"the best of peoples, evolved for mankind" (Al-Quran 3:110)

M. N. Roy Speak About Islam

» NonMuslim View About Islam: एम॰ एन॰ रॉय संस्थापक-कम्युनिस्ट पार्टी, मैक्सिको कम्युनिस्ट पार्टी, भारत ‘‘इस्लाम के एकेश्वरवाद के प्रति अरब के बद्दुओं के दृढ़ विश्वास ने न केवल क़बीलों के बुतों को ध्वस्त कर दिया बल्कि वे इतिहास में एक ऐसी अजेय…
Read More...

पेड़ पौंधो में जीवन होने के प्रमाण – १४०० साल से केहता है कुरान

ईश्वर(अल्लाह) द्वारा रची गई इस अद्भुत सृष्टि मे एक अद्भुत रचना है, वनस्पति जगत .... - पेड़ पौधों को हम अपनी आंखो से जीवित प्राणियों की तरह छोटे से बड़ा होते, बढ़ते बनते देखते हैं .... - पेड़ों को खुद हम अपने हाथ से भोजन खिलाते और पानी…
Read More...

क़ुरआन में माता-पिता और सन्तान से संबंधित शिक्षाएं

♥ क़ुरआन (17:23,24) तुम्हारे रब ने फै़सला कर दिया है कि तुम लोग किसी की बन्दगी न करो मगर सिर्फ़ उस (यानी अल्लाह) की, और माता-पिता के साथ अच्छे से अच्छा व्यवहार करो। अगर उनमें से कोई एक या दोनों तुम्हारे सामने बुढ़ापे को पहुंच जाएं तो उन्हें…
Read More...

7 साल की उम्र में इस बच्ची ने कर लिया पूरा कुरान हिफ्ज़

इंग्लैंड। लुटान की रहने वाली मारिया ने सिर्फ सात साल की छोटी सी उम्र में पुरे कुरान को हिफ्ज़ कर लिया है| 5 साल की उम्र में सुरह यासीन को याद करने के बाद दो सालो में मारिया ने पुरे कुरान को हिफ्ज़ कर लिया है | *मारिया के हिफ्ज़ में उनकी वालिदा…
Read More...

अज़ान की आवाज़ से ऊपर आई डूबी हुई लाश ….

कभी कभी "अल्लाह" अपनी "कुदरत" को खोल-खोल कर दिखा देता है ताकि इंसान उससे "इब्रत" हासिल कर सके, और सही राह पर आ जाये"। "इसकी सबसे ताज़ा और ज़िंदा मिसाल बुधवार 3, फरवरी 2016 की है...। हुआ यूँ कि "मुरुंड" जोकि मुम्बई के पास एक "समुंद्री बीच" है,…
Read More...

Kya Quran Gumaarahi Lata Hai ?

Aaj Humare Quraan Se Doori Ki Sabse Ghatiya Aur Intehahyi Baqwas Vajah Ye Hai Ke – "Quraan Padhey Tou Gumraah Ho Jatey ,.." Subhan’Allah !!! *Jo Quraan Insaniyat Ke Liye Kitab-e-Hidayat Hai Agar Wo Musalmano Ko Hi Gumrah Kar Dey Tou Kya…
Read More...

Kya Quraan Mushkil Kitab Hai ?

» JAWAAB: Log Allah Ki Hidayat Se Door Rahe Isliye Mafadparsto ne Shariyate Islamiya me Beshumar Tawhaam Gadhey , in me se Ek Ye Bhi hai Ke Quraan Bohot Mushkil Kitab hai, Lihaja Aam Log Isey Samjh nahi Saktey ,.. Tou Aayiye Dekhte Hai Ke…
Read More...