे हिंदी में पीडीऍफ़Adaab e mubashrat hindi pdf, Adaab e mubashrat in hindi pdf free download, adab e mubashrat book hindi pdf, adab e mubashrat book in hindi pdf,…
Read More...

मियाँ बीवी के हुकूक हिंदी में PDF | Miya Biwi ke Huqooq | Download PDF

इस्लाम में मियां बीवी के एक दूसरे के लिए क्या अहकामात है, इसके बारे में तफ्सीली जानकारी के लिए फ्री में इस पीडीऍफ़ का मुताला करे। जज़कल्लाहु खैरन कसीरा। DownloadMiya biwi ke huqooq bataye, miya biwi ke huqooq hindi me, shohar ke zimme…
Read More...

Baat me Narmi aur Bepardagi | Post 13 | Islam aur Humara Ghar

बात में नरमी और बेपर्दगी » पोस्ट 1⃣3⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 1⃣3⃣ "इस्लाम और हमारा घर" बात में नरमी और बेपर्दगी अल्लाह तआ़ला ने फ़रमाया:"ऐ नबी की बीवियों! तुम आम औरतों की तरह नहीं हो, अगर तुम तक़्वा इख़्तियार करना चाहती हो तो बातों में लचक ना पैदा करो वरना जिसके दिल में बीमारी है वो…
Read More...

Kuffaro ki Mushabiyat me Shirqat | Post 12 | Islam aur Humara Ghar

कुफ्फारों की मुशाबियत में शिरकत » पोस्ट 1⃣2⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 1⃣2⃣ "इस्लाम और हमारा घर" कुफ्फारों की मुशाबियत में शिरकत अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: "जो किसी क़ौम से मुशाबहत इख़्तियार करे वो उन्हीं में से है।"( अबूदाऊद ) रावी: इब्ने उमर (मोजमुल वसीत: हुज़ैफा रज़िअल्लाहु अ़न्हु) (…
Read More...

Baaz Halaaq karne waali cheeze | Post 11 | Islam aur Humara Ghar

बाज़ हलाक करने वाली चीज़ें » पोस्ट 1⃣1⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 1⃣1⃣ "इस्लाम और हमारा घर" बाज़ हलाक करने वाली चीज़ें इब्ने अब्बास रज़िअल्लाहु अ़न्हु फ़रमाते हैं: "अल्लाह के रसूल ﷺ ने उन मर्दो पर लानत भेजी है जो औरतों की मुशाबहत करते हैं और उन औरतों पर लानत की है जो मर्दो की मुशाबहत करती हैं।"…
Read More...

Gaane aur Mausiqi ki Mumaniat | Post 10 | Islam aur Humara Ghar

गाने और मौसीकी मुमानियत » पोस्ट 1⃣0⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 1⃣0⃣ "इस्लाम और हमारा घर" गाने और मौसीकी मुमानियत इमरान बिन हुसैन रज़िअल्लाहु अ़न्हु फ़रमाते हैं: अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया:"इस उम्मत में ज़मीन का धंसना, लोगों के चेहरों का बदलना और पत्थरों की बारिश होने का अ़ज़ाब होगा ।…
Read More...

Kutte ko Ghar se Nikalna | Post 9 | Islam aur Humara Ghar

कुत्ते को घर से निकालना » पोस्ट 9⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 9⃣ "इस्लाम और हमारा घर" कुत्ते को घर से निकालना अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: "फ़रिश्ते ऐसे घर में दाखिल नहीं होते जिसमें कुत्ता हो और ना ऐसे घर में जाते हैं जिसमें तस्वीर हो।"( अहमद, मुत्तफकुन अलैह, नसाई, तिर्मिज़ी, इब्ने माजा…
Read More...

Bekaar aur Befayda cheezo ko Ghar se bahar Nikalna | Post 8 | Islam aur Humara Ghar

मुन्कर और बे फायदा चीज़ों का घर से निकालना » पोस्ट 8⃣ » इस्लाम और हमारा घर

पोस्ट 8⃣ "इस्लाम और हमारा घर" मुन्कर और बे फायदा चीज़ों का घर से निकालना अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: "जिसने किसी चीज़ को लटकाया तो उसके सुपुर्द कर दिया गया " ( तिर्मिज़ी ) रावी: अब्दुल्लाह बिन उकैम अबी माबद अल जोहनी रज़िअल्लाहु…
Read More...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More