Momin tou Aise Hotey Hai, Jab Allah ka Zikr Aata hai Tou Unke Dil Hil Jaate Hai

♥ Bismillah-Hirrahman-Nirrahim ♥

“Momin Tou Aise Hotey Hai, Jab Allah Ka Zikr Aata Hai Tou Unke Dil Hil Jaate Hai, Aur Jab Allah Ki Aayat Unke Saamne Padkar Sunaayi Jaati Hai Tou Wo Aayat Unke Imaan Ko aur Zyaada Kar Deti Hai, Aur Wo Allah Par Poora Bharosa Karte Hai. Jo Namaz Ki Paabandi Karte Hai, Aur Jo Kuch Hamne(Allah) Unko Diya Hai Uss Me Se Kharch Karte Hai, Pus Yeh Sacche Momin Hai Unke Liye Allah Ke Yahan Bade Darjaat Hai aur Magfirat Hai Aur Izzat Ki Rozi Hai”.

– (Al-Quran: Sureh Al-Anfal: Aayat:2-4)


✦ Mafhoom-e-Hadith: Abu Hurairah (RaziAllahu Anhu) se rivayat hai ki, RasoollAllah (ﷺ) ne farmaya:

“Saat tarah ke log hain jinhe Allah Subhanahu Ta’ala Apne (Arsh ke) Saaye mein Panaah dega Unmey se ek wo bhi hai jisne tanhaii mein Allah Subhanahu Ta’ala ko yaad kiya to uski Aankhon se Aansoo jari ho gaye”

– (Sahih Bukhari, Vol 7, 6479)


♥ बिस्मिल्लाह अर्रहमान निर्रहीम ♥

“ईमान वाले तो वो ही हैं जब अल्लाह सुबहानहु का नाम आए तो उनके दिल डर जाए और जब उसकी आयतें उन पर पढ़ी जाए तो उनका ईमान ज़ियादा हो जाता है और वो अपने रब पर भरोसा रखते हैं.वो जो नमाज़ क़ायम करते हैं और जो हमने उन्हे रिज़क़ दिया है उसमें से खर्च करते हैं.  यही सच्चे ईमान वाले हैं और उनके रब के यहाँ उनके लिए दर्जे हैं और बखशीश है और ईज्ज़त का रिज्क है.”

– (अल क़ुरान, सुराह अनफाल (8), आयत  2-4)


✦ मफहूम-ऐ-हदीस: अबू हुरैरा (रदी अल्लाहू अन्हु) से रिवायत है की, रसूलअल्लाह (ﷺ) ने फरमाया:

“सात तरह के लोग हैं जिन्हे अल्लाह सुबहानहु अपने (अर्श के) साए में पनाह देगा उनमें से एक वो भी है जिसने तन्हाई में अल्लाह सुबहानहु को याद किया तो उसकी आँखों से आँसू जारी हो गये”

– (सही बुखारी, जिल्द 7, 6479)

You might also like

Leave a Reply

avatar