नज़र का फ़ित्ना ….

नज़र एक ऐसा फ़ित्ना हैं जिस पर कोई रोक नही जब तक कोई इन्सान खुद अपनी नज़र को बुराई से न फ़ेर ले| अमूमन नज़र के फ़ित्ने से ..... ... Read More ›
24-03-2014
Views: 4588