"the best of peoples, evolved for mankind" (Al-Quran 3:110)
Browsing Tag

Ramzan

Qazi (Judge) Kabhi Gusse Ki Haalat Me Koi Faisla Na Karey ….

♥ Mahfum-e-Hadees: Abdur Rahman-bin-Abi Bakrah (Rahmatullah Alaihe) Se Riwayat Hai: “Mere Waalid Ne Ubaidullah bin Abi Bakrah (Radi Allahu Anhu) Jo Ki Qazi (Judge) They Unko Likha: "Gusse Ki Haalat Me Do Insano Ke beech Me Faisla Na Karna,…

Apne Musalman Bhai Se 3 Din Se Zyada Naraz Na Rahey ,…

♥ Mahfum-e-Hadees: Abu Hurairah (Razi'Allahu Anhu) Se Riwayat Hai Ki, Rasool'Allah (Sallallahu Alalhi Wasallam) Ne Farmaya, "Kisi Musalman Ke Liye Ye Jayez Nahi Ki Apne Bhai Se 3 Din Se Zyada (Baat Chit Karna) Chhor De (Narazgi Ki Wazah…

ईद का चाँद और हमारे हालात …

*शव्वाल रमजान के बाद अाने वाला महिना है। - इसकी पहली रात वह हाेती है, जिसमें ईद का चाँद दिखाई देता है । इसका पहला दिन ईदुल्फित्र हाेता है। शव्वाल कि पहली रात जिसे अााम तौर पर चाँद रात कहाँ जाता है। - यह रात रमजान के खतम हाेते ही शुरु हाेती…

Ghar ke Afraad ki Taraf se “Sadqa-e-Fitr”

Sadqa fitr Se Murad Ramdan Ke Mahine Ke Pura Hone Par Namaze Eid Se Pahle Har Musalman Shaks Ki Taraf Se Fitra Ada Karna Hai ♫ Sadqaa-e-Fitr Ke Audio Bayan Ke Liye is Link Par Jaye ♥ Mahfum-e-Hadees: Hazrat Ibne Umar (Razi'Allahu Anhu) Se…

शबे क़द्र और इस की रात का महत्वः …. (हिंदी में)

रमज़ान महीने में एक रात ऐसी भी आती है, जो हज़ार महीने की रात से बेहतर है। जिसे शबे क़द्र कहा जाता है। शबे क़द्र का अर्थ होता हैः "सर्वश्रेष्ट रात", ऊंचे स्थान वाली रात”, लोगों के नसीब लिखी जानी वाली रात। - शबे क़द्र बहुत ही महत्वपूर्ण रात…

ज़कात क्या है ? और किसको देनी चाहिये ? …

रमज़ान के अशरे में सब मुसलमान अपनी साल भर की कमाई की ज़कात निकालते है। तो ज़कात क्या है? *कुरआन मजीद में अल्लाह ने फ़र्माया है : "ज़कात तुम्हारी कमाई में गरीबों और मिस्कीनों का हक है।" *ज़कात कितनी निकालनी चाहिये इसके लिए आप इस ऑडियो को…

Tum Par Ramzan Ka Mubarak Mahina Aaya Hai ….

Allah Ta'ala Quran-e-Kareem Me Irshad Farmata Hai - ♥ Al-Quraan: "Maahe Ramzan Wo Hai Jismey Quran Utara Gaya, Jo Logon Ko Hidayat Karne Wala Hai Aur Jismey Hidayat Ki Aur Haqq-Wa-Batil Ki Tameez Ki Nishaniyan Hain. Tum Me Se Jo Shakhs Is…