"the best of peoples, evolved for mankind" (Al-Quran 3:110)

⭐ Qurani Dua-13

♥ Al-Quraan: Bismillah-Hirrahman-Nirrahim !!!
“Rabbana-ghfir lana dhunuubana wa israfana
fi amrina wa thabbit aqdamana
wansurna ‘alal qawmil kafireen”

– [Surah(3) Aale Imran; Aayat:147]

# Tarjuma:
उन्होंने कुछ नहीं कहा सिवाय इसके कि
“ऐ हमारे रब! तू हमारे गुनाहों को और हमारे अपने मामले में
जो ज़्यादती हमसे हो गई हो, उसे क्षमा कर दे और हमारे क़दम जमाए रख,
और इनकार करनेवाले लोगों के मुक़ाबले में हमारी सहायता कर।”

– (अल कुरान 3:53)

अमीन !! अल्लाहुम्मा अमीन !!!

You might also like

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
wpDiscuz